Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / October 4.
Homeहेल्थलेमनग्रास: सेहत का नया तत्त्व

लेमनग्रास: सेहत का नया तत्त्व

Share Now

हरेक मनुष्य अपना स्वास्थ खुद लिखता है

-गौतम बुद्ध 

लेमनग्रास क्या है?

Image Source: Google

लेमनग्रास एक हर्ब है जिसका वैज्ञानिक नाम सिम्बोपोगोन (Cymbopogon) है| दरअसल इसे घास परिवार का सदस्य माना जाता है| वहीं लोग इसे भिन्न भिन्न नामो से जानते है जैसे नींबू घास, कांटेदार घास, रेशमी सिर ,कोचीन घास, मालाबार घास, तैलीय सिर, सिट्रोनेला घास या फिर बुखार घास के रूप में भी इसे लोग जानते है| ये घास प्रजाति में एशियाई, अफ्रीकी, ऑस्ट्रेलियाई और ट्रॉपिकल आइलैंड पौधे का एक जीनस है | इसे आमतौर पर खाना बनाने और चिकित्सा जड़ी बूटियों में किया जाता है, इसके खट्टे खुशबु के कारन जो बिल्कुल निंबु सा होता है | अब मन में ये भी सवाल आ सकता है की इसका नाम आखिर पड़ा कैसे ? तो इसका नाम सिम्बोपोगोन, ग्रीक शब्द से लिया गया है; कैम्बे (kymbe) अर्थात “बोट” और पोगोन (pogon) अर्थात “दाढ़ी”, जिसका मतलब ये हुआ की इसके आकार के आधार पर इसका नामकरण किया गया है|

लेमनग्रास कैसी दिखती है?

इन्हे पहचान पाना बड़ा ही आसान है और साथ ही थोड़ा मुश्किल भी | आसान क्योंकी इसकी खुशबु नींबू की तरह होती है वहीं दूसरी ओर कठिन क्योंकी ये आमतौर पर हरी प्याज के भांति दिखते है | लेमनग्रास बड़े ही आसानी से अपने हलके पिले डंठल और सुगन्धित खट्टे खुशबु से पहचाना जाता है |  बात करे लुक की तो ये हरे रंग की प्याज़ से मिलता जुलता है, जिसमे निचला भाग बल्बनुमा होता है परन्तु इसकी डंठल दिखने में तो हरे प्याज समान ही है पर थोड़े सख्त होते है | वही बात करें इस खट्टे हर्ब के स्वाद की तो नींबू के खट्टेपन और पुदीने की चमक का एक बड़ा ही अनोखा मिश्रण है|

Image Source: Google

 

यहाँ पढ़ें:कौन सा पौधा है हिंदुस्तान के जंगल के लिए सबसे विनाशक?

उपयोग/ स्वास्थ्य उपयोग?

➤ नींबू घास / लेमनग्रास ज़्यादातर सिट्रोनेला तेल (Citronella oil) बनाने में किया जाता है| और फिर इस तेल का प्रयोग साबुन , सेंट , मच्छर भागने वाले अगरबत्ती बनाने में किया जाता है|

➤ इसके साथ ही इस पौधे का इस्तेनाल औषधि/ दवाई बनाने में भी किया जाता है, जैसे पाचन तंत्र की ऐंठन, पेट दर्द, उच्च रक्तचाप(High Blood Pressure), ऐंठन (Rheumatism), दर्द, उल्टी, खांसी, दर्द जोड़ों (गठिया), बुखार, सामान्य सर्दी और थकावट के इलाज के लिए किया जाता है; साथ ही फ्लेवर ऐड करने के लिए इसे खाना बनाने में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है जैसे लेमनग्रास की पत्तियों को आमतौर पर हर्बल चाय में “नींबू” स्वाद लाने के लिए उपयोग किया जाता है। 

Health benefits

Image Source: Google

➤ लेमनग्रास चाय को उपचाय (Metabolism) बढ़ाने और वजन घटाने में सहायता करने का दावा किया जाता है। वहीं रोजाना लेमनग्रास चाय पीने से आपको अस्वस्थ पेट की चर्बी कम करने में भी मदद मिल सकती है।

➤ लेमनग्रास टि पीने से मूत्रवधक (Diuretic) प्रभावित होता है यानी इसके सेवन से हमारे किडनी को सामान्य से अधिक मूत्र छोड़ने के लिए उत्तेजित करता है| लेमनग्रास चाय पीने से अन्य पेय पदार्थों की तुलना में मूत्र उत्पादन में वृद्धि होती है| जो की हमारे सेहत के लिए बड़ा ही लाभदायक होता है|

➤ लेमनग्रास से बनाई हुई चाय की ताजगी की बात ही कुछ अनोखी होती है | यह अपनी ताजगी और आनंदमय गंध के कारण लोकप्रिय हो जाता है। इसके अलावा, लेमनग्रास के मुख्य लाभों में से एक यह है की ये आपकी नसों पर पड़ने वाला शांत प्रभाव को भी प्रभावित करता है|

Health benefit of lemongrass

Image Source: Google

लेमोंग्रस बालो के लिए भी उतना ही सेहतमंद होता है जितना की हमारे शरीर के लिए, बालों को चमकीले रखने में, डैंड्रफ को दूर रखने में भी ये मदद करता है| साथ ही बालो में नैचुरली तेल के मात्रा को संतुलित रखता है|

➤ परन्तु अगर आप प्रेगनेंट है या अपने नन्हे से जान को स्तनपान कराती है तो लेमनग्रास का सेवन न करें क्योंकी ऐसा माना जाता है कि ये मासिक धर्म प्रवाह शुरू करने में सक्षम है जिसके कारन होने वाले बच्चे की जान पर भी आ सकती है|

क्या इसे घर पर उगा सकते है?

Image Source: Google

जी हाँ,ऐसा कहा जाता है की घर पर उगाने वालो पौधों में से सबसे आसान लेमनग्रास है|

● बाज़ार से इस पौधे की कुछ डंठल को खरीद लें|

● एक कांच की जार में पानी (1 -2 इंच) दाल के उसके डंठल को रख दें|  

● इस तरह से पानी में 2-3 सप्ताह उसे रखना है, जबतक की डंठल 2 इंच लम्बा हो जाए| साथ ही ये धायण रखना है की पानी को रोज़ बदलना है|

● फिर इसे एक गमले में अच्छे से लगा कर रख दें और ध्यान रहे की मिट्टी में पानी की मात्रा कम न हो|

● लेमोंग्रस एक ऐसा पौधा है जिसे धुप काफी पसंद है तो बस अपने पौधे को धुप में रखना न भूलें|

 

यहाँ पढ़ें: मिट्टी का ख्याल रखें।

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4  

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment