Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Monday / May 16.
Homeहेल्थजानिए, रोंगटे खड़े होना यानि Goosebumps की क्या है वजह

जानिए, रोंगटे खड़े होना यानि Goosebumps की क्या है वजह

Goosebumps
Share Now

जब भी आप कभी कोई डरावना वीडियो या अचानक से होने वाली घटना को देखते हैं या महसूस करते हैं तो आपके रोंगटे खड़े (Goosebumps) हो जाते हैं. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर ये रोंगटे क्यों खड़े हो जाते हैं. इसके पीछे की मुख्य वजह क्या है. बता दें कि इसके पीछे की मुख्य वजह शरीर विज्ञान और इससे जुड़ी भावनाएं हैं. तो चलिए आज आपको विस्तार से बताते हैं कि आखिर हमारे रोंगटे खड़े होने के पीछे की वजह क्या है. 

आपने अक्सर लोगों को कहते सुना होगा कि Goosebumps आ गए मतलब रोंगटे खड़े होना को इंग्लिश में Goosebumps कहा जाता है. हालांकि ये अद्भुत शारीरिक घटना के होने की वजह भी काफी अलग है. जब भी हमारी स्किन में छोटे-छोट रोए जो मौजूद होते हैं उनमें जब उठान होता है तो ऐसी घटना को Goosebumps या रोंगटे खड़े हो जाना कहते हैं. अब सवाल उठता है कि आखिर इस वजह के पीछे की वजह क्या है.

Goosebumps की वजह 

स्किन पर मौजूद हर एक बाल से जुड़ी छोटी-छोटी मांसपेशियों की सिकुड़न की वजह से रोंगटे खड़े हो जाते हैं. यानि आपने देखा होगा कि सिकुड़ने वाली जगह पर एक गड्ढा बनने का आकार देखा होगा जिससे आसपास का हिस्सा उभर जाता है. खासकर जब लोगों को ठंड लगती है तो ऐसा होता है. ठीक ऐसा ही जानवरों में भी होता है. रोंगटे खड़े होने पर जानवरों के मोटे-मोटे बाल फैल जाते हैं. जानवरों में जब भी रोंगटे खड़े होते हैं तो वे  हवा की थोड़ी सी मात्रा को छिपाकर रख लेते हैं जो इंसुलेशन लेयर का काम करती है उनके लिए. इसके पीछे की वजह ये है कि बाल की लेयर जितनी घनी होगी उतनी ज्यादा गर्माहट को वे बनाए रखेंगे.

विज्ञान की भाषा में कहें तो स्ट्रेस हॉर्मोन जिसे ऐड्रेनलिन कहा जाता है.  जब भी हम सब कॉनसियस होते हैं तो रोंगटे खड़े हो जाते हैं. यानि इस हॉर्मोन के रिलीज होने पर न सिर्फ स्किन की मांसपेशियों में सिकुड़न आती है बल्कि शरीर के दूसरे फंक्शन्स पर भी इसका असर होता है.

ये भी पढ़ें: जानिए Gum Bleeding को कैसे रोकें, क्या है घरेलू उपचार!

Goosebumps से खतरा!

अब आपने ये जान लिया कि रोंगटे खड़े होने की वजह क्या है. लेकिन रोंगटे खड़े होने की वजह कभी कभी खतरे की घंटी भी हो सकती है. यानि रोंगटे खड़े होने के साथ बीपी का  भी खतरा बढ़ जाता है.

इंसानों में ऐड्रेनलिन हॉर्मोन ठंड लगने पर, डर लगने पर, इमोशनल होने पर, तनाव की हालत में आने पर कभी भी रिलीज हो जाता है. जैसे आपने देखा होगा कि लोगों की आंखों से अचानक आंसू या पानी निकल जाता है. हथेली पर पसीने आ जाते हैं, हार्टबीट का तेज होना, हाथ कांपना और ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है. यहां तक रोंगटे खड़े तब हो जाते हैं जब हम कोई हॉरर मूवी देख रहे होते हैं. या फिर किसी  इमोशनल सिचुएशन में होते हैं. कभी-कभी अतीत में हो चुकी किसी पुरानी घटना को याद करते हैं तो रोंगटे खड़े हो जाते हैं.

तो अब समझ गए होंगे कि रोंगटे के खड़ें होने की वजह क्या है. अगर किसी भी स्थिति में आपके रोंगटे खड़े होते हैं तो घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह बात है और सभी के साथ होता है.

देखें ये वीडियो: 

 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

No comments

leave a comment