Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / December 1.
Homeन्यूजराजस्थान के पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा का निधन, लंबे समय से चल रहे थे बीमार

राजस्थान के पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा का निधन, लंबे समय से चल रहे थे बीमार

Mahipal Maderna Passed Away
Share Now

Mahipal Maderna Passed Away: राजस्थान सरकार में पूर्व मंत्री और दिग्गज किसान नेता महिपाल मदेरणा का रविवार सुबह निधन हो गया है। महिपाल मदेरणा लंबे समय से बीमार चल रहे थे। वो पिछले कई सालों से कैंसर से पीड़ित थे। उनका 69 साल की आयु में निधन (Mahipal Maderna Passed Away) हो गया। महिपाल मदेरणा कांग्रेस के दिग्गज नेता माने जाते थे। उनके निधन की सूचना के बाद ओसियां विधानसभा में शोक की लहर छा गई है। बता दें महिपाल मदेरणा की पत्नी लीला मदेरणा जोधपुर जिला प्रमुख है वहीं उनकी बेटी दिव्या मदेरणा विधायक है। मदरेणा परिवार का राजस्थान की राजनीति में काफी दबदबा माना जाता है।

लंबे समय से चल रहे थे बीमार: 

बता दें महिपाल मदेरणा लंबे समय से कैंसर से पीड़ित थे, उन्हें 4 दिन पहले अस्पताल से छुट्टी मिली थी। रविवार सुबह उन्होंने अपने रेजिडेंस रोड स्थित निवास पर अंतिम सांस ली। उनका शव उनके पैतृक गांव चाड़ी लाया जाएगा। जहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। गौरतलब है कि भंवरी हत्याकांड के मामले में दिसम्बर 2011 से जोधपुर जेल में बंद महिपाल मदेरणा को चौथी स्टेज का कैंसर था। उन्होंने जोधपुर के एम्स अस्पताल में भी इलाज कराया। अभी उनका इलाज मुंबई के अस्पताल में चल रहा था। लेकिन रविवार को महिपाल मदेरणा कैंसर से लड़ते-लड़ते जिंदगी की जंग हार गए।

कांग्रेस में शोक की लहर:

महिपाल मदेरणा के निधन की खबर सुनते ही कांग्रेस में शोक की लहर है। जोधपुर में मदेरणा परिवार का राजनीति में काफी दबदबा माना जाता है। उनके निधन की सूचना के बाद नागौर के डीडवाना से विधायक चेतन डूडी ने ट्वीट करते हुए गहरा दुख जताया। उन्होंने लिखा ”राजस्थान के पूर्व कैबिनेट मंत्री श्री महिपाल मदेरणा जी का निधन किसान वर्ग के लिए अपूरणीय क्षति हैं| ईश्वर सें प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें एवं परिवारजनों को यह आघात सहने की शक्ति दें|”

मदेरणा परिवार का राजनीति में लंबा इतिहास:

मदेरणा परिवार का राजनीति में लंबा इतिहास है। सबसे पहले परसराम मदेरणा साल 1953 में चाड़ी गांव से सरपंच चुने गए। इसके बाद साल 1957 से 1998 तक वे लगातार विधायक रहे। उनके बाद साल 2003 में महिपाल मदेरणा पहली बार विधायक चुने गए। जब वर्ष 2008 में कांग्रेस सत्ता में आई तो महिपाल जलदाय मंत्री बने। वे करीब तीन साल तक मंत्री रहे। इसके बाद वे एएनएम भंवरी अपहरण व हत्या के मामले में फंस गए और सीबीआई ने उन्हें आरोपी बनाकर गिरफ्तार कर लिया। इससे उन्हें मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। वर्तमान में उनकी बेटी दिव्या मदेरणा राजस्थान विधानसभा की सदस्य है।

यह भी पढ़ेंः बेहद दुखद! केवल 29 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह गया ये स्टार खिलाड़ी

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment