Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / September 25.
Homeन्यूजदेश में हो रही ‘म्यूकोरमाइकोसिस’ केसों की बढ़ोत्तरी

देश में हो रही ‘म्यूकोरमाइकोसिस’ केसों की बढ़ोत्तरी

Share Now

देश भर में अभी भी कोरोना (Covid-19) का कहर जारी है। वहीं कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण के केसों की संख्या काफी तेजी से बढ़ी है। जिसके कारण कोरोना मरीजों के मौत की संख्या में भी  बढ़ोत्तरी देखने को मिली। अभी कोरोना पर नियंत्रण करना मुश्किल हो रहा है, ऐसी परिस्थिति में  नई बीमारी म्यूकोरमाइकोसिस के केस भी लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। देश के कई राज्यों में म्यूकोरमाइकोसिस (Mucormycosis)/ ब्लैक फंगस (Black Fungus) के प्रतिदिन के 10,20 मामले सामने आ रहे हैं।

दिल्ली के एम्स अस्पताल में म्यूकोरमाइकोसिस के 23 मामले  

दिल्ली में म्यूकोरमाइकोसिस के एक ही दिन में कई मामले सामने आए। हालही में दिल्ली के एम्स अस्पताल में 23 मामले सामने आ चुके हैं। इसके साथ ही दिल्ली के अपोलो अस्पताल में भी 10 मरीजों का इलाज किया जा चुका है। इसके साथ ही मूलचंद अस्पताल में भी ब्लैक फंगस का मामला दर्ज किया गया। यह इतनी खतरनाक बीमारी है कि यदि रिकवरी नहीं हो पाती तो व्यक्ति की जान भी चली जाती है। 

image source: file photo

खबर के मुताबिक मूलचंद अस्पताल के डॉ. भगवान मंत्री का कहना है कि एक कोरोना पॉजिटिव मरीज   का इलाज अस्पताल में चल रहा था, उसे हाई ब्लड शुगर था। मरीज में ब्लैक फंगस के लक्षण पाए गए, जिसमें उसकी आँखों और चेहरे पर सूजन इसके साथ ही आँख लाल थी, और नाक से खून बह रहा था। सर्जरी का प्लान करके तुरंत सर्जरी की गई। लेकिन मरीज को कार्डिएक अरेस्ट आया। जिस वजह से उसे बचाया ना जा सका। और मरीज की मौत हो गई। 

देखें खास खबर:

राजस्थान में ब्लैक फंगस को महामारी घोषित कर दिया गया है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार ने एलान करते हुए कहा कि ब्लैक फंगस खतरनाक रूप लेते जा रहा है इसलिए इस पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है।

ब्लैक फंगस के कारण मृत्यु दर में दिन प्रतिदिन वृद्धि: डॉक्टर्स 

डॉक्टरों का कहना है कि, ब्लैक फंगस के कारण मृत्यु दर दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है। ब्लैक फंगस से मरीजों की आंखों को अधिक नुकसान पहुँच रहा है। अधिक मात्रा में दवाई देना, मरीज को डायबिटीज़ होना या अन्य लक्षण के कारण उसकी जान को खतरा है।  

ध्यान दें, देश के गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश और कर्नाटक राज्यों  के अलावा अन्य कुछ राज्यों में भी ब्लैक फंगस/ म्यूकोरमाइकोसिस के केसों में बढ़ोत्तरी हो रही है। इस फंगस को कंट्रोल करने के लिए उपयोग में ली जाने वाली  एंफोटेरिसिन बी (Amphotericin B) की कमी कई राज्यों में दर्ज की गई है। इसके साथ ही देश की राज्य सरकारों की मेडिकल टीम म्यूकोरमाइकोसिस (Mucormycosis)/  के इलाज को लेकर और भी रिसर्च कार्य में लगी हुई हैं। 

 

यहाँ पढ़ें: म्यूकॉरमाइकोसिस इंफेक्शन से रहें सतर्क!

खबरों के मुताबिक, हरियाणा सरकार ने ब्लैक फंगस बीमारी की गंभीरता को देखते हुए कुछ गाइड लाइन तैयार कर दी है। 

यहाँ पढ़ें: गुजरात के प्रभावित क्षेत्रों में नागरिकों के लिए भारतीय सेना की सर्वश्रेष्ठ कामगिरी

जिससे कि म्यूकोरमाइकोसिस से प्रभावित लोगों  को  तुरंत ही इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जा सके। ब्लैक फंगस के इलाज के लिए राज्य सरकार ने अलग अलग जिलों में अस्पतालों को अधिकृत कर दिया है। जिससे मरीजों को जान खोने से बचाया जा सके ओर इलाज सही तरीके से मिल सके। 

फिलहाल देश के कई राज्यों में म्यूकोरमाइकोसिस के कई मामले सामने दर्ज हो रहे हैं, और मरीज की आँखें जा रही हैं या फिर इस ब्लैक फंगस बीमारी से उनकी मृत्यु हो रही है। 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें..  स्वस्थ रहें.. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4  

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment