Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / September 29.
Homeन्यूजब्लैक फंगस दवाओ पर कोई टैक्स नहीं: निर्मला सीतारमण

ब्लैक फंगस दवाओ पर कोई टैक्स नहीं: निर्मला सीतारमण

no gst on black fungus medicine
Share Now

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नई दिल्ली में 44वीं गुडस एंड सर्विस टेक्स (GST) काउंसिल की बैठक के नतीजे को संबोधित किया।

बैठक में वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर के अलावा राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के वित्त मंत्रियों और केंद्र सरकार और राज्यों के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया, जहां उन्होंने COVID-19 संबंधित वस्तुओं पर दर युक्तिकरण पर चर्चा की।

यहाँ पढे: जम्मू कश्मीर: सपोर में पुलिस और CRPF जवानों पर आतंकी हमला

सीतारमण ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जीएसटी काउंसिल ने रेट रेशनलाइजेशन पर जीओएम की सभी सिफारिशों को मंजूरी दे दी है। उन्होंने कहा कि उत्पादों की 4 श्रेणियों- दवाओं, ऑक्सीजन, ऑक्सीजन-उत्पादन उपकरण, परीक्षण किट और अन्य मशीनों और अन्य COVID-19 संबंधित राहत सामग्री के लिए GST दरें तय की गई हैं।

उसने कहा कि परिषद ने म्यूकोर्मिकोसिस जिसे आम तौर पर ब्लेक फंगस के नाम से जाना जाता है उसकी दवाओं के टेक्स में कटौती की है, जिसे शून्य कर दिया है। इनमें टोसीलिज़ुम्बाब, एम्फोटेरिसिन बी दवाएं शामिल हैं। COVID-19 राहत और प्रबंधन में उपयोग की जा रही स्पेसिफाइड वस्तुओ पर 30 सितंबर 2021 तक वैध है, और समय सीमा के करीब बढ़ाई जा सकती है।

देखे वीडियो:इस एक्ट्रेस पर लगा राजद्रोह का आरोप

उन्होंने यह भी कहा कि एम्बुलेंस पर जीएसटी 28% से घटाकर 12% कर दिया जाएगा। हालांकि, सीताराम ने कहा कि वेक्सिंस पर 5% जीएसटी रहेगा। केंद्र, घोषणा के अनुसार 75% वैक्सीन खरीदेगा और उसका जीएसटी भी चुकाएगा। लेकिन जीएसटी से होनेवाली आय का 70% राज्यों के साथ शेर किया जाएगा।

बिजली की भट्टियों और टेम्परेचर चेक करने के उपकरणों पर जीएसटी को घटाकर 5% और एम्बुलेंस पर 12% कर दिया गया। सीतारमण ने कहा कि ये दरें जीओएम द्वारा अनुशंसित अगस्त अंत के मुकाबले सितंबर तक वैध रहेंगी।

यह भी पढे: श्रीलंका दौरे के लिए भारतीय टीम का ऐलान!

28 मई को अपनी बैठक में, जीएसटी परिषद ने कई स्पेसिफाइड COVID-19 संबंधित सामानों पर IGST से पूर्ण छूट की सिफारिश की थी। यह समान जैसे की मेडिकल ऑक्सीजन, ऑक्सीजन कोन्संट्रेटर्स, और अन्य ऑक्सीजन स्टोरेज और परिवहन ईक्विपमेंट्स,  कुछ डायग्नोस्टिक मार्कर टेस्ट किट, और कोरोना की वेकसिन – भले ही सरकार को दान के लिए भुगतान के आधार पर या किसी राहत एजेंसी को राज्य प्राधिकरण की सिफारिश पर आयात किए गए हों। छूट इस साल 31 अगस्त तक मान्य है।

वर्तमान में, डोमेस्टिकली मेन्यूफ़ेक्चर की गई वेक्सिंस पर 5% जीएसटी लगाया जाता है, जबकि यह COVID दवाओं और ऑक्सीजन कोन्संट्रेटर्स के लिए यह दर 12% है।

देखे वीडियो:मेइनस्ट्रीम मीडिया पर लागू नए IT रुल्स

अलग-अलग आइटम के संबंध में, जीएसटी काउंसिल ने मंत्रियों के एक समूह (जीओएम) का गठन करने का फैसला किया, जो “कोविड -19 से संबंधित व्यक्तिगत वस्तुओं को तुरंत और राहत देने की आवश्यकता पर विचार करेगा”।

काउंसिल ने छोटे करदाताओं और मध्यम करदाताओं के अनुपालन बोझ को कम करने का भी निर्णय लिया और छोटे करदाताओं को राहत प्रदान करने के लिए लेट फी पेयेबल को कम करने के लिए एक माफी योजना की सिफारिश की।

 

No comments

leave a comment