Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / October 4.
Homeन्यूजविधायक हेमाराम चौधरी का इस्तीफा मंजूर नहीं, स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने दी नई जिम्मेदारी

विधायक हेमाराम चौधरी का इस्तीफा मंजूर नहीं, स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने दी नई जिम्मेदारी

Rajasthan News
Share Now

Rajasthan News: कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक हेमाराम चौधरी का इस्तीफा मंजूर नहीं होगा। विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने हेमाराम चौधरी को नई जिम्मेदारी देकर इसी बात के संकेत दे दिए हैं। विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी ने विधानसभा (Rajasthan News) की 19 कमेटियों का पुनर्गठन किया है। हेमाराम को विधानसभा की राजकीय उपक्रम समिति का सभापति बनाया गया है। बताया जा रहा है कि अगर स्पीकर उनका इस्तीफा मंजूर करते तो विधानसभा समिति का सभापति नहीं बनाते।

हेमाराम ने 18 मई को भेजा था इस्तीफा:

हेमाराम ने 18 मई को ई-मेल और डाक से इस्तीफा भेजा था। स्पीकर ने लॉकडाउन खत्म होने के बाद उन्हें सात दिन में समय लेकर पेश होने को कहा था। पिछले दिनों हेमाराम जयुपर आए, लेकिन विधानसभा सचिवालय ने अभी मोडिफाइड लॉकडाउन होने का तर्क देकर लॉकडाउन पूरी तरह खत्म होने के बाद ही आने को कहा था।

यहां पढ़ें: इस दिन होगा मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार!, इनको मिल सकती है जगह

हेमाराम चौधरी को बनाया राजकीय उपक्रम समिति का सभापति:

राजकीय उपक्रम समिति का सभापति बनाया हेमाराम चौधरी को विधानसभा अध्यक्ष डॉक्टर सीपी जोशी ने विधानसभा में 4 वित्तीय समितियों और 15 अन्य समितियों का गठन साल 2021-22 के लिए किया है। पूर्व मंत्री और नाराजगी के चलते इस्तीफा देने वाले विधायक हेमाराम चौधरी को राजकीय उपक्रम समिति का सभापति बनाया गया है।

यहां पढ़ें: आखिर क्यों दिल्ली पहुंचे गहलोत सरकार के तीन विधायक, हो सकता है बड़ा उलटफेर!

जानें किसको किस समिति में दी गई जगह:

इस समिति में बाड़मेर जिले से ही पचपदरा विधानसभा क्षेत्र से आने वाले मदन प्रजापत के साथ विधायक जगदीश चंद्र, रुपाराम, वीरेंद्र सिंह, निर्मला सहरिया, राजेंद्र राठौड़, रामलाल शर्मा, विठ्ठल शंकर अवस्थी, रामप्रताप कासनिया, कांति प्रसाद मीणा और लक्ष्मण मीणा को भी जगह दी गई है। इसके साथ ही पायलट कैंप के दीपेंद्र सिंह शेखावत को सदाचार समिति का सभापति बनाया है तो बृजेंद्र ओला को प्रश्न एवं संदर्भ समिति का सभापति बनाया है। पायलट कैंप को छोड़कर सबसे पहले जयपुर लौटने वाले विधायक भंवरलाल शर्मा को भी सरकारी आश्वासनों संबंधी समिति का सभापति बनाया गया है।

हेमाराम चाैधरी लंबे समय से नाराज:

हेमाराम चौधरी सचिन पायलट खेमे के विधायक हैं। पिछले साल पायलट खेमे की बगावत के समय हुई बाड़ेबंदी में भी वे 19 विधायकों के साथ बाड़ेबंदी में थे। विधानसभा के बजट सत्र के दाैरान भी हेमाराम ने तल्ख तेवर दिखाते हुए सरकार पर उनकी आवाज दबाने और उनके विधानसभा क्षेत्र में विकास के कामों में भेदभाव का आरोप लगाया था। हेमाराम चौधरी सरकार बनने के बाद से ही असंतुष्ट चल रहे हैं, उनकी जगह हरीश चौधरी को मंत्री बनाया गया था तब से वे नाराज हैं। 14 फरवरी 2019 को भी इस्तीफा दिया था, लेकिन तब मान गए थे।

यहां पढ़ें: CM तीरथ सिंह रावत के इस्तीफे के बाद कौन होगा उत्तराखंड का नया मुख्यमंत्री..?

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment