Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / June 26.
Homeकहानियांआजादी के बाद 16 साल तक रहा असम का हिस्सा, ऐसी है केन्द्रशासित प्रदेश से राज्य बने नागालैंड के गठन की कहानी

आजादी के बाद 16 साल तक रहा असम का हिस्सा, ऐसी है केन्द्रशासित प्रदेश से राज्य बने नागालैंड के गठन की कहानी

Nagaland’s Statehood Day
Share Now

Nagaland Statehood Day: पीएम मोदी ने नागालैंड के नागा वासियों को राज्य के 59वें स्थापना दिवस की ट्वीट के जरिए बधाई दी। प्रधानमंत्री ने कहा भारत के विकास में नागालैंड और नागा संस्कृति का सम्पूर्ण योगदान है, नागा संस्कृति नागरिकों की वीरता और साहस को दर्शाती है। आने वाले सालों में नागालैंड और भी तरक्की करे। 

करीब 3 साल नागालैंड रहा केंद्रशासित प्रदेश 

आजादी के बाद से लेकर 1963 तक नागालैंड असम का हिस्सा था। लेकिन 1947 से ही अलग राज्य की मांग उठने लगी थी। जिसके बाद 1957 में नागा नेताओं और केन्द्र के बीच एक समझौता हुआ कि नागा हिल्स एक अलग क्षेत्र होगा। लेकिन उसके बाद भी जब अलग राज्य की मांग नहीं थमी तो नागा हिल्स और त्येनसांग फ्रंटियर के क्षेत्र को केन्द्रशासित प्रदेश घोषित कर दिया गया। करीब 3 साल तक नागालैंड केन्द्रशासित प्रदेश रहा लेकिन वहां के नागा नेता इसे अलग राज्य बनाने की मांग पर अड़े हुए थे। जिसे लेकर तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू और वहां के स्थानीय नेताओं के साथ हुई बैठक में 16 अहम मुद्दों का समझौता हुआ।

नागालैंड को मिला पूर्ण राज्य का दर्जा (Nagaland Statehood Day )

इस समझौते में नागालैंड को पूर्ण राज्य का दर्जा दिया जाना भी शामिल था। इस तरह आजादी के 16 साल बाद 1 दिसंबर 1963 को असम से अलग होकर नागालैंड एक पूर्ण राज्य बन गया। फिलहाल नागालैंड में 1 लोकसभा सीट और 60 विधानसभा सीटें हैं। राज्य गठन के बाद जनवरी 1964 में हुए पहले विधानसभा और 1967 में हुए पहले लोकसभा चुनाव में नागा नेशनलिस्ट ऑर्गेनाइजेशन की जीत हुई। 

साल 2002 में नागालैंड पीपुल्स काउंसिल का नाम बदलकर नागा पीपुल्स फ्रंट (Naga People’s Front) कर दिया गया। जबकि नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी का गठन साल 2017 में किया गया।

देखें यह वीडियो: Best Places to visit in India 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

No comments

leave a comment