Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Friday / August 12.
Homeन्यूजट्विटर पर ट्रेंड हुआ Reject_Zomato, जिस वजह से तमिलनाडु में हिंदी भाषा को लेकर विरोध, कंपनी ने मांगी माफी

ट्विटर पर ट्रेंड हुआ Reject_Zomato, जिस वजह से तमिलनाडु में हिंदी भाषा को लेकर विरोध, कंपनी ने मांगी माफी

Reject_Zomato
Share Now

Zomato फूड ऐप एक बार फिर विवादों में आया है. ट्विटर पर यूजर्स फूड डिलीवरी ऐप Zomato का विरोध कर रहे हैं. #Reject_Zomato  नामक हैशटेग, ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है. कंपनी के एक एग्जीक्यूटिव के साथ एक ग्राहक की चैट के स्क्रीनशॉट वायरल हुए थे जिसके बाद अब  Zomato ने माफी मांग ली है.

दरअसल तमिलनाडु में रहने वाले एक व्यक्ति ने आरोप लगाया है कि Zomato के अधिकारियों ने उसे हिंदी सीखने के लिए कहा है. स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए विकास नाम के शख्स ने लिखा, ‘कस्टमर केयर का कहना है कि मुझे हिंदी नहीं आती, इसलिए मुझे रिफंड नहीं दिया गया. उसने मुझे झूठा भी कहा. आरोप है कि Zomato के कर्मचारी ने यह भी कहा कि, ”हिंदी राष्ट्रभाषा है और हर किसी को थोड़ी-बहुत आनी चाहिए.”

फिर हुआ ये कि बहुत सारे लोग Zomato के साथ चैट में एक ही सवाल पूछने लगे, क्या हिंदी राष्ट्रभाषा है? दक्षिणी राज्यों में हिंदी थोपने के खिलाफ विवाद पहले से ही चल रहा है, और तब सोशल मीडिया पर ट्रेंड शुरू हो गया था Zomato को  सिखाने के लिए. ऐप को अनइंस्टॉल कर दिया जा रहा है और Zomato को आगे आने और स्पष्टीकरण देने के लिए कहा गया.

Reject_Zomato ट्विटर ट्रेंड

#Reject_Zomato ट्रेंड की शुरुआत विकास नाम के एक यूजर के एक ट्वीट से हुई. विकास के मुताबिक उसने जो ऑर्डर दिया उसमें से एक सामान सही नहीं निकला. उन्होंने ऐप पर कस्टमर केयर से चैट करना शुरू किया. ग्राहक ने गायब सामान का रिफंड मांगा तो स्क्रीनशॉट के मुताबिक एग्जीक्यूटिव ने उससे कहा कि होटल व्यवसायी उनकी भाषा नहीं समझते हैं. विकास ने कहा, “उन्हें इसके बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है”. उन्होंने लिखा, “अगर तमिलनाडु में Zomato उपलब्ध है, तो उनके पास भाषा समझने वाले लोग होने चाहिए”. जवाब में, Zomato के कार्यकारी ने कहा, “हिंदी हमारी राष्ट्रीय भाषा है. जो कि बहुत ही आम बात है, हर किसी को थोड़ी बहुत हिंदी जाननी चाहिए’.

Zomato ने सार्वजनिक रूप से मांगी माफी

सोशल मीडिया पर Zomato को रिजेक्ट करने के विवाद ने Zomato के लिए काफी तनावपूर्ण स्थिति पैदा कर दी. अपने कार्यकारी की ओर से माफी मांगते हुए, Zomato ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट हैंडल पर सार्वजनिक रूप से माफी मांगी है और अनुरोध किया है कि #reject_zomato हैशटैग को और बढ़ावा नहीं दिया जाए. “मुझे हमारे ग्राहक सेवा अधिकारियों के व्यवहार के लिए खेद है,” उन्होंने लिखा. ये रहा हमारा आधिकारिक बयान. हमें उम्मीद है कि आप हमें फिर से अपनी सेवा का मौका देंगे. कृपया Zomato को रिजेक्ट न करें.

Zomato के खिलाफ शुरू हुआ विवाद

Zomato ने विकास के ट्विटर पर उनका मोबाइल नंबर मांगा. एक ट्वीट में विकास ने लिखा, “हम इस घटना की सार्वजनिक माफी चाहते हैं”. कंपनी के कस्टमर केयर ने जवाब दिया कि फोन पर बातचीत के बाद विकास संतोषजनक था. हालांकि, तब तक विकास का ट्वीट वायरल हो चुका था. लोगों ने उनकी चैट के स्क्रीनशॉट शेयर कर Zomato पर हिंदी थोपने का आरोप लगाया. तमिलनाडु में कुछ लोगों को कुछ ज्यादा ही गुस्सा आया.

देखें ये वीडियो: Reject Zomato ट्विटर पर हो रहा ट्रेंड, जानें क्या है पूरा मामला!

यह पहली बार नहीं है जब Zomato ऐप विवादों में फसा हो

दो साल पहले Zomato को सोशल मीडिया पर काफी गुस्से का सामना करना पड़ा था. एक ग्राहक ने तब शिकायत की कि दूसरे धर्म के डिलीवरी बॉय को सौंपा गया है. ग्राहक ने हिंदू डिलीवरी बॉय की मांग की. Zomato ने ट्विटर पर एक स्क्रीनशॉट पोस्ट करते हुए ट्वीट किया, “खाने का कोई धर्म नहीं होता. खाना एक धर्म है’. फिर Zomato के खिलाफ चलन शुरू हुआ. कई यूजर्स ने तब पूछा कि Zomato ने ‘जैन’ को ‘हलाल’ का टैग क्यों दिया है.

ये भी पढ़ें: विराट कोहली के नये वैक्स स्टैच्यू का हुआ दुबई के मैडम तुसाद में अनावरण

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment