Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / October 4.
Homeन्यूजपेटा इंडिया द्वारा अमूल के प्रबंधक निदेशक आर. एस. सोढ़ी को एक पत्र

पेटा इंडिया द्वारा अमूल के प्रबंधक निदेशक आर. एस. सोढ़ी को एक पत्र

Share Now

PTI: खबर के मुताबिक पशुओं के अधिकार के लिए काम करने वाले संगठन पेटा (People for the Ethical Treatment of Animals) ने अमूल से वीगन मिल्क(Vegan Milk) या पौधों (Plants) से बनाए जाने वाले दूध के उत्पादन की ओर ज्यादा ध्यान देने को कहा है। पेटा इंडिया द्वारा अमूल के प्रबंधक निदेशक आर.  एस.  सोढ़ी (R.S. Sodhi) को पत्र लिखकर यह जानकारी दी गई है। जिसमें पेटा इंडिया का कहना है कि डेयरी सहकारी सोसाइटी को लोकप्रिय हो रहे वीगन खाद्य (Vegan Food) और दुग्ध बाजार (Milk Market) से फायदा लेना चाहिए। इस तरह अमूल के प्रबंधक को पत्र के जरिए पौधों से बनाए जाने वाले दूध के कारोबार पर अत्यधिक ध्यान देने को कहा गया है । 

पेटा इंडिया द्वारा अमूल के प्रबंधक निदेशक आर.  एस. सोढ़ी को पत्र 

 

पेटा इंडिया ने कहा, ”हम संयंत्र आधारित उत्पादों की मांग पर ध्यान देने के बजाए अमूल को फलते-फूलते शाकाहारी भोजन और दूध के बाजार से लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित करना चाहेंगे। कई और कंपनियां भी बाजार में बदलाव के हिसाब से काम कर रही हैं और अमूल को भी ऐसा ही करना चाहिए।”

अमूल के प्रबंधक निदेशक आर. एस. सोढ़ी 

यहाँ पढ़ें: हवाई सर्वेक्षण पर पीएम मोदी, यास चक्रवात से हुए भारी नुकसान का आँकलन

सोढ़ी ने अश्विनी महाजन के एक ट्वीट को रीट्वीट 

अमूल के प्रबंधक निदेशक आर. एस. सोढ़ी (R.S. Sodhi) ने स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय सह-समन्वयक अश्विनी महाजन के एक ट्वीट को रीट्वीट किया है। इस ट्वीट में लिखा है, ”क्या आप नहीं जानते कि ज्यादातर डेयरी किसान भूमिहीन हैं। इस विचार को लागू करने से कईयों की आजीविका का स्रोत खत्म हो जाएगा। ध्यान रहे दूध हमारे विश्वास में है, हमारी परंपराओं में, हमारे स्वाद में, हमारे खाने की आदतों में पोषण का एक आसान और हमेशा उपलब्ध स्रोत है।

अमूल भारतीय डेयरी सहकारी सोसाइटी (Amul  Indian dairy cooperative society) है, जिसका प्रबंधन गुजरात को-ऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन (Milk Marketing Federation) करता है।

देखें यह वीडीओ: दिल्ली CM पर आरोप 

अमूल किसानों और पशुपालकों की उम्मीद:आर. एस. सोढ़ी  

खबरों के मुताबिक, भारत देश में किसानों और पशुपालकों की आमदनी को लेकर पहले भी अमूल के प्रबंधक निदेशक आर. एस. सोढ़ी (Amul’s Managing Director R S Sodhi) यह चुके हैं कि, डेयरी और पशुधन ही ऐसा सेक्टर है, “जिसमें अगर सही तरीके से निवेश हो तो किसानों की आमदनी दोगुनी नहीं तीन से चार गुना भी हो सकती है। क्योंकि भारत की बढ़ती जनसंख्या को प्रोट्रीन और फैट चाहिए, दूध और अंडा उसका बेहतर जरिया है, अब जिसकी मांग होगी उसी कारोबार में फायदा होगा ना।”

Amul Dairy Plant in Anand, near Ahmedabad in Gujarat. Image Credit: file Photo

अमूल का इतिहास (AMUL DAIRY)

आपको बता दें, अमूल की नींव 73 साल पहले रखी गई थी। गुजरात के लगभग 36 लाख किसान परिवारों की अपनी संस्था है। शुरुआती दौर में खेड़ा जिले के किसान जो दूध पैदा करते थे जिसका बाजार बांबे (मुंबई) में था। और किसानों को उनके हिसाब का भाव नहीं  मिल पाता था। सर्दियों में दूध के भाव आधे हो जाते थे, पूरा दूध किसानों से खरीदा नहीं जाता था। इसलिए किसानों ने मिलकर 1946 में खुद दूध के कारोबार को  शुरु किया इस तरह से अमूल का जन्म हुआ। धीरे धीरे देश के किसान और गाँव के लोग जुडते गए। अमूल आज विश्व प्रसिद्ध डेयरी है। अमूल के प्रबंधक निदेशक आर. एस. सोढ़ी (Amul’s Managing Director R S Sodhi) हैं। 

यहाँ पढ़ें: केंद्र मंत्रालय का नोटिफिकेशन: CAA के तहत नॉन-मुस्लिम शरणार्थियों को नागरिकता

अमूल आज से की एफएमसीजी कंपनियों में से एक है: 

Amul The Taste of India

अमूल आज भारत देश की सबसे बड़ी एफएमसीजी (Fast-moving consumer goods)  कंपनी है। जिसका निर्माण देश के छोटे छोटे किसानों ने मिलकर किया है। वर्तमान समय में 18500 गांवों में सहकारी मंडलियां (दुग्ध समितियां) हैं। देश में करीब 80 अमूल डेरी प्लांट हैं। अमूल पालन्ट से सालाना 50 हजार करोड़ रुपए का टर्नओवर है।

अमूल डेयरी की सबसे अच्छी बात ये है कि इसमें वैल्यू एडिशन (Value Adition) (मूल्य संवर्धन) का लाभ किसानों के खातों में जा रहा है। क्योंकि अमूल एक सहकारी संस्था है, यहां के प्रबंधनकर्ता, शेयर होल्डर सब किसान हैं। शायद विश्व में किसी भी कृषि उत्पाद (कमोडिटी) में ऐसा नहीं होता होगा। इससे अधिक उत्तम और क्या हो सकता है कि किसान स्वयं अपनी संस्था बनाकर उत्पाद की मार्केटिंग खुद करते हैं। जिससे कि किसानों को मिलने वाले लाभ में दिनप्रतिदिन बढ़ोत्तरी होती जा रही है । 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें..  स्वस्थ रहें.. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment