Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / May 17.
Homeनेचर एंड वाइल्ड लाइफजंगल का कौन सा जीव है रात का जादूगर?

जंगल का कौन सा जीव है रात का जादूगर?

Leopard: The silent hunter
Share Now

आपने बाघ,बब्बर शेर जैसी खूंखार बिल्लियों की प्रजातियों को जंगल या प्राणी संग्रहालय में देखा होगा. लेकिन इनमें से एक बड़ी बिल्ली आपके इर्द गिर्द सालों से रह रही है जब कभी किसी के मवेशियों को यह बड़ी बिल्ली उठा ले जाती है तब पता चलता है कि यहा तेंदुआ रहता है। शिकारी बिल्ली की प्रजाति में आने वाला तेंदुआ, ऊंचे पर्वत, घने जंगल, समतल खेतों और इंसानी बस्ती के आसपास रह सकता है. तेंदुए अपना निवास क्षेत्र सुनिश्चित करने से पहले आसपास जल स्रोत अवश्य ढूंढ़ता है.

रात का जादूगर… यह एकमात्र ऐसा शिकारी है जो अपने होने का अहसास भी नही होने देता. रात को चोर की तरह दबे पाव आता हैं और शिकार करके चला जाता है. यह अद्भुत शिकारी किसी भी परिक्षेत्र में आसानी से अपना जीवन जी सकता है. इंसानी बस्ती के पास रहने के कारण तेंदुए को अपना शिकार ढूंढने में आसानी होती है. गहरी काली रात में अचानक से आकर किसी भी शिकार पर टूट पड़ता है. और बला की तेजी से ग़ायब हो जाता है. शायद इसी कारण मनुष्य की बस्तियों के पास रहने के बावजूद भी तेंदुआ किसी की नजर में नहीं आता.

तेंदुआ जो कही पर भी शिकार कर सकता है. उसकी आंखें रात में शिकार करने में सबसे बड़ी भूमिका  निभाती  है. यह बड़ी बिल्ली रात में इंसान के मुकाबले 6 गुना अच्छी तरह से देख सकती है. और उसकी गजब की फुर्ती शिकार को मार गिराने में बड़ा हथियार बन जाती है. कहते है जब तेंदुआ हमला करता है तब 5 चीजों से हमला करता है. एक मुख और चार पंजो का बखूबी इस्तेमाल करता है.

Leopard the night killer

तेंदुए अन्य बड़ी बिल्लियों से कई मायने मे आगे होते है. तेंदुए सभी बड़ी बिल्लियों में से सबसे ज्यादा सफल और चालाक होते हैं. जो किसी भी मदद के बिना पेड़ पर आसानी से चढ़ सकते है. उदाहरण के लिए शाखामृग कहलाने वाले बंदर भी तेंदुए के आसान शिकार बन जाते है. यही नहीं तेंदुए ज्यादातर समय पैड पर रहना पसंद करते है तथा अपने वजन से तीन गुना भारी शिकार तेंदुए पेड़ पर चढ़ा देते है. इसके अलावा तेंदुआ पानी में शिकार करना भी बखूबी जानता है. अमेरिकन जगुआर और इंडियन एवं आफ्रिकन लेपर्ड ही एकमात्र ऐसे शिकारी है जो. पानी,पेड़ और ज़मीन पर शिकार करने की काबिलियत रहते है.

आप तेंदुए को भूरे रंग और गोल धब्बे से पहचान सकते है. ईस काले घब्बे को जीव वैज्ञानिक भाषा में रोजेट कहा जाता है.  क्युकी वह गुलाब की तरह दिखते है. यह पेटर्न तेंदुए को छलावरण बनाने में मददगार होता है. रोजेट तेंदुए को पेड़ या घास से निकलते समय भी छलावरण बनाने में मदद करते है. तेंदुए अकेले रहना पसंद करते है. मादा तेंदुआ भी अकेले रहना पसंद करती है. बब्बर शेर की तरह तेंदुए बड़ी दहाड़ नहीं लगाते. लेकिन नर तेदुंए अपने इलाके में साधारण दहाड़ करके और अपनी गंध छोड़ के निशान लगाते हैं. जिससे घुसपैठिये न आये. मादा भी साधारण दहाड़ करके अपने साथी तेदुंए या फिर अपने बच्चों को बुलाती है.

leopard cubs and mother

जीव वैज्ञानिकों को कि माने तो दुनिया के सभी बड़ी बिल्ली के कुल में से तेदुंए सबसे अद्भुत शिकारी है. सभी बड़ी बिल्ली लुप्त हो सकती है. लेकिन तेंदुए ही ऐसी एकमात्र ऐसी बड़ी बिल्ली है जो लुप्त नही होगी. क्युकि यह बिल्ली दुनिया के सबसे कठिन से कठिन क्षेत्र में रह सकती है.

 

तो कैसी लगी आपको हमारी यह जानकारी. हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताये.

No comments

leave a comment