Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / September 25.
HomeUnknown फैक्ट्सजानिए भारत के अनसुने तत्यों के बारे में!

जानिए भारत के अनसुने तत्यों के बारे में!

Unknown facts about India
Share Now

हमने कई बार लोगों को तथ्य और काल्पनिक बातों के बारे में बहस करते सुना होगा. दुनिया में ऐसी कई काल्पनिक बातें है, जिसके तथ्य से लोग अनजान है. आज हम आपके सामने हिंदुस्तान के कुछ ऐसे तथ्य लाएंगे, जिससे जानकर आप हैरान हो जाएंगे। तो आइये  जानते है ऐसे अनोखे तथ्यों के बारे में।

१. क्या आप जानते है कि हिंदुस्तान का सबसे पुराना शहर कौन-सा है? गंगा नदी के 84 घाटों पर स्थित हिंदुस्तान का सबसे पुराना शहर है वाराणसी। ये शहर कम से कम 5000 साल पुराना है। हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान शिव ने 5000 साल पहले इस शहर को बसाया था। बनारस को मंदिरों के शहर के रूप में जाना जाता है, जहां कम से कम 23000 मंदिर है और सबसे लोकप्रिय मंदिर शिव का काशी विश्वनाथ मंदिर है, जो भारत के 12 ज्योतिर्लिंग शिव मंदिरों में से एक है।

Varanasi Ghat

२. कभी अपने पानी पर तेरते पोस्ट ऑफिस के बारे में सुना है? पुरे विश्व में एक ही ऐसा पोस्ट ऑफिस है जो पानी पर तेरता है और वो है श्रीनगर के डल झील में. यह दुनिया का एकमात्र फ्लोटिंग पोस्ट ऑफिस माना जाता है. महज़ 9 साल से स्थापित ये फ्लोटिंग बोट 2011 में जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह ने शुरू किया था.

Post office on water in Kashmir

३. क्या आप जानते है कि भारत में विश्व की सबसे पहली विश्वविद्याल्य स्थापित हुई थी? जी हां विश्व की सबसे पहली विश्वविद्यालय तक्षशिला में 700 BC में स्थापित की गई थी. जहां दुनिया भर के 10 हजार 500 से अधिक छात्रों ने 60 से अधिक विषयों का अध्ययन किया था। 4वीं शताब्दी ईसा पूर्व में निर्मित नालंदा विश्वविद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में प्राचीन भारत की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक है।

First university in the world Nalanda university

४. आज के दौर के ज्यादातर लोग गूगल मैप्स का इस्तेमाल करते है. मगर क्या आप जानते है कि गूगल मैप्स में इस्तेमाल किया गया शब्द नेविगेशन का जन्म हिंदुस्तान में हुआ था.  नेविगेशन एंड नेवीगेटिंग की कला का जन्म 6000 साल पहले सिंध नदी में हुआ था। नेविगेशन शब्द संस्कृत के ‘NAVGATIH’ शब्द से लिया गया है।

५. क्या आपको पता है कि दुनिया की सबसे पुरानी मेडिकल एंड सर्जिकल इनसाइक्लोपीडिया कौन सी है? भारत द्वारा ही रचित है सुश्रुतसंहिता, विश्व की द ओल्डेस्ट मेडिकल एंड सर्जिकल इनसाइक्लोपीडिया मानी जाती है. जिसे 6 वीं शताब्दी ईसा पूर्व के दौरान लिखा गया था. सुश्रुतसंहिता में 186 अध्याय हैं, जिनमें 1120 रोगों,  700 औषधीय पौधों, खनिज-स्रोतों पर आधारित 64 प्रक्रियाओं, जन्तु-स्रोतों पर आधारित 57 प्रक्रियाओं तथा 8 प्रकार की शल्य क्रियाओं का उल्लेख है। इसके लेखक सुश्रुत को मनुष्यों पर चिकित्सा सर्जरी करने वाला पहला मानव भी माना जाता है।

Sushruta Samhita oldest medical encyclopedia

६. आप सभी ने हनुमान चालीसा के बारे में तो सुना ही होगा. ऐसा मन जाता है कि हनुमान चालीसा ‘पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी की सटीक गणना करता है.’ हनुमान चालीसा में एक प्रसंग है, जब हनुमान जी ने सूर्य की लालिमा को देखकर सोचा कि वह कोई मीठा फल है। उसे खाने के लिए आतुर होकर वह धरती से अंतरिक्ष की ओर चले। वहां पहुंचकर उन्होंने सूर्य देव को अपने मुंह में रख लिया था। इसी संबंध में हनुमान चालीसा में लिखा गया है- ‘जुग सहस्त्र योजन पर भानू। लिल्यो ताहि मधुर फल जानू। जिसका अर्थ है…एक युग यानी 12000, सहस्त्र यानी 1000, एक योजन यानी आठ मील। और एक मील में 1.6 किमी होते हैं। यदि इन सभी आंकड़ों का गुणा करें, तो कुल नौ करोड़ 60 लाख मील आते हैं। इसे किमी बनाने के लिए 1.6 का गुणा करने पर एक अरब 53 करोड़ 60 लाख किमी होते हैं। यह उतनी ही दूरी है, जितनी नासा ने अपनी गणना (152 मिलियन किमी) के बाद सूर्य और धरती के बीच की बताई है। यह साबित करता है कि सनातन धर्म में कही गई बातें विज्ञान पर आधारित हैं।

७. क्या आप जानते है कि भारतीय रेलवे में हर दिन यात्रा करने वाले लोगों की संख्या ऑस्ट्रेलिया की जनसंख्या के बराबर है?7,172 से अधिक स्टेशनों को जोड़ते हुए,  भारतीय रेलवे एशिया में सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. जहां 12 हजार 617 ट्रेनों में हर दिन रेल में सफर करने वाले लोगों की संख्या औसतन 2.25 करोड़ है. यानी ऑस्‍ट्रेलिया की जनसंख्या के बराबर लोग हमारे यहां रोजाना रेलगाड़ी में होते हैं.

Indian Railways

८. क्या आपने कभी मैग्नेटिक हिल के बारे में सुना है? भारत के जम्मू-कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र के लेह में एक ऐसी पहाड़ी है, जिसे मैग्नेटिक हिल के नाम से जाना जाता है। सामान्य तौर पर पहाड़ी के फिसलन पर वाहन को गियर में डालकर खड़ा किया जाता है। यदि ऐसा नहीं किया जाए, तो वाहन नीचे की ओर लुढ़ककर खाई में गिर सकता है. वैज्ञानिकों का मानना है कि इस पहाड़ी में चुंबकीय शक्ति है, जो गाड़ियों को करीब 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से खींच लेती है।

Magnetic hill in India

अगर आप भी ऐसे कोई तत्यों के बारे में जानते है तो कमेंट सेक्शन मे ज़रूर बताएं।

No comments

leave a comment