Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / October 4.
Homeन्यूजराहुल और प्रियंका से सिद्धू की मुलाकात!, दूर होगा पंजाब कांग्रेस का संकट

राहुल और प्रियंका से सिद्धू की मुलाकात!, दूर होगा पंजाब कांग्रेस का संकट

Punjab Congress dispute
Share Now

Punjab Congress Dispute: कुछ सालों पहले तक देश की सबसे बड़ी राजनैतिक पार्टी कांग्रेस अब हाशिए पर सिमटी जा रही है। देश के ज्यादातर राज्यों में कांग्रेस अपनी सरकार गंवा चुकी है। अब कुछ ही राज्य है, जहां कांग्रेस की सरकार है। पंजाब और राजस्थान में कांग्रेस पिछले कुछ समय से अंतर्कलह (Punjab Congress Dispute) से जूझ रही है। पंजाब में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने वाले है। अगर ये ही हालात रहे तो यहां भी पार्टी हाशिए पर आ जाएगी।

Punjab Congress dispute

राजस्थान-पंजाब में आंतरिक कलह:

पंजाब में सीएम कैप्टेन अमरिंदर सिंह-नवजोत सिंह सिद्धू और राजस्थान में सीएम अशोक गहलोत-सचिन पायलट आमने-सामने है। इन दोनों राज्यों में अंतर्कलह को कैसे दूर किया जाए इस बात का समाधान कांग्रेस हाईकमान को मिलता नज़र नहीं आ रहा है। प्रियंका गांधी और राहुल गांधी लगातार इस मामले पर नज़र बनाए हुए है। लेकिन इन अभी तक कोई हल नहीं निकलता दिखाई दे रहा है।

Punjab Congress dispute

प्रियंका-राहुल नहीं निकाल पा रहे कोई हल:

नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच शुरुआत से ही सब कुछ ठीक नहीं रहा। 2019 में सिद्धू ने अमरिंदर सिंह की कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया था। अब कैप्टेन-सिद्धू के बीच मनमुटाव जारी है इसी सिलसिले में आज सिद्धू राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात करेंगे। इस मुलाकात के यही कयास लगाए जा रहे है कि राहुल-प्रियंका गांधी मिलकर दोनों के बीच चल रहे मनमुटाव को दूर करवा देंगे।  

Punjab Congress dispute

पायलट-गहलोत खेमा फिर आमने-सामने:

वहीं राजस्थान में पिछले साल पायलट-गहलोत खेमा एक-दूसरे के सामने हो गया था। पायलट के भाजपा में जाने की अटकलें भी लगना शुरू हो गई थी। लेकिन फिर अहमद पटेल और अजय माकन ने दोनों के बीच सुलह करवा दी थी। लेकिन अब एक बार फिर पायलट खेमा विरोध में उतर आया है।

यहाँ पढ़ें: आखिर क्या है, कोंकण वॉर गेम्स? ‘HMS Queen Elizabeth’ बनेगा गेम का हिस्सा!

पार्टी के स्टार प्रचारक ही नाराज़:

वहीं पार्टी की नज़र अगले साल होने वाले यूपी चुनाव पर टिकी है। प्रियंका गांधी ने पिछले 2-3 साल में यूपी में काफी मेहनत की है। अब पार्टी के सामने आंतरिक कलह के बीच यूपी चुनाव की तैयारी करना बड़ी चुनौती है। क्योंकि ये चारों  बड़े नेता कांग्रेस के स्टार प्रचारक माने जाते है। अगर इनका मनमुटाव ऐसे ही चलता रहा तो प्रियंका गांधी की मेहनत पर पानी फिर जाएगा।

यहाँ पढ़ें: पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों से मिलेगा छुटकारा! जानिए क्या है नए ऐलान!

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http: //apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment