Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / January 16.
Homeभक्तिहनुमान नवमी के दिन इस विधि से करें बजरंगबली की पूजा, जानिए साल के आखिरी मंगलवार का अधिक महत्व क्यों है?

हनुमान नवमी के दिन इस विधि से करें बजरंगबली की पूजा, जानिए साल के आखिरी मंगलवार का अधिक महत्व क्यों है?

hanuman navami
Share Now

हनुमान नवमी के दिन हनुमान द्वादशनाम स्तुति करने से आपके सभी बिगड़े काम पूर्ण होंगे। आइए जानते है किस विधि से करें पूजा और वर्ष का आखिरी मंगलवार का क्यों है महत्व। 

हनुमान द्वादशनाम स्तुति

हनुमान द्वादशनाम स्तुति
हनुमानअंजनीसूनुर्वायुपुत्रो महाबल:।
रामेष्ट: फाल्गुनसख: पिंगाक्षोअमितविक्रम:।।
उदधिक्रमणश्चेव सीताशोकविनाशन:।
लक्ष्मणप्राणदाता च दशग्रीवस्य दर्पहा।।
एवं द्वादश नामानि कपीन्द्रस्य महात्मन:।
स्वापकाले प्रबोधे च यात्राकाले च य: पठेत्।।
तस्य सर्वभयं नास्ति रणे च विजयी भवेत्।
राजद्वारे गह्वरे च भयं नास्ति कदाचन।।

हनुमान नवमी के दिन आप हनुमान जी को प्रसन्न करें आपके सभी इच्छाएं और बिगड़े काम बजरंगबली को सही करेंगे बजरंगबाली। आज वर्ष 2021 का आखिरी मंगलवार है। पंचांग के अनुसार इस दिन विशेष संयोग भी बनता है पूजा सही विधि से करने पर हनुमान जी अपनी कृपा बरसाते है। कष्टभंजन भक्तों के कष्टों को दूर करते है और उनकी शरण में जाने से भक्तों की सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। 

वर्ष 2021 का आखिरी मंगलवार का महत्व 

हिंदू पंचांग के अनुसार इस दिन पौष मास की कृष्ण पक्ष की नवमी तिथि है। आज चंद्रमा कन्या राशि में मौजूद रहेगा और आज चित्रा नक्षत्र रहेगा। चित्रा नक्षत्र को 27 नक्षत्रों में से 14वां स्थान प्राप्त है। कहा जाता है इस नक्षत्र के स्वामी मंगल हैं। आज का दिन हनुमान भक्तों के लिए विशेष है। मंगल, शनि, राहु-केतु की शांति के लिए हनुमान जी की पूजा करने का विशेष महत्व है। आपके जीवन में सुख-समृद्धि और दुखों के निवारण के लिए बजरंगबली की पूजा अवश्य करें। 

हनुमान नवमी पर इस विधि से करें बजरंगबली की पूजा

  • आज हनुमान जी को बेसन के लड्डू का भोग अवश्य चढ़ाएं,
  • चमेली के पुष्पों की माला बजरंगबली को अर्पित करने से सारी परेशानीयां दूर होती है। 
  • हनुमान नवमी के दिन हनुमान मंदिर के शिखर पर लाल तिकोनी ध्वजा लगाने से सर्वत्र रक्षा और सर्वत्र विजय होती है। 
  • दक्षिण मुखी हनुमान मंदिर में बैठकर हनुमान बाहु अष्टक के 21 पाठ करने से सभी संकट दूर होते हैं आपके शत्रुओं का नाश होता है। 
  • हनुमान जी की प्रतिमा के दाहिने पैर के अंगूठे से सिंदूर लेकर घर के मुख्य द्वार पर स्वस्तिक बनाने से कष्टभंजन आपके परिवार की रक्षा करते है। 
  • इस प्रकार से पूजा विधि करने से आर्थिक प्रगति के द्वार खुलते हैं। 
  • हनुमान नवमी के दिन हनुमान चालीसा का 7 बार पठन करें और 108 परिक्रमा लगाएं,
  • ऐसा करने से सारी इच्छाएं पूर्ण होगी। 
  • मंगल ग्रह की शांति के लिए हनुमान जी को मीठा पान भेंट चढ़ाएं। 
  • हनुमान नवमी के दिन शनि, मंगल और राहु-केतु की शांति के लिए हनुमान जी को चमेली के तेल में सिंदूर मिलाकर चोला चढ़ाना अनिवार्य है।  
  • हनुमान नवमी के दिन सुंदरकांड का पाठ करके हनुमान जी को देसी घी के हलवे का नैवेद्य लगाने से हर तरह की सुख-समृद्धि जीवन में आती है। 
  • आज लाल मसूर की दाल काले पत्थर के शिवलिंग पर अर्पित करने से मंगल ग्रह को शांत करने में मदद मिलती है। 
  • शनि की शांति के लिए हनुमान नवमी के दिन हनुमत आराधना करनी चाहिए। 
  • इसके तहत ऊं हं हनुमते नम: की 11 माला जाप काले हकीक या रूद्राक्ष की माला से करनी चाहिए। 

देखें यह वीडियो: कष्टभंजन देव 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App 

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं। OTT India इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

No comments

leave a comment