Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / December 2.
Homeन्यूजPM मोदी ने AIPOC को किया संबोधित, वन नेशन, वन लेजिस्लेटिव का दिया फॉर्मूला  

PM मोदी ने AIPOC को किया संबोधित, वन नेशन, वन लेजिस्लेटिव का दिया फॉर्मूला  

PM Modi
Share Now

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी(PM Modi) ने 82वें अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन (All India Presiding Officer Conference) को वर्चुअली संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने वन नेशन, वन लेजिस्लेटिव का फॉर्मूला दिया. उन्होंने कहा कि एक ऐसा पोर्टल हो जो न केवल हमारी संसदीय व्यवस्था को टेक्नोलॉजी बूस्ट दे बल्कि सभी लोकतांत्रिक इकाइयों को जोड़ने का भी काम करे.

अगले 25 साल हमारे लिए काफी अहम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Modi) ने कहा कि अगले 25 साल हमारे लिए काफी अहम हैं, इस दौरान हम सिर्फ कर्तव्य के मंत्र को चरितार्थ कर सकते हैं. पीएम मोदी ने आगे कहा कि भारत के लिए लोकतंत्र सिर्फ व्यवस्था नहीं बल्कि भारत का स्वभाव और भारत की सहज प्रकृति है. हमें आने वाले वर्षों में देश को नई ऊंचाइयों पर लेकर जाना है. सबके प्रयास से ही असाधारण लक्ष्य पूरे होंगे.

सबका प्रयास का किया जिक्र

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि जब हम सबका प्रयास की बात करते हैं तो सभी राज्यों की भूमिका सबसे बड़ा आधार होती है. वहीं सदन की परंपराओं का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सदन में हमारा खुद का आचार-व्यवहार भारतीय मूल्यों के हिसाब से हो, ये हम सबकी जिम्मेदारी है. हमारी नीतियां और हमारे कानून भारतीयता के भाव को एक भारत, श्रेष्ठ भारत के संकल्प को मजबूत करने वाले होने चाहिए.  

पीएम मोदी ने की क्वालिटी डिबेट की बात

उन्होंने कहा कि क्या सदन में साल में 3-4 दिन ऐसे रखे जा सकते हैं, जिसमें समाज के लिए कुछ विशेष कर रहे जनप्रतिनिधि अपना अनुभव बताएं. इससे दूसरे जनप्रतिनिधियों के साथ ही समाज के अन्य लोगों को भी काफी कुछ सीखने को मिलेगा. क्या क्वालिटी डिबेट के लिए हम अलग से समय निर्धारित करने के बारे में सोच सकते हैं. ऐसी डिबेट जिसमें मर्यादा का पूरी तरह पालन हो, किसी तरह की कोई राजनीतिक छींटाकशी न हो, एक तरह से वो सदन का सबसे हेल्दी समय और हेल्दी डे हो.

PM Modi

Image Courtesy: Twitter.com

ये भी पढ़ें: पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का पीएम मोदी ने किया उद्घाटन, बोले- यह विकास का एक्सप्रेसवे है

क्या है अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन

बता दें कि अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन (All India Presiding Officer Conference) व्यवस्थापिकाओं की एक शीर्ष संस्था है. साल 1921 में स्थापित AIPOC इस साल अपना शताब्दी वर्ष मना रही है. साल 1921 में यानि इसका पहले सत्र का आयोजन भी हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में आयोजित किया गया था और शताब्दी वर्ष पर 82वें सत्र का आयोजन भी शिमला में ही किया गया है. जो 17-18 नवंबर तक चलेगा.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment