Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Monday / October 18.
Homeन्यूजMann Ki Baat: विश्व नदी दिवस पर पीएम मोदी ने बताया नदियों का महत्व, आर्थिक स्वच्छता का किया जिक्र

Mann Ki Baat: विश्व नदी दिवस पर पीएम मोदी ने बताया नदियों का महत्व, आर्थिक स्वच्छता का किया जिक्र

Mann Ki Baat
Share Now

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मन की बात (Mann Ki Baat) के जरिए देशवासियों को संबोधित किया, ये मन की बात (Mann Ki Baat) का 81वां एपिसोड था, जिसमें पीएम मोदी ने नदियों के महत्व से लेकर गुजरात में मनाए जाने वाले जल-जीलनी एकादशी और बिहार के महापर्व छठ का जिक्र किया. इसके अलावा उन्होंने बापू और खादी का भी जिक्र किया.

पीएम मोदी ने कहा कि वैसे तो हम लोग बहुत सारे दिन याद रखते हैं. तरह-तरह के अपने डे भी मनाते हैं. घर में बच्चे आपको पूरी लिस्ट बता दें कि साल में कब कौन सा डे मनाते हैं, लेकिन एक और डे ऐसा है जो हमें याद रखना चाहिए. ये है वर्ल्ड रिवर डे यानि विश्व नदी दिवस.

पीएम ने मन की बात में (Mann Ki Baat) आगे कहा कि माघ का महीना आता है तो हमारे देश में बहुत लोग पूरे महीने मां गंगा या किसी और नदी के किनारे कल्पवास करते हैं. अब तो ये परंपरा नहीं रही लेकिन पहले के जमाने में तो परंपरा थी कि घर में स्नान करते हैं तो भी नदियों का स्मरण करें.

जल-जीलनी एकादशी का किया जिक्र 

हमारे हिंदुस्तान का जो पश्चिम हिस्सा है, खास कर गुजरात और राजस्थान वहां पानी की बहुत कमी है, कई बार अकाल पड़ता है, इसलिए अभी वहां के सामाजिक जीवन में एक नई परंपरा विकसति हुई है. जैसे गुजरात में बारिश की शुरुआत होती है तो गुजरात में जल जीलनी एकादशी मनाते हैं. मतलब आज के युग में हम जिसे कैच द रेन कहते हैं, ये वही बात है कि जल के एक-एक बूंद को अपने में समेटना.

नमामि गंगे मिशन में सबकी भूमिका 

बारिश के बाद बिहार और पूरब के हिस्सों में छठ का महापर्व मनाया जाता है. मुझे उम्मीद है कि छठ पूजा को देखते हुए नदियों के किनारे, घाटों की सफाई और मरम्मत की तैयारी शुरू कर दी गई होगी. हम नदियों की सफाई और उन्हें प्रदूषण से मुक्त करने का काम, सबके प्रयास औऱ सबके सहयोग से ही कर सकते हैं. नमामि गंगे मिशन भी आज आगे बढ़ रहा है तो इसमें सबकी भूमिका है.

ई-ऑक्शन का पैसा नमामि गंगे में लगेगा 

पीएम मोदी ने मन की बात (Mann Ki Baat) में कहा कि आजकल एक विशेष ई-ऑक्शन (ई-नीलामी) चल रही है. ये इलेक्ट्रॉनिक नीलामी उन उपहारों की हो रही है जो मुझे समय-समय पर लोगों ने दी है. इस नीलामी से जो पैसा आएगा वो नमामि गंगे अभियान को समर्पित किया जाए. उन्होंने कहा कि स्वच्छता के जरिए बापू को श्रद्धांजलि देते रहना है.

ये भी पढ़ें: UNGA में पीएम मोदी ने बिना नाम लिए पाकिस्तान पर साधा निशाना, अफगानिस्तान पर कही ये बड़ी बात

आर्थिक स्वच्छता का भी किया जिक्र 

आजादी के 75वें साल में जब हम आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, हम संतोष से कह सकते हैं कि आजादी के आंदोलन में जो गौरव खादी का था, आज हमारी युवा पीढ़ी खादी को भी वही गौरव दे रही है. आज खादी और हैंडलूम का उत्पादन कई गुना बढ़ा है. वहीं आर्थिक स्वच्छता का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि एक महीने में 355 करोड़ से ज्यादा ट्रांजेक्शन हुए हैं, इससे देश की अर्थव्यवस्था में पारदर्शिता और स्वच्छता आ रही है.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment