Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Saturday / January 22.
Homeन्यूजPM Modi Security Breach: राष्ट्रपति से मिले पीएम मोदी, SC पहुंचा मामला, पढ़ें अब तक क्या-क्या हुआ

PM Modi Security Breach: राष्ट्रपति से मिले पीएम मोदी, SC पहुंचा मामला, पढ़ें अब तक क्या-क्या हुआ

pm modi security breach
Share Now

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक(PM Modi Security Breach) का मामला सामने आने के बाद बवाल खड़ा हो गया है. एक तरफ सियासत की बात हो रही है तो दूसरी तरफ प्रधानमंत्री की सुरक्षा में सेंध पर चिंता जताई जा रही है कि अगर प्रधानमंत्री(Prime Minister) अपने ही देश में सुरक्षित नहीं तो फिर कौन सुरक्षित है. पीएम मोदी(PM Modi) ने भठिंडा एयरपोर्ट से लौटते वक्त एक अधिकारी से ये भी कहा कि अपने सीएम को थैंक्स कहना मैं जिंदा लौट आया. ऐसे में जानिए अब तक इस मामले में क्या हुआ.

पीएम मोदी ने राष्ट्रपति से की मुलाकात

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पंजाब से लौटने के बाद सबसे पहले मुरली मनोहर जोशी से मुलाकात कर उन्हें जन्मदिन की बधाई दी. वहीं आज उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद(President Ram Nath Kovind) से मुलाकात की. राष्ट्रपति कार्यालय की ओर से जानकारी दी है कि पीएम मोदी ने सुरक्षा में चूक(PM Modi Security Breach) से जुड़ी सभी बातें बताईं, जिस पर राष्ट्रपति ने चिंता जाहिर की है. उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी उससे पहले पीएम मोदी से बातचीत कर घटना की जानकारी ली. वहीं दूसरी ओर ये मामला सुप्रीम कोर्ट(Supreme Court) भी पहुंच गया है.

pm modi security

Image Courtesy: ANI.COM

सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल

जानकारी के मुताबिक इस संबंध में जनहित याचिका(PIL) सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई है. याचिका में पंजाब सरकार(Punjab Government) को दिशा-निर्देश देने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है. वहीं पंजाब सरकार ने इस मामले की जांच उच्चस्तरीय कमेटी का गठन किया है. अब कमेटी(High Level Enquiry Commitee) की रिपोर्ट के आधार पर ये पता चल जाएगा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के लिए कौन जिम्मेदार है, क्योंकि अब तक जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक पंजाब के डीजीपी से बातचीत के बाद ही प्रधानमंत्री का काफिला सड़क मार्ग से गुजर रहा था.

पीएम की सुरक्षा में चूक का मामला गंभीर

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत(Ashok Gehlot) ने ट्वीट कर इसे गंभीर मामला बताया है, उन्होंने एसपीजी(SPG) पर सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने लिखा कि पहले भारत के दो प्रधानमंत्रियों की हत्या हो चुकी है जिसके बाद एसपीजी को प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी दी गई है. एसपीजी एक्ट(SPG Act) में विशेष प्रावधान किए गए हैं. राज्य की पुलिस एसीपीजी के आदेश का पालन करती है, बगैर एसपीजी के आदेश के पीएम का काफिला आगे नहीं बढ़ता.

अशोक गहलोत ने एसपीजी पर उठाए सवाल

अशोक गहलोत ने लिखा है कि बिना पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के पीएम को 2 घंटे से ज्यादा की सड़क यात्रा एसपीजी ने क्यों करवाई, पंजाब के सीएम ने कहा कि प्रदर्शन वाले रास्ते की जानकारी पहले दी गई थी तो फिर एसपीजी ने इस रास्ते में काफिले को जाने की अनुमति क्यों दी. यह गंभीर मसला है, इस पर राजनीति की बजाय जिम्मेदारी तय होनी चाहिए.

क्या है पूरा मामला

बता दें कि पंजाब(Punjab) के हुसैनीवाला जाते वक्त कुछ प्रदर्शनकारियों ने पीएम मोदी के काफिले का रास्ता रोकने की कोशिश की. जिसकी वजह से 15-20 मिनट तक काफिला फंसा रहा. गृह मंत्रालय ने इस घटना के बाद तुरंत कहा कि जो जिम्मेदार है उस पर कार्रवाई होनी चाहिए, पीएम के दौरे की पूरी जानकारी पहले से ही पंजाब सरकार को दी गई थी, उसके बावजूद ये चूक हुई है. वहीं बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा(JP Nadda) ने ये कहा कि काफिला जब फंसा तो वहां के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने फोन तक नहीं रिसीव किया.

ये भी पढ़ें: सुरक्षा में चूक पर PM मोदी बोले- मैं जिंदा लौट पाया, अपने सीएम को थैंक्स कहना

कांग्रेस ने आरोपों पर किया पलटवार

हालांकि बाद में चरणजीत सिंह चन्नी(Charanjit Singh Channi) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इन आरोपों का जवाब दिया और कहा कि हम अपने लोगों पर लाठी या गोली नहीं चलवा सकते. उन्होंने ये भी कहा कि प्रधानमंत्री को लौटना पड़ा, इस बात का मुझे बेहद अफसोस है. वहीं कांग्रेस ने ये भी आरोप लगाए कि फिरोजपुर रैली(Firozepur Rally) में भीड़ नहीं जुटने की वजह से प्रधानमंत्री ने अपनी रैली रद्द की.  

ऐसी ही अपडेट्स  के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

No comments

leave a comment