Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / September 25.
Homeन्यूजअफगानिस्तान में ‘तालिबान राज’ से क्यों मची है अफरातफरी, लंबी है दर्दनाक सजा की फेहरिस्त

अफगानिस्तान में ‘तालिबान राज’ से क्यों मची है अफरातफरी, लंबी है दर्दनाक सजा की फेहरिस्त

TALIBANI
Share Now

पुरुषों के लिए दाढ़ी, महिलाओं के लिए बुर्का, इसके अलावा म्यूजिक और सिनेमा पर ताला समेत कई ऐसे फरमान हैं, जिनका 21वीं सदी से कोई लेना-देना नहीं है. अब आलम ये है कि अफगानिस्तान में तालिबान (Taliban) का राज सुनते ही लोगों को तालिबानी शासन और तालिबानी सजा का दौर याद आ रहा है.

 

काबुल एयरपोर्ट से अफरातफरी की कई तस्वीरें सामने आई हैं, जिनमें लोग आपको प्लेन के सामने दौड़ते नजर आ रहे हैं. लोग प्लेन के पहिए और जिसे जहां जगह मिल रही है वो लटकvs दिख रहा है, सैकड़ों की संख्या में लोग प्लेन के अंदर तो हैं ही उससे ज्यादा कहीं उसके बाहर दिखाई दे रहे हैं. ऐसे लगता है मानो हर हाल में लोग अफगानिस्तान छोड़ना चाह रहे हैं.  

ऐसे में सवाल ये है कि आखिर तालिबानियों को लेकर अफगानिस्तान की जनता के बीच इतनी अफरातफरी क्यों मची है. आखिर क्यों लोग ये चाहते हैं कि भले ही उन्हें मुल्क छोड़ना पड़े लेकिन वो तालिबान के शासन में न रहें. इस बात की जानकारी के लिए आपका ये जानना जरूरी है कि आखिर उनकी कायदे-कानून, और सजा क्या हैं. पहले नजर डालते हैं कि तालिबानियों की ओर से लगाए जाने वाले बैन यानि प्रतिबंध पर. तालिबानी शरिया कानून को मानते हैं, जिसके तहत कई कायदे-कानून जारी किए जाते हैं, जिन्हें आप और हम फरमान कहते हैं.

 

तालिबानियों का शरिया कानून (Sharia Law)

  • अफगानी पुरुषों के लिए दाढ़ी और महिलाओं के लिए बुर्का
  • टीवी, म्यूजिक और सिनेमा पर पूरी तरह से पाबंदी
  • 10 साल के बाद स्कूल नहीं जा सकतीं लड़कियां
  • महिलाओं को नौकरी करने की इजाजत नहीं
  • अकेले घर से बाहर निकलने वाली महिलाओं का बहिष्कार
  • महिलाएं नहीं बन सकतीं डॉक्टर या नर्स

 

ये भी पढ़ें: क्या अफगानिस्तान का बदलेगा नाम ? पढ़ें अब तक के बड़े अपडेट

फरमान नहीं मानने पर ऐसी सजा 

  • महिलाओं को निर्दयता से मारना-पीटना
  • घर में गर्ल्स स्कूल चलाने पर गोली मार देना
  • प्रेमी के साथ भागने वाली महिलाओं को भीड़ में पत्थर मारना
  • बुर्का से पैर दिखने पर महिलाओं को पीटना
  • पुरुष डॉक्टर्स के महिलाओं के चेकअप पर पाबंदी
  • महिलाओं को घर में बंदी बनाकर रखना

ये तालिबानियों के वो निर्दयी फरमान (Brutal Punishment) हैं, जिसके बारे में सुनकर आज भी लोग खौफ से कांप उठते हैं, तालिबानियों का दौर देख चुके लोगों के रोंगटे खड़े हो जाते हैं, ऐसा लगता है मानो तालिबानियों के काबुल में दाखिल होते ही लोगों के पुराने जख्म हरे हो गए. शायद यही वजह है कि काबुल में तालिबानियों के कब्जे के बाद एयरपोर्ट पर अफरातफरी मची है, हर कोई देश छोड़कर भाग जाना चाहता है. तालिबानियों के राज में रहने से ज्यादा बेहतर लोग अपने मुल्क को छोड़ना पसंद कर रहे हैं. जहां तक हिन्दुस्तान की बात है तो सरकार का कहना है कि जो लोग अफगानिस्तान में फंसे हैं उन्हें लाने की कोशिश में सरकार जुटी है.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

No comments

leave a comment