Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / October 5.
Homeहेल्थनींद नहीं आती है! जानिए इसके पीछे की वजह और उपाय

नींद नहीं आती है! जानिए इसके पीछे की वजह और उपाय

sleeping
Share Now

अगर आपसे कोई पूछे कि आपको क्या करना अच्छा लगता है तो कितनें कहेंगे कि हमे तो सोना(Sleeping) पसंद है. आजकल की भाग दौड़ भरी जिंदगी में कुछ पल सोने के मिल जाए तो क्या कहने. एक रिसर्च कहती है कि 90 फीसदी से ज्यादा भारतीयों को भरपूर नींद नहीं मिल पाती है और 72 फीसदी भारतीयों की नींद रात में सोने के दौरान एक से तीन बार तक टूटती है. 11 फीसदी लोगों को नींद पूरी न होने की वजह से छुट्टी तक लेनी पड़ती है. बावजूद इसके हाल ये है कि केवल 2 फीसदी लोग ही कम नींद की समस्या से परेशान होकर डॉक्टर के पास जाते हैं.

नींद से जुड़ी समस्याओं को देखा जाए तो तीन तरह की समस्या होती हैं. एक तो ये कि नींद का ना आना या फिर आने के बाद टूट जाना और वापस ही न आए और ऐसी भी की बार होता है कि रातभर टूट-टूटकर आती रहे यानि सोए भी और नहीं भी सोए. साइंस की माने तो इसे तकनीकी तौर पर ऐसी समस्याओं को इन्सोमनिया कहते हैं यानि अनिद्रा की समस्या.

ये भी पढ़े: पलकों का झपकना क्यों होता है जरूरी?

क्या हो सकते हैं खतरें

लगातार कम नींद लेना हमारे दिल के लिए खतरा है यानि हार्ट अटैक का खतरा, अस्थमा से पीड़ित मरीज में कम नींद की समस्या दौरे का कारण बन सकती है, कम नींद लेने से मिर्गी का दौरा भी पड़ने का खतरा भी बढ़ सकता है. इसके अलावा शरीर में सूजन और दर्द की समस्या हो जाती है.

अगर नींद पूरी ना हो तो स्वभाव में चिड़चिड़ापन आने लगता है, यानि व्यवहार में भी बदलाव आ जाता है. कम नींद लेने की वजह से याददाश्त पर भी असर होती मतलब भूलने की दिक्कत. इसके अलावा नींद पूरी न हो तो डायबिटीज के लक्षण पैदा हो सकते हैं और छह घंटे से कम की नींद मोटापे का कारण बन सकती है. क्योंकि एक रिसर्च यह भी कहती है कि पेट के बढ़ते आकार का संबंध अनियमित नींद से भी है. और भी कई बीमारीयां है जो पूरी नींद नहीं लेने पर हो सकती है.

कैसे पाए छुटकारा 

अगर आप इन सब परेशानियों से नहीं गुजरना चाहते हैं तो आपको भरपूर नींद लेनी होगी. लेकिन आजकल के दौर में यह पॉलिबल हो नहीं पाता है.

बिस्तर पर जाने का एक समय तय कर लें और उसे बनाए रखें, शाम और रात के समय चाय, कॉफी को पीने से बचे. टीवी-कंप्यूटर और मोबाइल पर समय बिताना कम कर दें, खासकर सोने से पहले. रोजाना नियमित रूप से एक्सरसाइज करें यानि थोड़ा कसरत करें. रात को नींद आने में दिक्कत होती है तो दोपहर में नींद लेने से बचें. सोने से पहले हल्के गर्म पानी से नहाएं. इससे रिलैक्सेशन महसूस होगा और नींद भी अच्छी आएगी.

सोने से पहले तलवों में सरसों के तेल की मालिश करें इससे नींद न आने की समस्या को भी दूर किया जा सकता है. इसके अलावा नींद नहीं आ रही है तो कोई किताब पढ़ें या गाने सुनें.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4
IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment