Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Friday / August 12.
Homeनेचर एंड वाइल्ड लाइफइंसान के साथ-साथ दूसरे जीवों के लिए भी खतरे की घंटी

इंसान के साथ-साथ दूसरे जीवों के लिए भी खतरे की घंटी

Share Now

क्लाईमेंट चेंज दुनिया के हर एक जीव के लिए खतरा है. जो हर किसी को असर करता है. इसी क्लाईमेंट चेंज का असर अब दुनिया के जीवों में देखने को मिल रहा है. इंसान के कारण दूसरे जीवों में Evolution of natural selection देखने को मिल रहा है. हाल ही में एक स्टडी हुई उसमें वैज्ञानिकों ने जीवों में हो रहे (Shape shifting) बदलाव को पाया. जलवायु परिवर्तन जैसी इंसानी आफत से अब जानवर भी बुरी तरह से प्रभावित हो रहे है. कुछ जीव अपने आवास बदलने पर मजबूर हो गए तो कुछ जीव अपने शरीर में बदलाव करने लगे है.

Shape-shifting A male gang-gang cockatoo

Shape-shifting to adapt to warmer climates

इस प्रकार के (Shape shifting) बदलाव यानी Shape-shifting बहुत सारे जीवों में देखा गया है. जलवायु परिवर्तन के कारण बहुत सारे जीव अपने अंगों में (Shape shifting) बदलाव कर रहे हैं, ताकी बेहतर काम कर सका एवं अपने आप को इस धरती पर टिका सके.

Shape shifting

ट्रेड्स इन इकोलॉजी एंड इवोल्यूशन जर्नल में यह संशोधन प्रकाशित हुआ है. गर्म खून वाले जीव अपने अंगों के आकार में Shape shifting कर रहे हैं. किसी के पैर तो किसी के कान बड़े हो रहे है. जिससे उनके शरीर का तापमान गर्म होती इस धरती के मुताबिक ढल सके.

यहाँ भी पढ़ें : पौधा जो भारतीय वेटलैंड को कर रहा है बहुत तेजी से नष्ट

बढता तापमान और ज्यादा बारिश के कारण Galapagos finches में बदलाव आया है. Crested shrike –tit, Mulga parrot, Gang-gang cockatoo, Australian whistlers, Grey shrike-thrush जैसे अनेक पक्षियों की चोंच में बढोतरी हुई है. पहले के मुकाबले इनकी चोंच की साइज में इजाफा हुआ है. सन 1871 की तुलना में ऑस्ट्रेलिया के तोतों की प्रजातियों की चोंच 4 से 10 प्रतिशत चोंच बड़ी हुई है. Mice,albino mice, Swine जैसे जीवों की पूंछ की लंबाई बढ रही है.

यहाँ भी पढ़ें : भारतीय वन्यजीवों को आतंकी कुत्तों से खतरा, आवारा कुत्तों से वन्यजीवों की आबादी खतरे में   

अंग के आकार क्यों बदले ?

बदलता जलवायु परिवर्तन जानवरों के लिए बहुत सारे चेलेंज लाता है. बदलता जलवायु जानवरों के कार्य को भी प्रभावित कर रहा है. बदलाव के साथ-साथ आहार में भी बदलाव आता है जिससे इनकी चोंच में बदलाव होता है. तापमान बदलने के साथ-साथ जीवों के शरीर के अंगों में भी बदलाव आता है.जलवायु परिवर्तन का असर शरीर के अंगों में आसानी से देखा जा सकता है. पक्षियों की चोंच पहले से ज्यादा गर्म अब दिख रही है. यह जीवों में हो रहा बदलाव इंसान के लिए संकेत है. इंसान को जलवायु परिवर्तन को समजना चाहिए. जिससे लोगों के साथ-साथ दूसरे जीवों को भी बचा सके.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

No comments

leave a comment