Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / September 25.
Homeडिफेंसशहीद मेजर विभूति की पत्नी निकिता बतौर लेफ्टिनेंट सेना में शामिल

शहीद मेजर विभूति की पत्नी निकिता बतौर लेफ्टिनेंट सेना में शामिल

Share Now

पुलवामा में शहीद मेजर विभूति की पत्नी निकिता ढौंढियाल बतौर लेफ्टिनेंट भारतीय सेना में शामिल हुई हैं। देहरादून निवासी मेजर विभूति ढौंढियाल 2019 में जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हो गए थे। उनके शहीद होने के बाद उनकी पत्नी निकिता ने पति के सपने को पूरा करने के लिए सेना में जाने का निर्णय लिया। निकिता ने दिसंबर 2019 में इलाहाबाद (Allahabad) में वूमेन एंट्री स्कीम (Women Special Entry Scheme-WSES) की परीक्षा दी थी। जिसमें वह पास हो गई थीं।आज अधिकारी प्रशिक्षण संस्थान चेन्नई में आयोजित कार्यक्रम में वे बतौर लेफ्टिनेंट निकिता ढौंढियाल भारतीय सेना में शामिल हो गई हैं। 

रक्षा मंत्रालय, उधमपुर के जन संपर्क अधिकारी (पीआरओ) ने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर इस समारोह का एक वीडियो भी साझा किया।

पीआरओ उधमपुर ने ट्वीट किया, ‘पुलवामा में प्राण न्योछावर करने वाले मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल को मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया। उन्हें सर्वश्रेष्ठ श्रद्धांजलि देते हुए आज उनकी पत्नी निकिता कौल ने सेना की वर्दी पहन ली। यह उनके लिए गर्व का मौका होगा, क्योंकि सैन्य कमांडर लेफ्टिनेंट वाई के जोशी ने उनके कंधे पर स्टार लगाए।’

चेन्नई की ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी (ओटीए) से कॉल लेटर

वूमेन एंट्री स्कीम की परीक्षा पास करने के बाद लेफ्टिनेंट निकिता ढौंढियाल को चेन्नई की ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी (ओटीए) से कॉल लेटर आया।  ट्रेनिंग पूरी कर 29 मई को आयोजित ओटीए की पासिंगआउट परेड में बतौर लेफ्टिनेंट आधिकारिक रूप से सेना में शामिल हो गईं हैं। लेफ्टिनेंट जनरल वाई के जोशी (Lt Gen Y. K. Joshi) ने लेफ्टिनेंट निकिता ढौंढियाल(Lt Nikita Dhoundiyal)  कंधों पर स्टार लगाया। लेफ्टिनेंट जनरल वाई के जोशी सेना की उत्तरी कमान के कमांडर हैं। यह कार्यक्रम तमिलनाडु के चेन्नई में अधिकारियों की प्रशिक्षण अकादमी में आयोजित किया गया। 

लेफ्टिनेंट निकिता ढौंढियाल की पहली पोस्टिंग जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में हुई है।

सैन्य अभियान में शहीद हुए मेजर विभूति ढौंढियाल 

देखें यह वीडीओ : श्रद्धांजलि मेजर विभूति ढौंढियाल 

पुलवामा अटैक: 18 फरवरी 2019 को एक सैन्य अभियान में शहीद हुए मेजर विभूति ढौंढियाल (Major Vibhuti Dhoundiyal) शहीद हुए थे। मेजर विभूति ढौंढियाल कश्मीर में 55 राष्ट्रीय राइफल्स का हिस्सा थे। उनके वैवाहिक जीवन की शुरुआत 18 अप्रैल 2019 में हुई थी। शादी को 9 महीने हुए थे, और उनकी पोस्टिंग हो गई थी। लेकिन अपनी ड्यूटी को अपना फर्ज समझकर उन्होंने अपनी पोस्टिंग को जॉइन कर लिया था। 

यहाँ पढ़ें: पुलवामा हमले में शहीद जवानों के शहादत को समर्पित डिजिटल बुक: “शहादत का शौर्य”

Major Vibhuti Shankar Dhoundiyal

शहीद मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल तीन बहनों में सबसे छोटे भाई: 

मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल पुलवामा में रविवार रात हुई मुठभेड़ में शहीद हो गए। तीन बहनों में सबसे छोटे 34 साल के मेजर विभूति थे। उनकी पत्नी निकिता कौल ढौंडियाल दिल्ली में बहुराष्ट्रीय कंपनी में नौकरी करती हैं। पिता ओपी ढौंडियाल का निधन 2015 में हुआ था। मेजर विभूति ढौंडियाल का परिवार मूल रूप से पौड़ी गढ़वाल के बैजरों के पास ढौंड गांव का रहने वाला है। विभूति के दादा केएन ढौंडियाल 1952 में दून आकर बस गए थे। विभूति के पिता और दादा दोनों ही राजपुर रोड स्थित एयरफोर्स के सीडीए कार्यालय से सेवानिवृत्त हुए थे। 

शहीद मेजर विभूति सेना में 55 राष्ट्रीय रायफल्स का हिस्सा थे: 

Digital Book on Pulwama Attack

यहाँ पढ़ें: पुलवामा के रणबांकुरों के बलिदान का बदला!

शहीद मेजर विभूति सेना में 55 राष्ट्रीय रायफल्स का हिस्सा थे। शहीद मेजर की आरंभिक शिक्षा पाइनहॉल और सेंट जोसेफ अकादमी से हुई जबकि ग्रेजुएशन उन्होंने डीएवी कॉलेज से किया था। भारतीय सेना के प्रमिख प्रशिक्षण संस्थान ओटीए यानी अधिकारी प्रशिक्षण संस्थान चेन्नई से पास आउट शहीद मेजर विभूति के रग रग में देश के लिए जुनून और जज्बा सिर चढ़कर बोलता था। शहादत के वक्त उन्हें देहरादून लाया गया तो अंतिम विदाई के वक्त सारा शहर ही नहीं देश रो रहा था। पति के शहीद होने पर निकिता उस वक्त भी चर्चा में रहीं थीं जब उन्होंने ‘आई लव यू विभू’ जैसे मार्मिक शब्दों से विभूति को अंतिम विदाई दी थी।

लेफ्टिनेंट निकिता ढौंढियाल को देश का सलाम 

निकिता कश्मीर के विस्थापित परिवार से ताल्लुक रखती हैं। पति के गुजरने के बाद से निकिता ने इलाहबाद में वुमन एंट्री स्कीम की परीक्षा पास कर ली थी, उसके बाद से चेन्नई की ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी से ट्रेनिंग ले रही थीं। आज भारतीय सेना में शामिल होकर लेफ्टिनेंट निकिता ढौंढियाल ने अपने पति को दिया हुआ वादा पूरा करके एक शहीद की पत्नी होने का फर्ज अदा किया है। लेफ्टिनेंट निकिता ढौंढियाल(Lt Nikita Dhoundiyal) पर आज पूरे देश को नाज है। 

OTT INDIA लेफ्टिनेंट निकिता ढौंढियाल की हिम्मत और जज्बे को सलाम करता है। 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें..  स्वस्थ रहें.. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment