Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / December 2.
Homeन्यूजप्रियंका गांधी ने लिखा पीएम मोदी को पत्र, कहा- अजय मिश्र टेनी को मंत्रिमंडल से करें बर्खास्त

प्रियंका गांधी ने लिखा पीएम मोदी को पत्र, कहा- अजय मिश्र टेनी को मंत्रिमंडल से करें बर्खास्त

Priyanka Gandhi Letter
Share Now

Priyanka Gandhi Letter: पीएम नरेंद्र मोदी शनिवार को उत्तरप्रदेश के दौरे पर रहेंगे। इस दौरान पीएम मोदी का डीजीपी सेमिनार में शामिल होने का कार्यक्रम भी बताया जा रहा है। शुक्रवार को तीनो कृषि कानून वापस लेने के एलान के साथ ही विपक्ष भाजपा पर हमलावर हो गया है। यूपी में कांग्रेस की कमान संभालने वाली प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी को एक पत्र (Priyanka Gandhi Letter) लिखा है। प्रियंका गांधी ने अपने पत्र में कहा है कि पीएम अगर किसानों के प्रति संवेदनशील हैं, तो केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करें। प्रियंका गांधी ने बर्खास्तगी की मांग को लेकर प्रधानमंत्री को दो पन्नों की चिट्ठी लिखी है।

पढ़िए प्रियंका गांधी ने क्या-क्या लिखा है इस पत्र में:

प्रियंका गांधी ने अपने पत्र में कृषि कानूनों का जिक्र करते हुए लिखा कि ”कल आपने 3 काले कृषि कानूनों को किसानों पर थोपने के अत्याचार को स्वीकार करते हुए उन्हें वापस लेने की घोषणा की। लखीमपुर किसान नरसंहार में अन्नदाताओं के साथ हुई क्रूरता को पूरे देश ने देखा। राजनीतिक दबाव के चलते इस मामले में उत्तर प्रदेश सरकार ने शुरुआत से ही न्याय की आवाज़ को दबाने की कोशिश की।

इसके आगे प्रियंका गांधी ने लिखा कि ”मैं लखीमपुर के शहीद किसानों के परिजनों से मिली हूँ। वे असहनीय पीड़ा में हैं। सभी परिवारों का कहना है कि वे सिर्फ अपने शहीद परिजनों के लिए न्याय चाहते हैं और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के पद पर बने रहते हुए उन्हें न्याय की कोई आस नहीं है। लखीमपुर किसान नरसंहार मामले में जाँच की हालिया स्थिति उन परिवारों की आशंका को सही साबित करती है। देश की क़ानून व्यवस्था के ज़िम्मेदार गृह मंत्री श्री अमित शाह जी एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी आपके उसी मंत्री के साथ मंच साझा कर रहे हैं।

गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के साथ मंच साझा ना करें: प्रियंका गांधी

इसके अलावा दो पन्नों के इस पत्र में प्रियंका ने लिखा कि ”आपने यह भी कहा कि देश के किसानों के प्रति आप नेकनीयत रखते हैं। यदि यह सत्य है तो लखीमपुर किसान नरसंहार मामले में पीड़ितों को न्याय दिलवाना भी आपके लिए सर्वोपरि होना चाहिए। लेकिन, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री, श्री अजय मिश्रा टेनी अभी भी आपके मंत्रिमंडल में अपने पद पर बने हुए हैं। यदि आप इस कॉन्फ्रेंस में आरोपी के पिता के साथ मंच साझा करते हैं तो पीड़ित परिवारों को स्पष्ट संदेश जाएगा कि आप अभी भी क़ातिलों का संरक्षण करने वालों के साथ खड़े हैं। यह किसान सत्याग्रह में शहीद 700 से अधिक किसानों का घोर अपमान होगा।”

ये भी पढ़ें: चेन्नई में भारी बारिश ने बरपाया कहर, 3 जिलों में NDRF की 4 टीमें तैनात

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment