Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Monday / May 16.
Homeहेल्थकम उम्र में हार्ट अटैक का साया, जानिए उपाय से लेकर बचाव का रास्ता

कम उम्र में हार्ट अटैक का साया, जानिए उपाय से लेकर बचाव का रास्ता

Heart Attack
Share Now

सिर्फ 40 साल की उम्र में गुरूवार को एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला की मौत हो गई. कम उम्र में किसी उभरते हुए सितारे का यूं अचानक हार्ट अटैक (Heart Attack) की वजह से चले जाना एक सावल भी खड़ा करता है कि आखिर कम उम्र में लोगों को हार्ट अटैक आ रहे हैं और जान चली जाती है. अखिर ये हार्ट अटैक इतना घातक क्यों हैं. चलिए आज हम आपको विस्तार से जानकारी देते हैं.

कई सालों से देखा जा रहा है कि युवाओं में हार्ट अटैक की समस्या काफी बढ़ गई है. सिद्धार्थ की मौत के बाद कम उम्र के लोगों में हार्ट अटैक की वजहों पर चर्चा भी होने लगी है. दरअसल हार्ट अटैक एक ऐसी बीमारी है जो उम्र के आधार पर नहीं, बल्कि आपकी जीवन शैली पर निर्भर करती है.

साइंस की भाषा में कहे तो कार्डिएक अरेस्ट के बाद दिल का दौरा पड़ने को मेडिकल प्रक्रिया को वेंट्रीक्युलर फिब्रिलेशन कहते हैं. ऐसे हार्ट अटैक उन लोगों में आम हो जाते हैं जिनकी लाइफस्टायल अनियमित हो जाती है. खास कर स्ट्रेस से भरी लाइफ जीने, हाई प्रोफाइल सोशल लाइफ, ड्रग्स और स्टेरॉयड लेने वालों में हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है. कभी कभी ज्यादा वर्कआउट से नाकारात्मक प्रभाव भी पड़ता है. आज की युवा पीढ़ी वर्कआउट पर ज्यादा ध्यान देती है ना कि अपने शरीर की क्षमता पर. वर्कआउट के साथ साथ लोगों को अपना रेगूलर चेकअप भी कराना चाहिए.

ये भी पढ़े: यूपी में रहस्यमयी वायरल का कहर, एहतियात बरतने के साथ हो जाए सावधान

मानसिक स्वास्थ्य का जरूर रखें ध्यान 

हार्ट अटैक का आना कभी -कभी डिसऑर्डर जीन्स के चलते भी आते हैं. इसके लिए लोगों को 30 की उम्र के बाद हेल्थ चेकअप कराना चाहिए. साथ ही स्मोकिंग और ड्रग्स का सेवन बिल्कूल बंद कर देना चाहिए और मेडिटेशन के साथ साथ योगा से स्ट्रेस रिलीज करने पर फोकस करना चाहिए.

इसके अलावा लोग अपनी बॉडी पर तो कड़ी मेहनत करते रहते हैं लेकिन अपने मानसिक स्वास्थ्य का ख्याल नहीं रख पाते हैं. क्योंकि स्ट्रेस ज्यादा से ज्यादा लोगों को शराब और ड्रग्स की तरफ धकेल देता है. लोग तनाव को खत्म करने के लिए स्मोक करने लगते हैं या ड्रग्स का इस्तेमाल करने लगते हैं और इसके चलते जो हॉर्मोन्स में बदलाव होता है वो दिल के डिसऑर्डर से लिंक किया हो जाता है.

यानि सीधे तौर पर ज्यादा स्मोकिंग और शराब पीना, हाईवीपी की दिकक्त, डायवीटिज की समस्या और फीजिकल एक्टिवीटी की कमी के चलते हार्ट अटैक का खतरा रहता है.

इन बातों का रखें ध्यान 

बस थोड़ा एहतियात और सतर्कता से आप इस घातक हार्ट अटैक की समस्या छुटकारा पा सकते हैं, तो चलिए बताते हैं कि कैसे आप हार्ट अटैक के खतरे को कम कर सकते हैं.

इसके लिए आपको अपनी दिनचर्या को नियमित रखना होगा साथ ही और लो कार्ब व फैट वाला खाना खाएं, खाने में तेल वाली चीजों की सेवन कम करें. रोजाना कार्डियो एक्सरसाइज के साथ साथ वॉल्क, स्विमिंग, साइकिलिंग, रस्सी कूदना जैसी फीजिकल एक्टिवीटि कर सकते हैं. जितना आपका वजन हो उतने ग्राम प्रोटीन का सेवन करें. भरपूर नींद लेने के साथ स्ट्रेस लेना बंद करें. साथ ही समय समय पर अपनी शारीरिक जांच कराते रहें.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4
IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment