Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / November 29.
Homeन्यूजSCO Summit 2021 में बोले पीएम मोदी- बढ़ता कट्टरपंथ चिंता का विषय

SCO Summit 2021 में बोले पीएम मोदी- बढ़ता कट्टरपंथ चिंता का विषय

SCO Summit 2021
Share Now

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज SCO समिट (SCO Summit 2021) में हिस्सा लिया. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा अफगानिस्तान के हालात पर चिंता व्यक्त की, उन्होंने कहा कि बढ़ता कट्टरपंथ चिंता का विषय बनता जा रहा है. SCO को इस संबंध में पहल करनी चाहिए. बता दें कि इससे पहले भी पीएम मोदी अफगानिस्तान के हालात पर चिंता जता चुके हैं.

 

गौरतलब है कि अफगानिस्तान में तालिबान राज आने के बाद से अफरातफरी का माहौल है. दुनिया के कई देश इस पर चिंता व्यक्त कर चुके हैं. हैरानी की बात ये है कि तालिबान ने ऐसे लोगों को मंत्री बनाया है, जिन्हें अमेरिका की ओर से आतंकी घोषित किया गया है, उनमें हक्कानी नेटवर्क का मुखिया मुख्य है. ऐसे में अलग-अलग देशों की यही चिताएं हैं कि तालिबान राज में अफगानिस्तान का क्या होगा.   

पीएम मोदी ने गिनवाईं कई चुनौतियां 

हालांकि अफगानिस्तान से इतर पीएम मोदी ने कई और चुनौतियां गिनवाईं. पीएम मोदी ने कहा कि इस साल हम SCO की भी 20वीं वर्षगांठ मना रहे हैं, इस अवसर पर खुशी की बात यह है कि हमारे नए मित्र भी जुड़ रहे हैं, SCO सदस्य के रूप में ईरान और तीनों नए डायलॉग पार्टनर सऊदी अरब, ईजिप्ट और कतर का स्वागत करता हूं. मेरा मानना है कि इस क्षेत्र में सबसे बड़ी चुनौतियां शांति, सुरक्षा, और ट्रस्ट डेफिसिट से संबंधित है.

ये भी पढ़ें: PM Modi Birthday: आजाद भारत में जन्म लेने वाले पहले प्रधानमंत्री के ‘शून्य’ से ‘शिखर’ तक का सफर

भारत कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध 

पीएम मोदी ने आगे कहा कि सूफीवाद जैसी परंपराए सदियों से पनपी और पूरे क्षेत्र में फैलीं. पीएम मोदी ने भारत के प्रयासों का जिक्र करते हुए कहा कि चाहे यूपीआई और रूपे कार्ड जैसे टेक्नोलॉजी हो या कोविड 19 से लड़ाई में आरोग्य सेतु और कोविन जैसे डिजिटल प्लेटफॉर्म. इनहें हमने अन्य देशों के साथ साझा किया है. भारत एशिया के साथ अपनी कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है. पीएम मोदी ने ये भी कहा कि हमारा मानना है कि Land Locked Central एशियाई देशों को भारत के विशाल बाजार से जुड़कर अपार लाभ हो सकता है.

दुनिया का सबसे बड़ा क्षेत्रीय संगठन माना जाता है SCO

बता दें कि SCO का पूरा नाम शंघाई सहयोग संगठन (SCO Summit 2021) है, जो एक स्थायी अंतर सरकारी अंतर्राष्ट्रीय संगठन है. 15 जून 2001 को इसकी स्थापना संघाई में हुई थी. इसकी अधिकारिक भाषाएं रूसी और चीनी हैं. फिलहाल कज़ाकिस्तान, चीन, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान, उज़्बेकिस्तान, भारत और पाकिस्तान इसके सदस्य देशों में शामिल हैं. ईरान अब इसका नया सदस्य बना है. इसे दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा संगठन माना जाता है, वहीं सदस्य देशों के तौर पर देखें तो चीन और रूस के बाद इसका तीसरा सबसे बड़ा सदस्य देश है. साल 2017 में भारत और पाकिस्तान इसके सदस्य बने हैं.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment