Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / September 25.
Homeनेचर एंड वाइल्ड लाइफजाने फ्लेंमिंगो के गुलाबी पंख का रहस्य

जाने फ्लेंमिंगो के गुलाबी पंख का रहस्य

flamingo
Share Now

फ्लेमिंगो गुजरात का राज्य पक्षी. फ्लेमिंगो (Flamingo) को गुजरात में मोटो हंज और सुरखाब के नाम से जाना जाता है. जब की हिन्दी में मराल पक्षी के नाम से जाना जाता है. फ्लेमिंगो (Flamingo) शब्द पुर्तगाली या स्पैनिश flamengo से आता है. जिसका अर्थ होता है flame-colored.  Phoenicopterus  ग्रीक से phoinikopteros आता है जिसका शाब्दिक अर्थ है लाल रंंग वाले पंख.

Flamingo stand up

Image Credit-Paresh Solanki

पक्षियों की प्रजाति में फ्लेमिंगो (Flamingo) सबसे पुराने पक्षियों में से एक है. सभी पक्षियों की चोंच में ग्रेटर फ्लेमिंगो (Flamingo) की चोंच सबसे अलग होती है. जिससे यह प्रजाति सबसे ज्यादा खारे पानी को भी सहन कर सकते है. दूसरे बर्ड की प्रजाति जिस पानी में मात खा जाते है. वहां फ्लेमिंगो सर्वाइव करते है. खारे पानी में सर्वाइव करने का योगदान फ्लेमिंगो के सॉल्ट ग्लेन्ड को जाता है. चोंच खारे पानी में डुबोकर फ्लेमिंगो अपना भोजन ढूँढते है. पानी में भोजन ढूँढते वक्त मराल अपने पैरों का बखूबी उपयोग करते है. पानी को पैरो से हिलाते है जिससे चोंच की ओर क्रस्टेशियंस, किडे,मोलस्क,श्रिम्प और अल्गी पास आ जाते है. अप-साइट होकर फ्लेमिंगो भोजन करते है.  भोजन ढूंढने में फ्लेमिंगो की जीभ पानी को अंदर और बाहर पंप करने में मदद करती है.

यहाँ भी पढ़ें: इस वजह से माउंटेन लायन का नाम है गिनीज बुक वर्ल्ड रेकोर्ड में

भोजन ढूंढते हुए कई प्रकार की तकनीक का उपयोग करते है.

  1. चलते-चलते भोजन ढूंढते है. जिसे walking and filtering or grubbing कहा जाता है.  
  2. पानी गहरा हो तब पानी में डुबकी लगाकर अपनी भोजन ढूंढते है.
  3. Stamping इस तकनीक में पानी में पीछे होता हुआ गोल धुम के अपनी भोजन ढूँढता है. 
  4. Skimming फ्लेमिंगो के खाने की इस तकनीक में फ्लेमिंगो पानी की सतह पर चोंच चलाकर भोजन ढूँढता है. 
  5. शरीर को उपर से नीचे झुककर. पैर को ऊंचा करके भोजन ढूंढते है. इस मैथड को  up-ending कहते है.
Folk of Flamingo

Image Credit-Paresh Solanki

यहाँ भी पढ़ें क्या चूहा बचा सकता है हजारों लोगों की जान ?

कैसे मिलता है पंखों को गुलाबी रंग

फ्लेमिंगो के पंखों का रंग प्राणी जगत के सबसे खुबसुरत रंगों में से एक है. पंखों पर गुलाबी carotenoids नामक तत्व से आता है. और यह तत्व पिगमेन्ट इफेक्ट करके पंखों को गुलाबी बनाता है.  plankton, नमकीन चिंराट और नीले-हरे शैवाल में से यह  कैरोटेनॉइड फ्लेंमिंगो को मिलता है, जिससे फ्लेंमिंगो के पंखों का रंग गुलाबी होता है.

couple Flamingo

Image Credit-Paresh Solanki

फ्लेमिंगो (Flamingo) में से ग्रेटर फ्लेमिंगो सबसे बड़ी प्रजाति का पक्षी है.  जिसकी लंबाई  110–150 cm  तक होती है और इसका वजन 2 से 4 किलोग्राम तक हो सकता है. फ्लेमिंगो  30-40 साल तक अपने कुदरती आवास में जिंदा रह सकते है. फ्लेमिंगो अपने साथी की तलास में यह डांस करते है. जब मादा को नर का डांस पसंद आता है तब मादा नर के साथ पूरी जिंदगी रहती है.  यह फ्लेमिंगो विश्व के सबसे ज्यादा लंबे सफर करने वाले जीवों में से एक है. फ्लेमिंगो Middle East और आफ्रिका से इंडिया में माईग्रेट करते है.

 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

No comments

leave a comment