Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Friday / August 12.
Homeन्यूजमन की बात में बोले PM मोदी- मैं आज भी सत्ता में नहीं हूं, मेरे लिए ये पद सत्ता नहीं बल्कि सेवा के लिए है

मन की बात में बोले PM मोदी- मैं आज भी सत्ता में नहीं हूं, मेरे लिए ये पद सत्ता नहीं बल्कि सेवा के लिए है

Mann Ki Baat
Share Now

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मन की बात(Mann Ki Baat) के 83वें एपिसोड में राष्ट्र को संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने अमृत महोत्सव से लेकर जनजातीय गौरव सप्ताह और कोरोना का जिक्र किया. पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना अभी गया नहीं है, इसलिए विशेष सावधानी बरतें. वहीं सेवा भावना का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मैं आज भी सत्ता में नहीं हूं और भविष्य में भी सत्ता में नहीं जाना चाहता, मैं सिर्फ सेवा में रहना चाहता हूं. मेरे लिए ये पद सत्ता के लिए नहीं बल्कि सेवा के लिए है.

देश ने जनजातीय गौरव सप्ताह मनाया- पीएम मोदी

पीएम मोदी(PM Modi) ने कहा कि आजादी में जनजातीय समुदाय के योगदान को देखते हुए देश ने जनजातीय गौरव सप्ताह भी मनाया. देश के अलग-अलग हिस्सों में इससे जुड़े कार्यक्रम हुए. आजादी के अमृत महोत्सव का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इससे लोगों को प्रेरणा मिलती है. आम लोग हों या सरकारें, पंचायत से लेकर पार्लियामेंट तक अमृत महोत्सव की गूंज है.

आजादी की कहानी, बच्चों की जुबानी कार्यक्रम का किया जिक्र

बीते दिनों में दिल्ली में आजादी की कहानी, बच्चों की जुबानी कार्यक्रम में बच्चों ने स्वाधीनता संग्राम से जुड़ी गाथाएं सुनाई. जिसमें नेपाल, मॉरिशस, तंजानिया और फिजी के बच्चे भी  शामिल हुए. पीएम मोदी ने कहा कि आजादी में झांसी और बुंदेलखंड का कितना योगदान है, हम सब जानते हैं. रानी लक्ष्मीबाई और झलकारी बाई जैसी वीराएंगनाएं और मेजर ध्यानचंद जैसे खेल रत्न इस क्षेत्र ने देश को दिए हैं. पीएम मोदी ने आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों से भी बातचीत की. 

पीएम मोदी ने सबसे साफ नदी का किया जिक्र

इसके अलावा पीएम मोदी ने मन की बात(Mann Ki Baat) में मेघालय की सबसे साफ नदी का भी जिक्र किया. पीएम मोदी ने कहा कि अभी सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें नदी का पानी इतना साफ है कि उसकी तलहटी दिखाई देती है. जालौन में भी एक पारंपरिक नदी है, जिसका नाम है नून नदी.

ये भी पढ़ें: मन की बात में बोले PM मोदी-युवाओं में खेल के प्रति बढ़ता उत्साह मेजर ध्यानचंद को सच्ची श्रद्धांजलि

यह पहले किसानों के लिए पानी का प्रमुख स्त्रोत हुआ करती थी लेकिन धीरे-धीरे यह लुप्त होने की कगार पर पहुंच गई. यहां के लोगों ने इसे फिर से जीवित करने का बीड़ा उठाया और आज ये नदी फिर से जीवित हो उठी है. साथ ही पीएम मोदी ने स्टार्टअप का जिक्र करते हुए कहा कि आज लोग जॉब क्रिएटर बनना चाह रहे हैं, वहीं अंत में पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना(Corona) अभी गया नहीं है, सावधानी बरतें. 

No comments

leave a comment