Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / January 25.
Homeन्यूजलो आ गई कोरोना की दवाई, कहां मिलेगी, कितने में मिलेगी और कौन खरीद सकता है जान लीजिए सबकुछ

लो आ गई कोरोना की दवाई, कहां मिलेगी, कितने में मिलेगी और कौन खरीद सकता है जान लीजिए सबकुछ

molnupiravir
Share Now

कोरोना(Corona) महामारी ने जिस तरह से तबाही मचा रखी है, उससे ठीक होने के लिए अब तक कोई एक टैबलेट(Molnupiravir Tablet)सामने नहीं आई थी. जैसे बुखार के लिए पैरासिटामोल खाते हैं, वैसे कोरोना के लिए कोई एक टैबलेट नहीं था लेकिन अब मार्केट में नया टैबलेट आ चुका है, जिसका नाम है मोल्नुपिराविर(Molnupiravir) . इस टैबलेट को बनाया है ब्रिटिश कंपनी ने. ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हमारे लिए यह ऐतिहासिक दिन है, मरीज घर बैठे इस दवा को ले सकते हैं.

वैक्सीन का विकल्प नहीं है टैबलेट

हालांकि हेल्थ एक्सपर्ट(Health Expert) ने ये बातें जरूर साफ कर दी हैं कि इस टैबलेट का मतलब ये नहीं है कि ये वैक्सीन(Vaccine) का विकल्प है. बल्कि आपको कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीन लेनी होगी. हां इतना जरूर है कि अगर अब कोई व्यक्ति कोरोना संक्रमित होता है तो इस टैबलेट के जरिए उसे स्वस्थ किया जा सकता है. ब्रिटेन की मेडिसिन एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट रेगुलेटरी अथॉरिटी ने कहा है कि इसके कोई साइड इफेक्ट(Side Effect) देखने को नहीं मिले हैं.

भारत में इस टैबलेट को मिली मंजूरी

ये बातें नवंबर महीने में बीते साल ब्रिटेन(UK) ने कही थी. उसके बाद अमेरिका ने भी कोविड मरीजों के इलाज के लिए इस दवा को मंजूरी दे दी. जहां तक भारत का सवाल है तो दिसंबर 2021 में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने इसे मंजूरी देने को लेकर जानकारी दी थी. 28 दिसंबर 2021 को उन्होंने ट्वीट कर जानकारी दी थी कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई को मजबूत करने के लिए CDSCO और केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दो वैक्सीन कोवैक्स और कोर्बीवैक्स के साथ-साथ एंटी वायरल दवा मोल्नुपिराविर(Molnupiravir) को भी मंजूरी दे दी है.

molnupiravir

Image Courtesy: Google.com

भारत में कौन सी कंपनी कर रही निर्माण

अब आप सोच रहे होंगे कि भारत सरकार ने जब इसे मंजूरी दे दी है और ब्रिटेन ने भी कहा है कि इसे घर बैठे ले सकेंगे तो फिर ये दवा कैसे और कहां मिलेगी. तो ये जान लीजिए कि यहां अभी इसे आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिली है. सिप्ला और सन फार्मा जैसी दवा बनाने वाली करीब 13 कंपनियां इसे भारत में बनाएंगी, जिसकी प्रक्रिया भी शायद शुरू हो चुकी है. यह सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर मरीजों को दिया जा सकेगा.

molnupiravir

Image Courtesy: Google.com

ये भी पढ़ें: कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच काढ़ा कितना कारगर है जान लीजिए, वरना बड़ा नुकसान हो सकता है

कितनी होगी कीमत

अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर इसकी कीमत क्या होगी, क्या ये भी अन्य दवाओं की तरह महंगा होगा तो नहीं. इकोनॉमिक्स टाइम्स की ख़बर की मानें तो एक कैप्सूल की कीमत 35 रुपये होगी. 5 दिन में मरीज को 40 कैप्सूल लेने होंगे. मतलब इस दवा(Molnupiravir Tablet)से अगर किसी मरीज को ठीक होना है तो पूरे कोर्स की कीमत 1400 रुपये होगी. उम्मीद है कि अगले हफ्ते से ये दवा मार्केट में उपलब्ध हो जाएगी. कुल मिलाकर कोरोना के बढ़ते कहर के बीच ये दवा रामबाण साबित हो सकती है.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

No comments

leave a comment