Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Monday / December 6.
Homeन्यूजPM मोदी ने दी संविधान दिवस की बधाई, 14 विपक्षी पार्टियों ने किया कार्यक्रम का बहिष्कार

PM मोदी ने दी संविधान दिवस की बधाई, 14 विपक्षी पार्टियों ने किया कार्यक्रम का बहिष्कार

Constitution Day
Share Now

आज पूरा हिंदुस्तान संविधान दिवस(Constitution Day) मना रहा है. संसद भवन में संविधान दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला समेत कई दिग्गज शामिल हुए. वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी(PM Modi) ने देशवासियों को संविधान दिवस की बधाई दी है.

पीएम मोदी ने ट्वीट कर दी बधाई

पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा है कि कोई भी संविधान चाहे वह कितना ही सुंदर, सुव्यवस्थित और सुदृढ़ क्यों न बनाया गया हो, यदि उसे चलाने वाले देश के सच्चे, निस्पृह, निस्वार्थ सेवक न हों तो संविधान कुछ नहीं कर सकता. डॉ. राजेंद्र प्रसाद की यह भावना पथ-प्रदर्शक की तरह है. बता दें कि मोदी सरकार ने संसद भवन में संविधान दिवस(Constitution Day) के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन किया है.

कांग्रेस समेत 14 विपक्षी पार्टियों ने किया कार्यक्रम का बहिष्कार

कांग्रेस, डीएमके, टीएमसपी, सपा और बसपा समेत 14 पार्टियों ने संविधान दिवस पर आयोजित इस कार्यक्रम को लेकर विरोध जताया है. बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकारें इस बात की गहन समीक्षा करें कि क्या ये पार्टियां संविधान का सही से पालन कर रही हैं, या नहीं. हमारी पार्टी ने संविधान दिवस(Constitution Day) पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल नहीं होने का फैसला लिया है.

केन्द्रीय मंत्री ने विपक्ष पर साधा निशाना

वहीं शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि कहां है संविधान, हमारी सरकार बहुमत में है, फिर में हमारे पीछे जांच एजेंसी लग जाती है. हालांकि विपक्ष की ओर से संविधान दिवस कार्यक्रम में हिस्सा न लेने को लेकर केन्द्रीय मंत्रियों ने निशाना साधा है. केन्द्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी 50 साल से ज्यादा शासन में रही है, उसका इस कार्यक्रम का बहिष्कार करना ये दिखाता है कि वह सिर्फ नेहरू परिवार से जुड़े लोगों का सम्मान और जयंती मनाएगी.

ये भी पढ़ें: अब ई-फोटो प्रदर्शनी से जानिए, कब शुरू हुआ संविधान का निर्माण और कैसे हुआ पूरा

26 नवंबर को इसलिए मनाते हैं संविधान दिवस

साथ ही केन्द्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि आज देश संविधान दिवस(Constitution Day) मना रहा है, लेकिन विपक्ष इसका विरोध कर रहा है, मुझे लगता है उन्हें संविधान में विश्वास ही नहीं. जो लोग इमरजेंसी लागू कर सकते हैं, उनसे संविधान में विश्वास रखने की उम्मीद भी नहीं की जा सकती. बता दें कि 26 नवंबर 1949 को भारतीय संविधान को अपनाया गया था, इसिलिए इस दिन को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है. वहीं 26 जनवरी 1950 से भारत का संविधान लागू हुआ था.  

No comments

leave a comment