Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Friday / October 7.
Homeऑटो एंड गैजेट्सपेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों से मिलेगा छुटकारा! जानिए क्या है नए ऐलान!

पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों से मिलेगा छुटकारा! जानिए क्या है नए ऐलान!

Nitin Gadkari
Share Now

नई दिल्ली: हर दिन पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों की वजह से हर एक वाहन चालक परेशान है। क्यूंकि देश में कई जगहों पर पेट्रोल की कीमतें 107 रुपए प्रति लीटर है। ऐसे समय में वाहन चालकों के लिए एक अच्छी खबर है। केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इथेनॉल आधारित ‘फ्लेक्स फ्यूल इंजन’ के उपयोग को अनुमति देने का फैसला लिया है। 

“मैं परिवहन मंत्री हूं, मैं उद्योग के लिए आदेश जारी करने जा रहा हूं कि केवल पेट्रोल से चलने वाले इंजन नहीं होंगे, हमारे पास फ्लेक्स-फ्यूल इंजन होंगे। लोगों के पास विकल्प होगा कि वे 100 प्रतिशत कच्चा तेल या 100 प्रतिशत इथेनॉल में किसका इस्तेमाल करें।”

flex-fuel engines

flex-fuel engines

फ्लेक्स-फ्यूल इंजन (flex-fuel engines) क्या है, क्यूँ है सस्ता?
flex-fuel engines एक से ज्यादा ईंधन से चलने वाला इंजन है। इस इंजन में एथेनॉल (Ethanol) या मिथेनॉल (Methanol) ईंधन के मिश्रण वाले पेट्रोल का इस्तेमाल किया जाता है। यह इंजन प्रदूषण को मुक्त करने में सहायक है। इथेनॉल या मिथेनॉल ईंधन के मिश्रण वाले पेट्रोल की कीमत लगभग 60 से 62 प्रति लीटर है। जहां पेट्रोल की कीमत 100 रुपए प्रति लीटर से भी ज्यादा हो चुकी है। इसलिए इथेनॉल के इस्तेमाल लगभग 30-35 की बचत होगी। 

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने बताया कि, तीन महीने के अंदर ‘फ्लेक्स फ्यूल इंजन’ की योजना को लॉन्च कर दिया जाएगा। जिससे पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से बड़ी राहत मिलेगी। उनका कहना है कि, ब्राजील, अमेरिका और कनाडा जैसे दुनिया के अन्य देशों में फ्लेक्स इंजन हैं जो कृषि उत्पादों से संचालित होते हैं और BMW, मर्सिडीज (Mercedes)और टोयोटा (Toyota) जैसे वाहन निर्माताओं को वैकल्पिक ईंधन पर चलने वाले वाहनों को विकसित करने के लिए प्रोत्साहित किया।

2025 तक इथेनॉल को पेट्रोल में मिलाने का लक्ष्य हासिल करने का लक्ष्य:-

खबरों के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया था कि, 2025 तक 20 प्रतिशत एथेनॉल को पेट्रोल में मिलाने का लक्ष्य हासिल किया जाएगा। इस लक्ष्य के आधार पर प्रदूषण को कम किया जाएगा। और आयात की निर्भरता को कम किया जाएगा। हालांकि, इथेनॉल का कैलोरी मान अत्यधिक कम है। 

यहाँ पढ़ें: India vs SL 2021: टीम इंडिया का भविष्य है ये पांच खिलाड़ी

इथेनॉल को पेट्रोल

Image source: Chinimandi

इथेनॉल मॉडल युक्त इंजनों के निर्माण का ऐलान:- 

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने वाहन निर्माताओं की कंपनी से इथेनॉल मॉडल विकसित करने का निर्देश दिया है। टीवीएस और बजाज का उदाहरण देते हुए बताया कि, ये सभी कंपनियाएं पहले से ही इथेनॉल से चलने वाले टू व्हीलर को विकसित कर चुके हैं, और ऐसे मॉडल सभी वाहन निर्माता कंपनियों को विकसित करने के लिए ख रहे हैं। 

यहाँ पढ़ें: आखिर क्या है, कोंकण वॉर गेम्स? ‘HMS Queen Elizabeth’ बनेगा गेम का हिस्सा!

प्रदूषण को कम करने में है सहायक flex-fuel engines:-

इस नए मॉडल के इंजन के उपयोग से देश में प्रदूषण को कम करने में सहायता मिलेगी। देश के कई राज्यों में Air Pollution की समस्या बढ़ती ही जा रही है। दिल्ली में हवा अत्यधिक दूषित हो रही है, जिसे नियंत्रण करना अनिवार्य है। 

पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ते जा रहे हैं, और लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए यह केन्द्रीय परिवहन मंत्री Nitin Gadkari ने ये निर्णय लिए हैं। 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें OTT INDI App पर…. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment