Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Tuesday / October 4.
Homeन्यूजइजरायल के विदेश मंत्रालय के महानिदेशक ने एस.जयशंकर के दौरे से पहले दिया बड़ा बयान, भारत को बताया रणनीतिक साझेदार

इजरायल के विदेश मंत्रालय के महानिदेशक ने एस.जयशंकर के दौरे से पहले दिया बड़ा बयान, भारत को बताया रणनीतिक साझेदार

s jaishankar
Share Now

इजरायल के विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को भारत को एक रणनीतिक साझेदार और करीबी दोस्त बताते हुए दशहरे की शुभकामनाएं दीं. इजरायल के विदेश मंत्रालय का यह बयान विदेश मंत्री एस जयशंकर (S. Jaishankar) की इजरायल यात्रा से पहले आया है. इजरायल के विदेश मंत्रालय के राजदूत और महानिदेशक एलन उशपिज ने ट्वीट कर दशहरे की बधाई दी और 17 अक्टूबर को विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर के इजरायल दौरे की पुष्टि की.

पेगासस जासूसी मामले पर करेंगे चर्चा

उम्मीद की जा रही है कि दोनों देश पेगासस जासूसी मामले पर भी चर्चा करेंगे. उशपीज ने ट्वीट किया, “जयशंकर की इजरायल की महत्वपूर्ण यात्रा की पूर्व संध्या पर, मैं आप सभी को दशहरा की शुभकामनाएं देता हूं.” भारत एक रणनीतिक साझेदार और इजरायल का करीबी दोस्त है. अपनी इज़राइल यात्रा के दौरान, जयशंकर राष्ट्रपति इसाक हर्ज़ोग, प्रधानमंत्री नफ़्ताली बेनेट और विदेश मंत्री गैबी अशकेनाज़ी सहित शीर्ष इज़राइली नेताओं से मिलेंगे.

अगस्त में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने इजरायली समकक्ष बेनेट के साथ बात की और दोनों नेताओं ने आपसी सहयोग को और विस्तारित करने की संभावना पर सहमति व्यक्त की. इस दौरान ये निर्णय लिया गया कि दोनों देशों के विदेश मंत्रालयों को भारत-इजरायल रणनीतिक साझेदारी को और समृद्ध करने के लिए एक रोडमैप तैयार करना चाहिए.

पीएम मोदी ने दी बधाई

टेलीफोन पर बातचीत के दौरान, पीएम मोदी ने जून में बेनेट को फिर से इजरायल के प्रधानमंत्री के रूप में कार्यभार संभालने पर बधाई दी. प्रधानमंत्री मोदी ने जोर देकर कहा कि भारत कृषि, जल, रक्षा, सुरक्षा और साइबर सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में इजरायल के साथ अपने मजबूत सहयोग को बहुत महत्व देता है. पेगासस जासूसी कांड अभी भी भारत में एक प्रमुख मुद्दा है. जयशंकर का दौरा ऐसे समय में भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है जब विपक्ष लगातार इस मुद्दे पर सरकार को घेर रहा है.

ये भी पढ़ें: सात कंपनियों के निर्माण से डॉ. कलाम के मजबूत भारत के सपने को मिलेगी ताकत: पीएम मोदी

इसी के साथ संसद के मानसून सत्र के दौरान विपक्ष ने लगातार इस मुद्दे को उठाया और संसद के काम में बाधा डालकर संसद को उसी तरह चलने नहीं दिया. उसके बाद इस मुद्दे को लेकर राज्यसभा में भारी बवाल हुआ था. इतिहास में पहली बार देश के 8 केंद्रीय मंत्रियों ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस की. इजरायल के विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को भारत को एक रणनीतिक साझेदार और करीबी दोस्त बताते हुए दशहरे की शुभकामनाएं दीं.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

 

 

 

 

 

No comments

leave a comment