Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / August 16.
Homeन्यूजप्रिंसिपल को बनाया 30 घंटे से ज्यादा देर तक बंधक, पुलिस ने भी दिखाई सख्ती

प्रिंसिपल को बनाया 30 घंटे से ज्यादा देर तक बंधक, पुलिस ने भी दिखाई सख्ती

Share Now

चीन में एक ऐसी घटना सामने आई है, जिसे सुन कर या पढ़ कर आपको आश्चर्य तो जरूर होगा। क्योंकि जो देश कभी अपने खिलाफ कोई सबूत नहीं छोड़ता, वैसे ही वहाँ के स्टूडेंट्स भी अपने प्रिंसिपल को नहीं छोड़ते। ये बात अजीब लगेगी लेकिन सच है। चीन में एक कॉलेज के छात्रों ने अपने प्रिंसिपल को बंधक बनाने की एक घटना हुई है।

पुलिस का कहना है कि उन्हें ये डर था कि उनकी डिग्री को कमतर किया जा सकता है और इसलिए वो विरोध कर रहे थे। ये घटना जियांग्सु प्रांत में हुई जहाँ एक कॉलेज को एक अन्य वोकेशनल संस्थान के साथ विलय किए जाने की योजना पर विचार चल रहा था। जिसे कम प्रतिष्ठित माना जाता है। बताया जा रहा है स्थिति को संभालने के लिए पुलिस को बुलाना पड़ा और कथित तौर पर लाठियों और पेपर स्प्रे के इस्तेमाल से कई छात्र घायल हो गए। चीन में इस तरह के विरोध कम ही होते हैं। वहाँ इस तरह इकट्ठा होकर कोई प्रदर्शन करने के प्रयासों पर प्रशासन की पैनी नज़र रहती है।

SCHOOL PRINCIPAL : GOOGLE IMAGE

प्रिंसिपल को 30 से भी ज्यादा घंटे तक बनाए रखा बंधक

स्थानीय पुलिस ने मंगलवाल को एक बयान जारी कर इस घटना के बारे में बताया कि जियांग्सु प्रांत की नानजिंग नॉर्मल यूनिवर्सिटी के ज़ोंगबेइ कॉलेज में छात्र रविवार को जमा हुए और 55 वर्षीय प्रिंसिपल को कैंपस में ही 30 से भी ज़्यादा घंटे तक बंधक बनाए रखा।

यहाँ पढ़ें : TMC सांसद नुसरत जहां की प्रेग्नेंसी को लेकर विवाद, पति को ही नहीं है खबर

पुलिस के अनुसार छात्रों ने गालियाँ दीं और क़ानून पालन करवाने आए लोगों का रास्ता रोका, और अधिकारियों के ये घोषणा करने के बाद भी कि ये योजना स्थगित की जाती है, उन्होंने प्रिंसिपल को नहीं जाने दिया। जिसके बाद धीरे धीरे भीड़ जमा होने लगी।

GOOGLE IMAGE

पुलिस ने की छात्रों पर हिंसा

सोशल मीडिया पर इस घटना की तस्वीरें पोस्ट की गई हैं जिनमें पुलिस छात्रों को लाठियों से पीटती और उनपर पेपर स्प्रे करती दिखाई दे रही है। समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार एक महिला छात्रा के सिर से ख़ून भी बह रहा था। पुलिस ने बयान के अनुसार कैम्पस में यथास्थिति बहाल करने के लिए सुरक्षाकर्मियों ने क़ानून के हिसाब से आवश्यक कार्रवाई की, और घायलों को फ़ौरन अस्पताल भेज दिया गया।

GOOGLE IMAGE

सोशल मीडिया पर भी चला कैम्पेन

सोशल मीडिया पर पुलिस कार्रवाई को लेकर एक कैम्पेन भी चलाया गया मगर बताया जा रहा है कि इससे जुड़े हैशटैग को मंगलवार दोपहर को माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म वीबो पर ब्लॉक कर दिया गया। लेकिन ट्विटर पर एक वीडियो दिखता है जिसमें हज़ारों नारे लगाते छात्रों को पुलिस ने घेरा हुआ है, और पुलिस उनकी ओर दौड़ती है तथा भीड़ से लोगों को अलग निकालकर खींचती है।

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

 

 

 

No comments

leave a comment