Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / December 1.
Homeन्यूजAAP की तारीफ़ से सिद्धू ने बढ़ाया सियासी पारा, अटकलों का दौर शुरू

AAP की तारीफ़ से सिद्धू ने बढ़ाया सियासी पारा, अटकलों का दौर शुरू

Navjot Singh Sidhu
Share Now

Navjot Singh Sidhu: पंजाब कांग्रेस में चल रही अंतर्कलह हाईकमान के बीच बचाव के बावजूद शायद नहीं सुलझी है। पहले खबर आई थी कि पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के बीच मनमुटाव दूर हो गया। दोनों ही बड़े नेता दिल्ली जाकर प्रियंका-राहुल गांधी से मिले थे। जबकि अमरिंदर सिंह ने तो सोनिया गांधी से भी मुलाकात की थी। जिसके बाद सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा था कि पंजाब में ‘आल इज वेल’ है। लेकिन अब सिद्धू के एक बयान से सियासी भूचाल आ गया है।

PUNJAB

सिद्धू ने की आप पार्टी की तारीफ़:

अगले वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के रिश्तों में जमी बर्फ पिघलने का नाम नहीं ले रही है। इस बीच सिद्धू के बयान ने पंजाब का सियासी पारा बढ़ा दिया है। नवजोत सिंह सिद्धू ने मंगलवार को कहा, ‘हमारे विपक्षी AAP ने हमेशा पंजाब के लिए मेरे विजन और काम को पहचाना है। सिद्धू के आप पार्टी की तारीफ़ के पीछे राजनैतिक पंडितों की माने तो यह कांग्रेस के लिए बड़ी गड़बड़ है।

PUNJAB

पंजाब में एक बड़ा सियासी उलटफेर होना संभव:

इससे पहले सिद्धू ने कांग्रेस के साथ जाकर सभी को चौंका दिया था। अब इस बयान के बाद ये कयास भी लगने शुरू हो गए है कि पंजाब कांग्रेस में अपना वर्चस्व ढूंढ रहे सिद्धू आप पार्टी भी जॉइन कर सकते है। अगर ऐसा होता है तो पंजाब में एक बड़ा सियासी उलटफेर होना संभव है। दिल्ली के सीएम और आप संयोजक अरविन्द केजरीवाल पहले ही घोषणा कर चुके है कि आप कि सर्कार बनती है तो सिख ही सीएम बनेगा।

अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच खींचतान:

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच पिछले कई दिनों से आपसी खींचतान चल रही है। सिद्धू कांग्रेस पार्टी और पंजाब सरकार में अहम पद चाहते हैं, जबकि अमरिंदर सिंह सिद्धू को न तो कैबिनेट में शामिल करना चाहते हैं और न ही पंजाब कांग्रेस का प्रमुख बनने देना चाहते हैं।

siddhu amrinder SINGH

कांग्रेस हाईकमान फिर हुआ अलर्ट:

कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू की लड़ाई दिल्ली तक भी पहुंची थी, जहां कांग्रेस आलाकमान ने तीन सदस्यीय कमेटी का गठन करके विवाद का हल निकालने की कोशिश की। हालांकि, अभी तक जो जानकारी निकल कर सामने आई है, उससे साफ है कि सिद्धू और अमरिंदर में से कोई भी झुकने के लिए तैयार नहीं है। अब सिद्धू के इस बयान का क्या मतलब है ये तो आने वाला समय ही बताएगा लेकिन कांग्रेस हाईकमान उनके इस बयान से एक बार फिर अलर्ट हो गया है।

यहाँ पढ़ें: पंजाब के बाद अब उत्तराखंड की जनता से केजरीवाल ने किया मुफ्त बिजली का वादा

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment