Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / October 17.
Homeन्यूजलालू यादव के दोनों बेटों के बीच अंदरूनी कलह खत्म, तेजप्रताप यादव ने दिखाई ताकत

लालू यादव के दोनों बेटों के बीच अंदरूनी कलह खत्म, तेजप्रताप यादव ने दिखाई ताकत

The internal quarrel between Lalu Yadav's two sons ended, Tejpratap Yadav showed strength
Share Now

Bihar Politic: लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और हसनपुर से विधायक तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) अपनी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल से खासे नाराज हैं. वह पार्टी में वर्चस्व के लिए अपने भाई तेजस्वी यादव के साथ लड़ाई के मूड में हैं. इस बार तेज प्रताप इतने गुस्से में हैं कि उन्होंने विवाद को सुलझाने में अपनी मां राबड़ी देवी की मदद तक नहीं ली. तेज प्रताप यादव ने लोक नायक जय प्रकाश नारायण की जयंती पर मां का आशीर्वाद लिए बिना जन शक्ति यात्रा निकाली थी, जबकि इससे पहले तेज प्रताप ने कहा था कि वह अपनी मां के आशीर्वाद से सैर शुरू करेंगे.

रविवार को दिल्ली से पटना लौटी राबड़ी देवी अपने आवास पर पहुंची, लेकिन तेज प्रताप का पता नहीं चल पाया. उम्मीद की जा रही थी कि जेपी के जन्मदिन पर चलने से पहले वह घर जाकर राबड़ी देवी का आशीर्वाद लेंगे, हालांकि तेजप्रताप (Tej Pratap Yadav) का कारवां राबड़ी देवी के घर के सामने से गुजरा लेकिन वो वहां मां का आशीर्वाद लेने नहीं गए. तेजप्रताप यादव ने सोमवार को छात्र जनशक्ति परिषद की ओर से गांधी मैदान में जेपी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और फिर कदम कुआं स्थित जय प्रकाश नारायण के घर गए.

इस बात की जानकारी खुद तेज प्रताप यादव ने फेसबुक पर एक वीडियो पोस्ट कर दी. इस बीच, तेज प्रताप ने अधिक से अधिक छात्रों से वॉक में शामिल होने की अपील की. लोक नायक जयप्रकाश नारायण की 119वीं जयंती आज मनाई जा रही है. जेपी को 1970 के दशक में इंदिरा गांधी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व करने के लिए जाना जाता है उन्होंने इंदिरा गांधी को सत्ता से हटाने के लिए एक पूर्ण क्रांति आंदोलन चलाया.

 

जेपीए ने लगाया संपूर्ण क्रांति का नारा

इंदिरा गांधी उस समय देश की प्रधानमंत्री थीं जब जयप्रकाश नारायण ने पूर्ण क्रांति का नारा दिया था. जेपीए ने इंदिरा गांधी सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था. 1975 में, इंदिरा गांधी को निचली अदालत में चुनावी भ्रष्टाचार का दोषी पाया गया था. जयप्रकाश ने उनके इस्तीफे की मांग की. जेपीए ने कहा कि इंदिरा सरकार को पद छोड़ना होगा. आनन-फानन में इंदिरा गांधी ने आपातकाल की घोषणा कर दी.

राजद के लिए तेज प्रताप ने खड़ी की मुश्किलें
लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने छात्र जनशक्ति परिषद नाम से एक नया संगठन बनाया है. हाल ही में तेज प्रताप यादव ने अपने संगठन डीएसएस और एक अन्य संगठन का छात्र जनशक्ति परिषद में विलय किया है. वहीं छात्र जनशक्ति परिषद के सदस्य संजय कुमार ने तारापुर उपचुनाव लड़कर राजद की मुश्किलें और बढ़ा दी हैं. तारापुर से नामांकन पत्र दाखिल करने वाले संजय कुमार ने स्पष्ट किया कि उन्होंने तेजप्रताप यादव से अनुमति लेकर नामांकन पत्र दाखिल किया था.

वहीं, बिहार की दो विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए राजद ने उम्मीदवार उतारे हैं. तेजस्वी ने कुशेश्वरस्थान और तारापुर विधानसभा सीटों के लिए दो उम्मीदवारों को टिकट दिया है. ऐसे में अब तेजप्रताप ने उम्मीदवार उतार कर मुश्किलें खड़ी कर दी हैं.

स्टार प्रचारकों की सूची पर तेज प्रताप की टिप्पणी
तेज प्रताप यादव ने आगे कहा कि उन्होंने जय प्रकाश नारायण की जयंती पर अपने अर्जुन (तेजस्वी यादव) को मीडिया के माध्यम से जुलूस में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया है. तेज प्रताप ने कहा कि वे इस सैर पर आएं, उनका इंतजार किया जाएगा. तेज प्रताप ने कहा कि वॉक में संगठन के क्षेत्र अध्यक्ष समेत सभी लोग मौजूद रहेंगे.

स्टार प्रचारकों की सूची में नाम न होने के सवाल पर तेजप्रताप यादव ने कहा कि यह कोई बड़ी बात नहीं है. हां यह जरूरी है कि इसमें मां रबड़ी देवी और बहन मीसा भारती के नाम हों. उन्होंने कहा कि स्टार प्रचारक सिर्फ एक कागजी प्रक्रिया है.

 

इसे भी पढ़े: आशीष मिश्रा को 3 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा, SIT ने मांगी थी 14 दिन की कस्टडी

No comments

leave a comment