Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / October 27.
Homeभक्तिNavratri Vrat Vidhi: नवरात्रि में इन 10 बातों का रखें विशेष ध्यान, भूलकर भी ना करें इन चीजों का सेवन

Navratri Vrat Vidhi: नवरात्रि में इन 10 बातों का रखें विशेष ध्यान, भूलकर भी ना करें इन चीजों का सेवन

Navratri Vrat Vidhi
Share Now

Navratri Vrat Vidhi: 6 अक्टूबर यानी कल से घर-घर में घटस्थापना के साथ नवरात्रि की शुरुआत होगी। जो अगले आठ दिनों तक यानी 14 अक्टूबर चलेगी। इसके अगले दिन 15 अक्टूबर को विजय दशमी का पर्व मनाया जाएगा। नो दिन तक मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों की पूजा (Navratri Vrat Vidhi) होगी। ऐसे तो सालभर में चार बार नवरात्रि का पर्व मनाया जाता है।

Navratri Vrat Vidhi

नवरात्रि (Navratri Puja Vidhi) के समय इन बातों का रखें ध्यान:

अश्विन मास के नवरात्रि को शारदीय नवरात्रि के रूप में जाना जाता है, क्योंकि यह श्राद्ध पक्ष के अगले ही दिन से शुरू हो जाते है। मां दुर्गा का आशीर्वाद और कृपा के लिए भक्त नवरात्रि की पूजा अर्चना करते है। नवरात्रि में भक्त नो दिन तक लगातार उपवास रखते है। मां दुर्गा की पूजा पूरी विधि विधान के साथ की जाती है। भक्त व्रत भी पुरे विधान से करते है जिसका फल ज्यादा मिलता है।

नवरात्रि उपवास के समय कुछ बातों का विशेष ध्यान रखा जाता है। लेकिन इस दौरान कुछ नियमों का पालन करना जरूरी होता है।

navratri puja

आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ नियमों के बारे में…

– नवरात्रि के दिनों में उन्हें लहसुन, प्याज, नॉनवेज, शराब आदि का सेवन बिल्कुल ना करें
– अगर ऐसा किया तो तो घर में बहुत बड़ा सकंट आ सकता है.
– नवरात्रि में घर में जलाई गई अखंड ज्योति को कभी अकेला ना छोड़े..
– घटस्थापना और अखंड ज्योति वाले घर को कभी खाली नहीं छोड़ना चाहिए.
– घर का कोई एक व्यक्ति पूरी जिम्मेदारी के वहां जरूर रुकना चाहिए
– नवरात्रि में मां की पूजा करते समय काले कपड़े कभी भूलकर भी ना पहने..
– आपने व्रत रखा है तो ब्राह्मचर्य व्रत का पालन अवश्य करें
– नो दिन तक बास, नाखून और शेविंग करना वर्जित माना जाता है
– अगर किसी घर में किसी व्यक्ति की मृत्यु हुई हो तो वो 13 दिन तक पूजा-पाठ ना करें।
– अगर इस दौरान नवरात्रि के व्रत आए तो वो भी ना करें।
– गर्भवती महिलाएं सिर्फ माता रानी की पूजा करें, व्रत ना करें।
– बीमार और डायबिटीज वाले लोगों को भी व्रत रखने से परहेज करना चाहिए।
– ऐसे लोग व्रत रखने से पूर्व डॉक्टर से एक बार परामर्श अवश्य कर लें।

साल में चार बार आते है नवरात्र:

चैत्र नवरात्रि
आषाढ़ नवरात्रि (गुप्तनवरात्रि)
अश्विन नवरात्रि
माघ नवरात्रि (गुप्तनवरात्रि)

मां के इन नो रूपों की होती है पूजा:

1. मां शैलपुत्री
2. मां ब्रह्मचारिणी
3. मां चंद्रघंटा
4. मां कुष्मांडा
5. मां स्कंदमाता
6. मां कात्यायनी
7. मां कालरात्रि
8. मां महागौरी
9. मां सिद्धिदात्री

यहां पढ़ें: शारदीय नवरात्रि 2021: घटस्थापना का है बड़ा विशेष महत्व, जानिए शुभ मुहूर्त और विधि

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं। OTT India इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

No comments

leave a comment