Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / December 2.
Homeन्यूजविवादों में मनीष तिवारी की किताब, 26/11 का जिक्र कर उठाए सवाल तो बीजेपी ने घेरा

विवादों में मनीष तिवारी की किताब, 26/11 का जिक्र कर उठाए सवाल तो बीजेपी ने घेरा

Manish Tewari Book
Share Now

सलमान खुर्शीद के बाद अब पूर्व केन्द्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी की किताब(Manish Tewari Book) विवादों में है. विवाद की वजह 26/11 के दौरान भारत सरकार की ओर से की गई कार्रवाई को लेकर उठाए गए सवाल हैं. यूपीए-2 की सरकार के दौरान मुंबई के ताज होटल पर हमला हुआ था, उस वक्त भी सरकार की ओर से पाकिस्तान पर कार्रवाई न किए जाने पर सवाल उठे थे और अब एक बार फिर कांग्रेस पार्टी के ही नेता ने सवाल उठाए हैं, जिस पर बीजेपी कांग्रेस को घेर रही है.

मनीष तिवारी ने ट्वीट कर दी जानकारी

मनीष तिवारी ने अपनी किताब(Manish Tewari Book) को लेकर जानकारी साझा करते हुए ट्वीट किया है कि बीते दो दशकों में भारत ने जिन राष्ट्रीय सुरक्षा चुनौतियों का सामना किया है, उसका इस किताब में जिक्र किया गया है. किताब का कवर पेज साझा करने के बाद कई लोगों ने उन्हें बधाई दी तो कई ने सवाल भी खड़े किए हैं.

किताब में इस बात के जिक्र को लेकर उठ रहे सवाल

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मनीष तिवारी ने किताब में 26/11 का जिक्र(Mumbai Attacks) करते हुए लिखा है कि उस वक्त पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जरूरत थी. उन्होंने ये भी लिखा कि शब्दों की बजाय कार्रवाई ज्यादा कड़ी होनी चाहिए थी. उन्होंने लिखा कि हमले के बाद संयम बरतना कमजोरी की निशानी है. अगर पाकिस्तान को बेगुनाहों के नरसंहार पर कोई खेद नहीं तो ये संयम ताकत की नहीं बल्कि कमजोरी की पहचान है.

शहजाद पूनावाला ने साधा निशाना

अब इन्हीं बातों को लेकर लोगों ने सवाल खड़े करने शुरू कर दिए हैं. बीजेपी प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने ट्वीट कर लिखा है कि उस वक्त के एयर चीफ मार्शल पहले ही कह चुके हैं कि उस वक्त वायुसेना बदला लेना चाहती थी लेकिन यूपीए सरकार ने ऐसा नहीं करने दिया. उन्होंने लिखा कि कांग्रेस उस वक्त हिंदुओं को बदनाम करने और पाकिस्तान को बचाने में लगी थी. इससे पहले हाल ही में सलमान खुर्शीद की किताब सनराइज ओवर अयोध्या(Sunrise Over Ayodhya) को लेकर विवाद हुआ था.

ये भी पढ़ें: सलमान खुर्शीद के बाद अब विवादों में कांग्रेस नेता राशिद अल्वी, ‘रामभक्तों’ पर दिया विवादित बयान

बता दें कि 26 नवंबर 2008 को आतंकियों(Mumbai Attacks) ने मुंबई के ताज होटल, ओबेरॉय, रेलवे स्टेशन और होटल समेत कई जगहों पर गोलीबारी की थी. जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए थे. इसमें सुरक्षाबलों ने 9 आतंकियों को मार गिराया था जबकि एक आतंकी अजमल कसाब जिंदा पकड़ा गया था.

No comments

leave a comment