Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / July 3.
Homeन्यूजसंसद में नो रिकॉर्ड वाले बयान के बाद अब राहुल गांधी ने दिया किसानों का आंकड़ा, केन्द्र पर साधा निशाना

संसद में नो रिकॉर्ड वाले बयान के बाद अब राहुल गांधी ने दिया किसानों का आंकड़ा, केन्द्र पर साधा निशाना

Rahul Gandhi On NO Record
Share Now

कृषि आंदोलन(Farmers Protest) के दौरान जान गंवाने वाले किसानों को मुआवजा देने की मांग पर सियासत बढ़ गई है. एक ओर किसान मुआवजे की मांग कर रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर सरकार ने बीते दिनों लोकसभा में ये साफ कर दिया कि किसान आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों का कोई रिकॉर्ड सरकार के पास है ही नहीं. जिसे लेकर अब कांग्रेस सांसद राहुल गांधी(Rahul Gandhi) ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधा है.

नो रिकॉर्ड वाले बयान पर राहुल का पलटवार

राहुल गांधी(Rahul Gandhi) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि कुछ दिन पहले संसद में एक सवाल पूछा गया कि सवाल ये था कि क्या केन्द्र सरकार किसानों को मुआवजा देने वाली है, हां या नहीं तो जवाब मिला कि सरकार के पास किसानों का कोई रिकॉर्ड(No Record) नहीं है. उन्हें ये नहीं मालूम कि कौन से ये 700 किसान हैं. रिकॉर्ड नहीं है तो मुआवजा किसका. लेकिन ये बात गलत है.

पंजाब सरकार ने दिए पांच-पांच लाख रुपये

राहुल गांधी ने कहा कि पंजाब की सरकार(Punjab Government) के पास 403 नाम हैं, उन्हें हमने पांच लाख रुपये का मुआवजा दिया है. 152 लोगों को हमने नौकरी दी है, बाकी लोगों को भी हम नौकरी देने वाले हैं. 700 में से 500 तो यहां हैं, हमने पांच सौ लोगों की लिस्ट सरकार को दे दी है. जो बचे हैं, वह पब्लिक रिकॉर्ड से मेरे पास हैं. पहले सरकार वैरिफाई करे फिर उन्हें मुआवजा दे दे. लिस्ट में फोन नंबर और पता भी है. सरकार अगर 25-30 लाख रुपये देना चाहे तो बड़ी बात नहीं है, मानवता के तौर पर इसे दे देना चाहिए.

सरकार चाहे तो हमसे रिकॉर्ड ले ले- राहुल गांधी

राहुल गांधी(Rahul Gandhi) ने आगे कहा कि सरकार के पास रिकॉर्ड है. लेकिन अगर वो फिर भी चाहते हैं तो हमारी लिस्ट ले लें और उन्हें मुआवजा दे दें. दो-तीन उद्योगपतियों के लिए ये कुछ भी कर देते हैं, लेकिन जब किसान-मजदूर की बात आती है तो ये कहते हैं कि ये तो है नहीं. जो किसानों की मांगें हैं, उनका हम समर्थन करते हैं. न्यूनतम मुआवजा तो देना ही चाहिए. प्रधानमंत्री(PM Modi) ने स्वंय माफी मांगी है. आखिर उन्होंने किस बात की माफी मांगी, यही न कि उनके गलत कानून की वजह से 700 लोग मारे गए.

ये भी पढ़ें: संसद में सरकार का जवाब, कहा- ‘आंदोलन के कारण किसानों की मौत का नहीं हमारे पास कोई रिकॉर्ड’

इस सरकार के अंदर मानवता नहीं है- राहुल गांधी

राहुल गांधी(Rahul Gandhi) ने कहा कि वह सोचते हैं कि हम सत्ता में तो हमें सुनने की जरूरत नहीं है किसी की. इनके अंदर मानवता नहीं है. अगर प्रधानमंत्री उनके परिवारों और बच्चों के बारे में सोचें तो एक मिनट में मुआवजा जारी कर देते, लेकिन उन्हें सिर्फ अपनी इमेज और पोजिशन की चिंता है. हमें जो करना था, हमने किया लेकिन मुझे लगता है कि ये कम है. हमारी जिम्मेदारी नहीं है फिर भी हमने दिया इसलिए केन्द्र सरकार(Modi Government) को भी मानवता के आधार पर ऐसा करना चाहिए.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment