Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / August 10.
Homeन्यूजनया वायरस NeoCov मचा सकता है भारी तबाही, हर 3 संक्रमित में से 1 की हो सकती है मौत

नया वायरस NeoCov मचा सकता है भारी तबाही, हर 3 संक्रमित में से 1 की हो सकती है मौत

neocov
Share Now

 NeoCov Virus: कोरोना (Corona) के कहर से अभी दुनिया पूरी तरह उबर भी नहीं पाई है कि नए वायरस( NeoCov) ने दस्तक दे दी है. इस वायरस को लेकर अलर्ट चीन(China) के उसी वुहान(Wuhan) शहर के वैज्ञानिकों ने दी है जहां कोरोना वायरस के बारे में जानकारी मिली थी. यह नया वायरस NeoCov इतना खतरनाक है कि इससे संक्रमित होने वाले हर तीन में से एक व्यक्ति की मौत हो सकती है. इस बात की आशंका इस वायरस को लेकर रिसर्च करने वाले वैज्ञानिकों ने जताई है.

दक्षिण अफ्रीका में मिला है नया वायरस

रूस की न्यूज एजेंसी स्पूतनिक(Sputnik) ने चीन के वैज्ञानिकों के हवाले से लिखा है कि इसका संक्रमण दर इतना है कि इससे पहले की तुलना में ज्यादा लोगों की मौत(Fatality Rate) हो सकती है. शुरुआत में मीडिया में ऐसी ख़बरें आई कि इसे चीन में खोजा गया है लेकिन ये सच नहीं है बल्कि इसका पता दक्षिण अफ्रीका में चला है, जहां अभी कुछ दिनों पहले कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन(Omicron) के बारे में जानकारी मिली थी.

अभी चमगादड़ में दिखें है इसके लक्षण

इस वायरस( NeoCov Virus) के बारे में ऐसी जानकारी भी सामने आई है कि यह कोई नया वायरस नहीं है. पश्चिम एशिया(West Asia) के देशों में साल 2012 और 2015 में इस वायरस के प्रकोप देखने को मिला था. यह कोरोना वायरस(Coronavirus) की तरह ही है, जिससे इंसानों में संक्रमण फैल सकता है. फिलहाल इसे दक्षिण अफ्रीका के चमगादड़ में देखा गया है, इसलिए इंसानों में फैलने से पहले ही वैज्ञानिकों ने इसे लेकर अलर्ट जारी किया है.

सतर्क और सावधान रहने की है जरूरत

इस वायरस को लेकर अलर्ट तब जारी हुआ है जब पूरी दुनिया को कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन(Omicron Variant) और सब वैरिएंट BA.2 के खतरे का सामना कर रही है. सवाल ये नहीं है कि ये इंसानों में अभी फैला है कि नहीं बल्कि सवाल ये है कि अगर इंसानों में ये वायरस फैलता है तो फिर इसके रोकथाम के क्या उपाय होंगे.

ये भी पढ़ें: क्या ओमिक्रॉन से भी ज्यादा खतरनाक है कोरोना का नया वैरिएंट, जानें IHU से जुड़े अब तक के सभी अपडेट

कोरोना वायरस के शुरुआती दौर में उसे रोकने के भी कोई उपाय सामने नहीं थे, बाद में वैक्सीन बनी तो पूरी दुनिया ने राहत की सांस ली. अगर यह वायरस इंसानों में फैलता है तो पूरी दुनिया के सामने नई चिंता की लकीरें उभर जाएंगी, ऐसे में सतर्क और सावधान रहने की जरूरत है.   

No comments

leave a comment