Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / September 29.
Homeन्यूजअफगानी महिलाओं की ये 5 तस्वीरें जिसको देखकर आपकी आंखें हो जाएंगी नम।

अफगानी महिलाओं की ये 5 तस्वीरें जिसको देखकर आपकी आंखें हो जाएंगी नम।

The helplessness of the women of Afghanistan
Share Now

अफगानिस्तान, इन दिनों इस देश से ऐसी तस्वीरे सामने आ रही हैं. जो हमें हमारी आजादी का अहसास करा रही है. इस देश में रह रहें लोगों के दर्द को महसूस कर रही हैं. ये तस्वीरें महज तस्वीरे नहीं हैं बल्कि इन तस्वीरों में शामिल लोग कितने बेबस और लाचार है उसका जीता जागता उदहारण दुनिया के सामने पेश कर रही है. जिस दिन हम अपनी आजादी के जश्न में मशरुफ थे उसी दिन ठीक उसी दिन तालिबान अफगानिस्तान की महिलाओं (Afghanistan Women’s )को गुलाम बनाने की एक नई कहानी लिख रहा था. और अपने इन्हीं इरादों को पूरा करने के लिए जब तालिबान काबुल पहुंचा तो मानों वहां रह रही महिलाओं की आजादी का अंत हो गया. इस देश से कोहराम की ऐसी तस्वीरे निकलकर सामने आई जिसने बाकी देशों को हैरान कर दिया. डर और खौफ का मंजर आंखों से निकालना मुश्किल सा हो गया क्या मर्द -औरत, क्या बच्चे बुजुर्ग हर किसी के जहन में अपने ही देश से भागने की जिद नजर आई. जैसे तालिबानी हुकूमत से वो सादियों से वाकिफ हो. इसी बीच अब खबर ये है कि इन दिनों तालिबान में बुर्के की कीमत और बिक्री दोनों में बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

ये भी पढ़े: तालिबान पर ‘वेट एंड वॉच’ के मोड में भारत, विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने दी जानकारी

हम यहां तालिबान के इतिहास की बात नहीं करेंगे ना ही आपको अफगानिस्तान में उनके कब्जे के कारणों के बारे में बताएंगे. ना ही तालिबानी हुकूमत और ना ही राजनीति से जुड़ी किसी भी बात का जिक्र करेंगे. क्योंकि इससे भी जरुरी एक प्रश्न हैं वो प्रश्न है महिलाओं से जुड़ा. कि आखिर क्यों हर मुसीबत की गाज महिलाओं पर ही गिरती है. हर देश में नाम, चेहरे राजनीति, हुकूमत सब बदल जाता है नहीं बदलता तो महज महिलाओं (Afghanistan Women’s ) के साथ होने वाला अत्याचार. 

                                                                                                                            अफगान महिलाओं पर जुल्म की तस्वीरें

पहली तस्वीर :जान आफत में डाल दुधमुंहे बच्चे को नाटो सैनिक के हाथों सौंपती बेचारी अफगान मां की है.

दूसरी तस्वीर: एयरपोर्ट के दरवाजे पर गुहार लगाती बिलखती लड़कियों की है

वहीं तीसरी तस्वीर: यदि 20 दिन की मोहलत है तो ये जिंदगी आजादी के नाम होगी के नारे लगाती अफगानी लड़कियों की है.

चौथी तस्वीर: अज्ञातवास में जीती आतंक और यातनाओं की दास्तानें पहुंचाती महिलाओं की है

आखिरी और पांचवी तस्वीर: यातना और प्रताड़ना की शिकार असहाय महिलाओं की है.

 

महज ये पांच तस्वीरें ही नहीं हैं बल्कि ऐसी ना जाने कितनी दर्दनाक तस्वीरे हर रोज अफगानिस्तान पर तालिबान के जुल्म की हकीकत को बया करती नजर आती हैं. जो वहां रह रही महिलाओं पर तालिबान (Afghanistan Women’s) की ज्यादत्तियों को दुनिया के सामने पेश करती हैं. अब सवाल बस यही है कि ना जाने ऐसे जुल्म कब तक इन महिलाओं को सहने पड़ेंगे और ना जाने कब तब हमारी आंखों को ऐसी तस्वीरे देखने को मिलेंगी.

 

 

No comments

leave a comment