Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Monday / December 6.
Homeन्यूजअफगानिस्तान के मुद्दे पर NSA की हाई लेवल मीटिंग, जानिए भारत के लिए क्यों है खास?

अफगानिस्तान के मुद्दे पर NSA की हाई लेवल मीटिंग, जानिए भारत के लिए क्यों है खास?

High level meeting of Muded NSA of Afghanistan, know why it is important for India
Share Now

NSA-Level Meeting: अफगानिस्तान के तालिबानी शासन आने के बाद सभी देशों की सरकारे अपने अपने हिसाब से अफगान के हालातों को समझने की कोशिश कर रही है. इसी कड़ी में अब भारत भी आने वाली 10 नवंबर को अफगानिस्तान को लेकर एक उच्च स्तरीय क्षेत्रीय सुरक्षा बैठक की मेजबानी करने जा रहा है. एनएसए की ओर से बुलाई गई यह बैठक दिल्ली में होने जा रही है. अफगानिस्तान में तालिबानी राज आने के बाद आंतक का साया सभी देशों पर बढ़ता जा रहा है. इसीलिए भारत की ओर से की जा रही यह बैठक काफी अहम मानी जा रही है.

आइये जानते हैं भारत के लिए इस बैठक के क्या मायने है और यह बैठक कितनी अहम है. आपको बता दें कि यह बैठक एनएसए यानी भारतीय सुरक्षा एजेंसी की ओर से बुलाई गई है. इस बैठक का मकसद साफ है कि दोनों देशों के बीच सुरक्षा के हालात बरकार रहे. भारत और अफगानिस्तान के रिश्ते हमेशा से ही मजबूत रहे हैं. दोनों देशों के बीच कई मुद्दों को लेकर एक राय रही है. अफगानिस्तान में भारत का आर्थिक, राजनीतिक और कूटनीतिक संबंध रहे हैं.

इसे भी पढ़े: बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक कल, पीएम मोदी का होगा संबोधन

यह बैठक एनएसए लेवल की बैठक (NSA-Level Meeting) है. इसकी अध्यक्षता राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल कर रहे हैं. इस बैठक के बारे में सहगल ने कहा कि भारत और अफगानिस्तान के रिश्तों की बात करें तो भारत कभी नहीं चाहता कि अफगानिस्तान उसके खिलाफ आंतकी गतिविधियों को अंजाम दे. 

कई देश हो रहे बैठक में शामिल

भारत ने इस बैठक के लिए कई देशों को आमंत्रित किया है. इसमें रूस तजाकिस्तान, उज्बेकिस्तान और ईरान को शामिल किया है. भारत की ओर से की जा रही इस बैठक में पाकिस्तान को शामिल नहीं किया जा रहा है. हालांकि रूस और ईरान की ओर से इस बैठक में शामिल होने की जानकारी सांझा कर दी गई है.

भारत की ओर से पहली बैठक

सूत्रों की मानें तो राष्ट्रीय सुरक्षा एंजेसी की ओर से ऐसी बैठक पहली बार होने जा रही है. अब तक ऐसी बैठकें मध्य एशिया और मध्य पूर्व में आयोजित की गई हैं. अब भारत ने ऐसी पहल की है. भारत की ओर से की जा रही इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है.

No comments

leave a comment