Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / December 2.
Homeन्यूजयोगी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना को पीएम मोदी दिखाएंगे हरी झंडी, एक्सप्रेस-वे के लिए उतरेंगे लड़ाकू विमान

योगी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना को पीएम मोदी दिखाएंगे हरी झंडी, एक्सप्रेस-वे के लिए उतरेंगे लड़ाकू विमान

On November 16, PM Modi will show green flag to Yogi government's ambitious project, fighter jets will land for Parvanchal Expressway
Share Now

Purvanchal Expressway Up: उत्तर प्रदेश को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब तक की सबसे बड़ी सौगात देने जा रहे हैं. 16 नवंबर पीएम मोदी उत्तर प्रदेश में योगी सरकार की महत्तवाकांक्षी परियोजनाओं में से एक पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की सौगात देने जा रहे हैं. इस परियोजनाओं को योगी सरकार की बड़ी योजनाओं में शामिल किया है. लेकिन इस कार्यक्रम से पहले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर बनी एयर स्ट्रिप पर ट्रायल के लिए 3 लड़ाकू विमान पहुंचे हैं.

खबरों की मानें तो 16 नवंबर को टच एंड गो ऑपरेशन के तहत विमान उतरते ही उड़ेंगे. दरअसल एक्सप्रेस-वे पर सुल्तानपुर में कुरेभार गांव के पास 3.2 किलोमीटर लंबा रन-वे बनाया गया है. बताया जा रहा है मिराज, सुखोई, जगुआ ट्रांसपोर्ट विमान C130J लैंड करेंगा.

इसे भी पढ़े: Up elections 2022 : यूपी के दिवसीय दौरे पर निकले गृहमंत्री अमित शाह, पार्टी कार्यकर्ताओं को देंगे जीत का मंत्र

एक्सप्रेस- वे से बिहार के लोगों को भी मिलेगा फायदा.

पूर्वांचल एक्सप्रेस- वे Purvanchal Expressway Up: से ना सिर्फ यूपी के लोगों को बल्कि बिहार को लोगों को भी काफी फायदा मिलेगा. इस एक्सप्रेस- वे के बनने से दिल्ली के बाहर रहने वाले लोगों को सफर करना आसान हो जाएगा. दरअसल, वो इस वजह से क्योंकि दिल्ली से यमुना एक्सप्रेसवे के जरिए आगरा, फिर उसके बाद आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से लखनऊ तक का सफर पूरा होगा. इसके बाद लखनऊ से पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से गाजीपुर आसानी से पहुंचा जा सकेगा. इसके बाद गाजीपुर से बिहार बॉर्डर की सीमा सिर्फ 20 किमी दूर है.

दरअसल, दिल्ली से यमुना एक्सप्रेसवे के जरिए आगरा, फिर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से लखनऊ तक का सफर पूरा होगा. इसके बाद लखनऊ से पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से गाजीपुर आसानी से पहुंचा जा सकेगा. गाजीपुर से बिहार बॉर्डर की सीमा सिर्फ 20 किमी दूर है.

क्या है एक्सप्रेस-वे की खासियत 

बता दें कि यह रन वे 340.824 किलोमीटर लंबा है. यह एक्सप्रेसवे लखनऊ से शुरु होकर पूर्वी उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में समाप्त होता है. यह उत्तर प्रदेश के महत्तवपूर्ण शहरों वाराणसी, गोरखपुर, इलाहाबाद, अयोध्या के जरिए एक दूसरे को जोड़कर रखता है. इस पूरे प्रजोक्ट के लागत की बात करें तो ये 22,494 करोड़ है. जिसमें अधिग्रहित भूमि की कीमत भी शामिल है. आपको बते दें कि यह एक्सप्रेसवे राज्य के 9 जिलों से होकर निकलेगा. जिसमें फैजाबाद, अंबेडकर नगर, बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर,  आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर से होते हुए निकलेगा. हालांकि अभी इस और आगे बढ़ाया जा सकता है. खबरों की माने तो ये एक्सप्रेसवे अभी छह लेन का है इसे आने वाले समय में आठ लेन का किया जा सकता है.

No comments

leave a comment