Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / December 2.
Homeन्यूजसंयुक्त किसान मोर्चा की बैठक टली, अब कल आगे की रणनीति बनाएंगे किसान

संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक टली, अब कल आगे की रणनीति बनाएंगे किसान

Samyukat Kisan Morcha Meeting
Share Now

 राजधानी दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर डटे किसानों की आज होने वाली बैठक(Farmers Meeting) टल गई है. अब किसान कल आगे की रणनीति बनाएंगे. इससे पहले यह ख़बर सामने आई थी कि आज होने वाली बैठक में किसान आगे को लेकर प्लान बताएंगे और इस बात पर चर्चा होगी कि आंदोलन खत्म होगा या अभी जारी रहेगा.

कल होगी संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक

किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने जानकारी दी है कि अब संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक(Samyukat Kisan Morcha Meeting) कल होगी. जिसमें हम एमएसपी पर चर्चा करेंगे. साथ ही किसानों के खिलाफ दर्ज किए मुकदमों को लेकर भी चर्चा होगी. मतलब साफ है कि किसानों का आंदोलन अभी खत्म नहीं होने वाला.

किसान फिलहाल घर नहीं लौटने वाला

वहीं तीनों कृषि कानूनों की वापसी(Farm Laws Repeal) के ऐलान के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर डटे भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने भी साफ कर दिया है कि किसान अभी फिलहाल घर नहीं लौटने वाला. राकेश टिकैत(Rakesh Tikait) ने कहा है कि आंदोलन अभी जारी रहेगा, जब तक संसद में इसे वापसी का कानून पारित नहीं हो जाता, किसान यहीं रहेगा.

अब एमएसपी पर कानून बनाने की मांग

इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा है कि हमारी मांग है कि एमएसपी(MSP) पर कानून बनाओ. बता दें कि एमएसपी किसी भी फसल पर मिलने वाला वह निर्धारित मूल्य है जिसे सरकार तय करती है. उससे कम मूल्य पर फसल नहीं खरीदी जा सकती. किसान लंबे समय से एमएसपी की मांग कर रहे हैं.

स्वामीनाथन आयोग के फॉर्मूले को लागू करने की उठती रही है मांग

इसके अलावा मांग ये भी उठ रही है कि स्वामीनाथन आयोग के फॉर्मूले के हिसाब से एमएसपी(MSP) तय हो, लेकिन उस पर अब तक किसी भी सरकार ने कोई चर्चा नहीं की है. राकेश टिकैत ने ये साफ कर दिया है कि देश में राजशाही नहीं है, टीवी पर सिर्फ ऐलान कर देने से किसान घर नहीं जाएगा बल्कि सरकार को किसानों से बात करनी पड़ेगी.

ये भी पढ़ें: जानिए, क्या हैं वो तीन कृषि कानून जिसे रद्द करने की प्रक्रिया 29 नवंबर से शुरू होने वाले संसद सत्र में पूरी की जाएगी

किसानों-मजदूरों के साथ धोखा नहीं होना चाहिए- नरेश टिकैत

वहीं भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत(Naresh Tikait) ने कहा है कि एकजुटता ही किसानों की ताकत है, कुछ लोगों ने आंदोलन को खराब करने की कोशिश की लेकिन अन्नदाता अड़े रहे. किसानों-मजदूरों के साथ धोखा नहीं होना चाहिए.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment