Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Thursday / December 1.
Homeन्यूजतीसरे विश्व युद्ध पर रूस के विदेश मंत्री ने दिया बड़ा बयान, जानिए कितना घातक हो सकता है ये War

तीसरे विश्व युद्ध पर रूस के विदेश मंत्री ने दिया बड़ा बयान, जानिए कितना घातक हो सकता है ये War

world war
Share Now

रूस और यूक्रेन की लड़ाई(Ukraine-Russia War) को तीसरे विश्व युद्ध(Third World War) के नजरिये से देखने वाले कई लोग हैं, जिनका शुरुआत से ही ये मानना रहा है कि अगर रूस ने यूक्रेन पर हमला किया तो तीसरा विश्व युद्ध छिड़ सकता है. अब अगर-मगर वाली बात बची नहीं, रूस ने यूक्रेन पर सीधा हमला कर दिया और युद्ध के सातवें दिन यानि 2 मार्च को रूसी सेना के टैंक भीषण तबाही मचा रहे हैं.

यूक्रेन के राष्ट्रपति बोले- ये रूसी सेना का नरसंहार

सड़कों पर दौड़ते टैंक को देखकर आम आदमी घबरा उठता है, पूरी रात धमाकों की आवाज से शहर गूंजता रहता है, यूक्रेन के अलग-अलग इलाकों पर लगातार बमबारी जारी है, ऐसा लगता है मानो यूक्रेन एक भीषण नरसंहार के दौर से गुजर रहा हो, ऐसा खुद वहां के राष्ट्रपति ने कहा है. यूक्रेन के कई शहरों पर कब्जे के बाद राजधानी कीव(Kyiv) की तरफ बढ़ रही रूसी सेना हर मोर्चे पर मुस्तैद है.

अब तीसरे विश्व युद्ध की बात

एक तरफ यूक्रेन ने रूस से गोलीबारी रोकने की मांग की है तो वहीं दूसरी तरफ अमेरिका रूस पर लगातार कड़े आर्थिक प्रतिबंध लगाता जा रहा है. अमेरिका यूक्रेन को भी लगातार मदद भेजने की बात कर रहा है, अमेरिका समेत कई मुल्क यूक्रेन के पक्ष में खड़े दिख रहे हैं तो वहीं अब कई देशों से यूक्रेन को मिल रही मदद से बिलबिलाया रूस तीसरे विश्व युद्ध(Third World War) का राग अलाप रहा है.

war

Image Courtesy: Google.com

तीसरा विश्व युद्ध हुआ तो होंगे गंभीर परिणाम  

रूस के विदेश मंत्री ने सर्गेई लावरोव(Russia Foreign Minister Sergey Lavrov) ने कहा है कि रूस किसी भी कीमत पर यूक्रेन को परमाणु हथियार हासिल नहीं करने देगा. उन्होंने आगे कहा कि अगर तीसरा विश्व युद्ध हुआ तो वह काफी विनाशकारी हो सकता है क्योंकि परमाणु युद्ध(Nuclear War) का परिणाम हम सब जानते हैं. द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापान के हिरोशिमा और नागासाकी में अमेरिका की ओर से गिराए गए परमाणु बम का परिणाम ये है कि आज भी वहां बच्चे विकलांग पैदा होते हैं.

ये भी पढ़ें: कहानी उस NATO की जो रूस-यूक्रेन विवाद की वजह बन गया और अब तक सिर्फ ‘निंदा’ ही करता रहा है

परमाणु बलों को किया हाई अलर्ट  

रूसी विदेश मंत्री का ये बयान इसलिए भी अहम हो जाता है क्योंकि बीते दिनों ही रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपने देश के परमाणु बलों को हाई अलर्ट पर रहने के आदेश दिए थे. पुतिन ने परमाणु रोधक बलो (Nuclear Deterrent Forces) को Special Regime Of Combat Duty में रखने का निर्देश दिया. जिसका सीधा मतलब ये है कि अगर युद्ध लंबा चला तो रूस परमाणु हमला भी कर सकता है, जो दोनों देशों के लिए घातक सिद्ध होगा.

No comments

leave a comment