Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Monday / October 18.
Homeन्यूजBJP National Executive: नई कार्यकारिणी से मेनका गांधी और वरुण गांधी ही नहीं ये लोग भी हुए बाहर!

BJP National Executive: नई कार्यकारिणी से मेनका गांधी और वरुण गांधी ही नहीं ये लोग भी हुए बाहर!

BJP National Executive
Share Now

बीजेपी की नई कार्यकारिणी (BJP National Executive) आज घोषित कर दी गई है. जिसमें करीब 80 सदस्य हैं. उनमें मुख्य रूप से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, लालकृष्ण आडवाणी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी समेत कई दिग्गज नेता शामिल हैं. लेकिन इस सूची में वरुण गांधी और मेनका गांधी का नाम नहीं है, जिसे लेकर मीडिया में खूब चर्चा चल रही है. 

जानकारी के मुताबिक मेनका गांधी और वरुण गांधी के अलावा चौधरी बीरेन्द्र सिंह, एसएस अहलुवालिया और सुब्रमण्यम स्वामी को नई कार्यकारिणी परिषद में जगह नहीं मिली है. बता दें कि ये वो नेता हैं जो लगातार सरकार पर सवाल खड़े करते रहते हैं. 

दरअसल बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने राष्ट्रीय कार्यसमिति (BJP National Executive) , राष्ट्रीय कार्यसमिति के लिए विशेष आमंत्रित और स्थायी आमंत्रित (पदेन सदस्य) की नियुक्ति की है. इनमें से राष्ट्रीय कार्यसमिति में 80 सदस्य हैं जबकि राष्ट्रीय कार्यसमिति के लिए 50 विशेष आमंत्रित सदस्य और स्थायी आमंत्रित (पदेन सदस्य) 179 हैं. जिनमें बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री, प्रदेश अध्यक्ष और राष्ट्रीय प्रवक्ता शामिल हैं.

लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर किया ट्वीट 

इस लिस्ट के सामने आने के बाद से ये कहा जा रहा है कि वरुण गांधी (Varun Gandhi) को सूची में जगह इसलिए नहीं दी गई क्योंकि वो लगातार सरकार सवाल खड़े कर रहे थे. वरुण गांधी ने आज ही लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri Violence) की घटना को लेकर एक वीडियो ट्वीट कर करते हुए लिखा है कि वीडियो पूरी तरह क्लियर है. हत्या कर प्रदर्शन करने वालों को चुप नहीं कराया जा सकता. इन्हें न्याय मिलना चाहिए.

लंबे समय से बढ़ रही पार्टी से दूरियां 

इससे पहले भी वरुण गांधी इस घटना को लेकर कई ट्वीट कर चुके हैं, इसके अलावा उन्होंने किसानों के समर्थन में भी बयान दिया था. साथ ही लगातार वह सरकार की नीतियों की आलोचना करते रहे हैं. चर्चा ये भी है कि साल 2013 में कोलकाता में आयोजित एक रैली को वरुण गांधी ने विफल करार दे दिया था तबसे ही पार्टी से उनकी दूरियां बढ़ने लगी थी.

ये भी पढ़ें: गांधीनगर मनपा चुनाव में बीजेपी की शानदार जीत, कांग्रेस-AAP का सूपड़ा साफ!

7 नवंबर को हो सकती है बैठक 

इसके अलावा रोहित वेमुला हत्याकांड और रोहिंग्या शरणार्थियों को लेकर उनके दिए बयान पर भी सवाल खड़े हुए थे. जहां तक कार्यसमिति की बात है तो यह संगठन के कामकाज की रूपरेखा तय करती है और कई मुद्दों पर चर्चा करती है. जेपी नड्डा के अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार 7 नवंबर को बीजेपी कार्यकारिणी की बैठक हो सकती है.

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

IOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment