Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / November 30.
Homeन्यूजराजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र का बड़ा बयान, जरूरत पड़ी तो दोबारा बन सकता है कृषि कानून

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र का बड़ा बयान, जरूरत पड़ी तो दोबारा बन सकता है कृषि कानून

rajasthan governor
Share Now

Rajasthan Governor: पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा तीनों कृषि कानून वापसी के ऐलान के बाद बयानबाजी लगातार जारी है। विपक्ष तीनों कृषि कानून वापसी को किसान की जीत और केंद्र सरकार हार बता रहा है। वहीं दूसरी तरफ भाजपा के नेता इसको पीएम मोदी का किसान हितों में बहुत बड़ा फैसला बता रहे है। लेकिन इसी बीच कुछ नेतों के ऐसे बयान भी सामने आ रहे है जो किसानों का आंदोलन खत्म कराने में रोड़ा बन सकता है। अब ऐसा ही एक बयान राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र (Rajasthan Governor) ने दिया है। उन्होंने अपने बयान में कहा कि जरूरत पड़ी तो दोबारा कानून बन सकता है।

जरूरत पड़ी तो दोबारा कानून बन सकता है: कलराज मिश्र

बता दें राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र का यह बयान काफी चर्चा का विषय बन गया है। राज्यपाल कलराज मिश्र ने कानून वापस लेने के पीएम मोदी के फैसले की जमकर तारीफ़ भी की। कलराज मिश्रा ने मीडिया से बात में कहा कि ”केंद्र सरकार का निर्णय सराहनीय है। कृषि कानून किसानों के हित में था। सरकार ने किसानों को समझाने की लगातार कोशिश की। फिर भी किसान आंदोलित थे और अड़े थे कि कानून वापस लिया जाए। अंत में सरकार को यह लगा कि कानून वापस ले लिया जाए। फिर आगे इस संबंध में कानून बनाने की जरुरत पड़ी तो दोबारा बनाया जाएगा। फिलहाल इसे वापस लिया जा रहा है।

बिल तो आते-जाते रहते हैं, फिर बन जाएंगे: साक्षी महाराज

विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले उन्नाव से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने कृषि कानून वापसी पर कुछ ऐसा ही बयान देकर सुर्खियां बटोरी थी। पीएम मोदी द्वारा कृषि कानूनों को वापस लेने के सवाल पर साक्षी महाराज ने कहा कि पीएम मोदी का दिल बहुत बड़ा है। बिल तो आते-जाते रहते हैं। बनते-बिगड़ते रहते हैं। फिर बन जाएंगे। लेकिन पीएम मोदी के लिए राष्ट्र पहले है, इसलिए उन्होंने बिल वापस लेने की बात कही है।

गौरतलब है कि पिछले करीब एक साल से आंदोलनरत किसानों की मांग को देखते हुए पीएम मोदी ने शुक्रवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में तीनो कृषि कानूनों के वापसी का ऐलान किया। जिसके बाद आंदोलन कर रहे किसानों ने जमकर ख़ुशी मनाई। माना जा रहा है कि अब जल्द ही किसान तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन को समाप्त कर सकते है। इसके बाद वो अपनी मांगें केंद्र सरकार के सामने रख सकते है।

ये भी पढ़ें: अखिलेश यादव ने साधा भाजपा पर निशाना, कहा- काले कानून की वापसी अंहकार की हार

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment