Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / September 29.
Homeन्यूजEastern Economic Forum में बोले पीएम मोदी, मझगांव डॉक लिमिटेड ज्वेज्दा के साथ करेगा साझेदारी

Eastern Economic Forum में बोले पीएम मोदी, मझगांव डॉक लिमिटेड ज्वेज्दा के साथ करेगा साझेदारी

PM Modi
Share Now

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रूस में छठे पूर्वी आर्थिक मंच (ईईएफ) को संबोधित किया। इस बीच, पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें पूर्वी आर्थिक मंच को संबोधित करने में खुशी हो रही है, मैं इस सम्मान के लिए राष्ट्रपति पुतिन को धन्यवाद देता हूं. पीएम ने कहा कि रूस-भारत ने समय-समय पर अपनी दोस्ती बनाए रखी है. उन्होंने कहा कि भारत रूस का विश्वसनीय साझेदार है.

पीएम मोदी ने की राष्ट्रपति पुतिन की तारीफ

पीएम मोदी ने कहा कि भारतीय इतिहास और सभ्यता में संगम का एक विशेष अर्थ है. इसका अर्थ है नदियां, लोग, विचारों का संगम या एक साथ आना. मेरे विचार में, व्लादिवोस्तोक वास्तव में यूरेशिया और प्रशांत का ‘संगम’ है,” उन्होंने कहा कि मैं रूस के विकास के लिए राष्ट्रपति पुतिन के दृष्टिकोण की प्रशंसा करता हूं. इस विजन को साकार करने में भारत रूस का एक विश्वसनीय भागीदार होगा.

इससे पहले भी पीएम मोदी ने एक फोरम में हिस्सा लिया था

पीएम मोदी ने कहा कि साल 2019 में मैंने व्लादिवोस्तोक में एक फोरम में हिस्सा लिया था, जिसमें एक्ट फॉर ईस्ट पॉलिसी लॉन्च की गई थी. भारत और रूस घनिष्ठ मित्र हैं. दोनों देशों ने समय-समय पर एक-दूसरे का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि आज मुझे यह बताते हुए प्रसन्‍नता हो रही है कि भारत के सबसे बड़े शिपयार्ड्स में से एक मझगांव डॉक लिमिटेड दुनिया के कुछ सबसे महत्वपूर्ण वाणिज्यिक जहाजों के निर्माण के लिए ‘ज्‍वेज्‍दा’  के साथ साझेदारी करेगा. बता दें कि मझगांव डॉक लिमिटेड भारत का शिपयार्ड है, जबकि ज्वेज्दा रूस का शिपयार्ड है. 

ये भी पढ़ें: भारत और अमेरिका के रक्षा मंत्रालयों के बीच डीटीटीआई परियोजना-समझौते पर हस्ताक्षर

भारत के युवा रूस के विकास में कई तरह से योगदान दे सकते हैं

पीएम ने कहा कि दोनों देश कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई में साथ आए और दोनों देशों ने वैक्सीन के क्षेत्र में दुनिया की मदद की. पीएम मोदी ने कहा कि ऊर्जा क्षेत्र में भारत-रूस की साझेदारी दुनिया को नई दिशा दे सकती है. अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के युवा भी रूस के विकास में कई तरह से योगदान दे सकते हैं.

कोरोना काल में भारत और रूस ने मिलकर काम किया

गौरतलब है कि भारत और रूस ने कोरोना काल में स्पुतनिक-वी पर बड़े पैमाने पर काम किया है. स्पूतनिक-वी भारत में वर्तमान में उपयोग में आने वाले तीन टीकों में से एक है. फिलहाल स्पुतनिक-वी का आयात रूस से किया जा रहा है, हालांकि भारत में इसका प्रोडक्शन भी डॉ. रेड्डी लैब्स की मदद से शुरू हो गया है.

क्या है पूर्वी आर्थिक मंच 

उल्लेखनीय है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन हर साल ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम की मेजबानी करते हैं. ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम कल यानि 2 सितंबर को रूस के व्लादिवोस्तोक में शुरू हुआ था. यह पूर्वी आर्थिक मंच 4 सितंबर तक चलेगा. इस मंच का मुख्य उद्देश्य एशिया-प्रशांत क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग का विस्तार करना और आर्थिक विकास का समर्थन करना है. आपको बता दें कि रूस द्वारा आयोजित ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम का यह छठा संस्करण है. इसकी शुरुआत 2015 में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने की थी.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment