Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / October 20.
Homeन्यूजलखीमपुर हिंसा: मृतक किसानों के परिजनों को मिलेंगे 45-45 लाख रुपये, रिटायर जज करेंगे जांच

लखीमपुर हिंसा: मृतक किसानों के परिजनों को मिलेंगे 45-45 लाख रुपये, रिटायर जज करेंगे जांच

Lakhimpur-Kheri Violence
Share Now

Lakhimpur-Kheri Violence: रविवार को यूपी के लखीमपुर में भड़की हिंसा से बवाल मचा हुआ था। देर रात को कई बड़े नेता लखीमपुर (Lakhimpur-Kheri Violence) के लिए निकले थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। जिसमें कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव का नाम भी शामिल है। वहीं दूसरी तरफ प्रशासन लखीमपुर में किसानों के साथ लगातार सुलह का प्रयास में लगा हुआ था। उत्‍तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हिंसा के मामले में किसानों और प्रशासन के बीच सुलह की खबर है। प्रशासन और किसान नेताओं की संयुक्त वार्ता में कई अहम मांगों पर सहमति बनी। मृतक किसानों के परिजनों को 45-45 लाख रुपये मिलेंगे. सुलह में एक बात ये भी है कि हाईकोर्ट के रिटायर जज मामले की जांच करेंगे।

चार किसानों सहित आठ लोगों की हुई मौत:

आपको बता दें यूपी के लखीमपुर खीरी में रविवार देर शाम हिंसा खबर सामने आई। जिसके बाद किसानों द्वारा आरोप लगाया गया कि ”भाजपा कार्यकर्ताओं ने शांतिपूर्ण कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों पर गाड़ियां चढ़ा दी गई। जिसमें 4 किसानों की मोत हो गई जबकि अन्य कई घायल हो गए। इस बात से किसानों में रोष व्याप्त हो गया। इसके बाद किसानों ने वहां मौजूद गाड़ियों को आग लगा दी। वहीं दूसरी तरफ केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा ने कहा कि ”किसानों के बीच उपद्रवियों ने गाड़ियों पर पथराव किया। और भाजपा के कार्यकर्ताओं को डंडों-लाठियों से पीटा गया जिसमें 3 कार्यकर्ताओं की मौत हो गई।

कई बड़े नेताओं को पुलिस ने लिया हिरासत में:

इस हिंसक घटना के बाद सियासी पारा भी चढ़ गया। सोमवार को मौके पर जाने की कोशिश करने वाले सभी प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं को रोक दिया गया अथवा हिरासत में ले लिया गया। प्रियंका गांधी की पुलिस के साथ तकरार का वीडियो भी खूब वायरल हो रहा है। वहीं पूर्व सीएम अखिलेश यादव को उनके घर के बाहर से पुलिस हिरासत में लिया गया। जिसके बाद कांग्रेस-सपा के कार्यकर्ता जमकर विरोध प्रदर्शन करते दिखाई दिए।

लखीमपुर खीरी से दिल्ली तक हुआ प्रदर्शन:

एक छोटे से आठ मौतें होना कोई छोटी बात नहीं थी। इस हिंसक घटना के बारें में जानकारी मिलते ही किसान नेता राकेश टिकैत घटनास्थल पर पहुंचे। इसके बाद तमाम विपक्षी दलों के बड़े नेता भी लखीमपुर खीरी के लिए निकल पड़े। वहीं कांग्रेस के हज़ारों कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में भाजपा के मुख्यालय के बाहर जमकर प्रदर्शन किया। चंडीगढ़ में उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी की घटना के विरोध में पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिद्धू चंडीगढ़ में राजभवन के सामने धरने पर बैठ गए हैं। उनके साथ पंजाब कांग्रेस के कई विधायक भी मौजूद थे। पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया है। 

ये भी पढ़ें: लखीमपुर खीरी में बड़ा बवाल, किसानों पर चढ़ाई गाड़ी, दो की मौत और कई घायल

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment