Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / August 10.
Homeन्यूजअयोध्‍या ऐसी हो जहां भारत की संस्‍कृति की झलक दिखे: PM Modi

अयोध्‍या ऐसी हो जहां भारत की संस्‍कृति की झलक दिखे: PM Modi

PM Meeting On Ayodhya
Share Now

PM Meeting On Ayodhya: उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भगवान राम का भव्य और दिव्य मंदिर के निर्माण का कार्य बहुत ही तेजी के साथ जारी है। 5 अगस्त साल 2020 को पीएम मोदी के हाथों राम मंदिर (Ram Mandir)  की नींव की स्थापना की गई थी। जिसके बाद मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो गया है। इसी बीच शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या विकास प्राधिकरण की तरफ से मास्टर प्लान में शामिल 20 हजार करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट की समीक्षा (PM Meeting On Ayodhya) की। यह बैठक वर्चुअल हुई, जो करीब 45 मिनट चली। 

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि ”अयोध्या में आध्यात्मिक और मानव दोनों प्रवृत्तियां है। इस शहर को ऐसा होना चाहिए जो भविष्य के बुनियादी ढांचे से मेल खाए। पर्यटकों और तीर्थयात्रियों समेत सभी के लिए फायदेमंद हो। इसके साथ ही पीएम ने कहा कि ”आने वाली पीढ़ियों को अपने जीवन में एक बार अयोध्या जरूर जाना चाहिए।”

रिव्यू मीटिंग की अहम बातें-

– रिव्यू मीटिंग में प्रधानमंत्री ने कहा कि अयोध्या का विकास मॉडल ऐसा होना चाहिए, जिससे युवाओं में आध्यात्मिकता का सृजन हो, वे संस्कार के साथ अध्यात्म की शिक्षा प्राप्त कर सकें।

– पीएम ने अयोध्या विकास मॉडल को समय से पूरा करने के लिए कहा। उन्होंने मॉडल को तैयार करने के लिए 6 महीने की कड़ी मेहनत कर रहे अधिकारियों को बधाई दी और उनकी हौसला भी बढ़ाया।

– अयोध्या में श्रीराम एयरपोर्ट के इसी वर्ष के अंत तक संचालन, दर्शन-मार्ग के कार्य को भी जल्द पूरा करने की बात भी हुई।

– यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम की भावनाओं के अनुकूल अयोध्या के विश्व स्तरीय विकास को समय से पूरा करने का आश्वासन दिया।

PM Meeting On Ayodhya

PM Meeting On Ayodhya

यहाँ पढ़ें: रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने किया ‘Project Seabird’ का सर्वेक्षण!

मीटिंग में ये लोग भी हुए शामिल:

मीटिग में पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना, नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन शामिल हुए। इसके अलावा अधिकारियों में मुख्य सचिव आरके तिवारी, अपर सचिव गृह एवं पर्यटन अवनीश अवस्थी, प्रमुख सचिव आवास दीपक कुमार, अयोध्या मंडल के आयुक्त एमपी अग्रवाल, हाउसिंग बोर्ड के कमिश्नर अजय चौहान, अयोध्या के जिला अधिकारी अनुज कुमार झा और अयोध्या विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विशाल सिंह ने भी​ हिस्सा लिया।

आपको बता दें कि भगवान श्री राम की जन्मभूमि के विकास के लिए लगभग पांच सौ लोगों की राय ली गई है। राम नगरी अयोध्या के विकास के लिए संतों और महंतो के अलावा श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट सहित यहां के सांसद, विधायक, शिक्षाविद सहित अन्य लोगों के सुझाव लिए जा चुके हैं। हालांकि ये क्रम अभी खत्म नहीं हुआ है ये अभी जारी है।

यहाँ पढ़ें: आठ देशों के ‘राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार’ हुए SCO में शामिल!

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment