Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / December 1.
Homeट्रैवेलअसम का पाँचवा सबसे बड़ा शहर, यहाँ स्थित हैं- कई आकर्षक ऐतिहासिक स्थल!

असम का पाँचवा सबसे बड़ा शहर, यहाँ स्थित हैं- कई आकर्षक ऐतिहासिक स्थल!

SIDESWAR DEVALAY
Share Now

Assam, Tejpur: ब्रह्मपुत्र नदी के किनारे बसा तेजपुर शहर, असम का पाँचवा सबसे बड़ा शहर है। गुप्त काल के दौरान तेजपुर को शोणितपुर के नाम से जाना जाता था। तेजपुर शहर में स्थित पर्वतों  पर धार्मिक मंदिर, पत्थरों की नक्काशी और मूर्तिकलाएं, ऐतिहासिक स्थान पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र हैं। राजधानी गुवाहाटी से 185 किमी की दूरी पर स्थित है, असम का तेजपुर नगर पौराणिक दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण है। तेजपुर नगर पवित्र ब्रह्मपुत्र नदी के उत्तरी किनारे पर स्थित है। पहले तेजपुर को शोणितपुर के नाम से जाना जाता था। यहाँ स्थित कई किले उत्तर पूर्वी भारत के प्रणय स्थल के रूप में विख्यात है।  

SIDESWAR DEVALAY:-

sideswar devalya

sideswar devalya Image Credit: Google Image

यहाँ पढ़ें: इस झील की शीतलता, सुंदरता और प्राकृतिक नजारे हैं, सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र!

सीदेश्वर देवालय के मुख्य द्वार तक पहुँचने के लिए 143 सीढ़ीयां चढ़कर मंदिर तक पहुंचा जाता है। मंदिर के बाहर की ओर 4 शिव लिंग स्थापित हैं। मंदिर की दीवारों पर भिन्न-भिन्न देवी-देवताओं की सुंदर चित्रकारी की गई हैं। सीदेश्वर मंदिर के अंदर एक बड़ा सा प्रार्थना खंड भी बनवाया गया है, जिसकी देख-रेख मंदिर के पुजारियों द्वारा की जाती है। सीदेश्वर मंदिर के आस-पास के प्राकृतिक नजारे, शांत वातावरण, उगते सूरज के द्रश्य मन को लुभाते हैं। मंदिर के किनारे स्थित ब्रह्मपुत्र नदी इस सुंदर जगह की साक्षी है।   

Da Parbatia:-Tejpur 

Da-Parbatia

Da-Parbatia, Image Credit: Google

तेजपुर से 5 किमी दूर पश्चिम की ओर दा परबतिया (Da-Parbatia) मंदिर स्थित है। माना जाता है कि इस हिंदू मंदिर का निर्माण छठी शताब्दी के दौरान किया गया था। मंदिर का गर्भगृह चौकोर है जबकि मंडप आयताकार प्रतीत होता है। इस जगह पर असम की मूर्तिकला के प्राचीनतम नमूने उपलब्ध हैं। अहोम शासनकाल में ईंट से एक शिव मंदिर का निर्माण करवाया गया था। लेकिन शिव  मंदिर 1987 के भीषण भूकंप के दौरान ध्वस्त हो गया। मंदिर में बने पत्थर के दरवाजे देवी गंगा और यमुना की छवि से सुशोभित हैं। उनके हाथों में मालायेँ दिखाई देती हैं। मंदिर के दाईं ओर गंगा के तीन परिचर और बायीं ओर यमुना के दो परिचर हैं। वर्ष 1989-90 में Archaeological Survey of India  द्वारा दा परबातिया मंदिर की खुदाई की गई थी। यह भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के तत्वावधान में संरक्षित एक पुरातात्विक स्थल है।

यहाँ पढ़ें: तेजपुर शहर की इन पहाड़ियों पर मौजूद हैं, 10 वीं शताब्दी की शिल्पकलाएं!

Padum Pukhuri:-Tejpur

Padum Pukhuri

Padum Pukhuri Tezpur , Assam , India Image Credit; Google Image

Padum Pukhuri एक द्वीप के साथ बड़ी सी खूबसूरत झील है। इस द्वीप को एक संगीतमय फव्वारे के साथ एक सुंदर पार्क के रूप में विकसित किया गया है। झील के किनारे को जोड़ता हुआ एक लोहे का पुल भी है। जिसके सहारे झील के किनारे की ओर जाना आसान है। इस द्वीप में झील पर नाव भी चलती है। त्योहारों के समय इस द्वीप पर बानाए पुल को रंगीन लाईटों से सुसज्जित किया जाता है। कई सैलानियों के लिए यह द्वीप आकर्षण का केंद्र है। 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें.. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment