Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Friday / October 15.
Homeन्यूजUP पुलिस की रेड से लेकर कारोबारी की मौत और सियासत तक, अब तक क्या-क्या हुआ, पढ़ें पूरा मामला

UP पुलिस की रेड से लेकर कारोबारी की मौत और सियासत तक, अब तक क्या-क्या हुआ, पढ़ें पूरा मामला

UP Businessman Death Case
Share Now

उत्तर प्रदेश की गोरखपुर पुलिस पर ये आरोप है कि उसने एक कारोबारी को इतना पीटा कि कारोबारी की मौत (UP Businessman Death Case) हो गई. इस मामले में बवाल बढ़ा तो पुलिसकर्मियों के खिलाफ धारा 302 यानि हत्या का मामला दर्ज किया गया है. साथ ही 6 पुलिसकर्मी सस्पेंड किए गए हैं.

इस मामले के बढ़ने के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल (Viral Video) हुआ जिसमें दावा किया गया कि एसपी और डीएम कारोबारी के परिजनों को केस न करने की सलाह दे रहे हैं. अब इस मामले पर सियासत भी शुरू हो गई, खैर पूरा मामला समझते हैं कि आखिर पुलिस ने ऐसी बर्बरता क्यों की.

परिजनों का आरोप, पुलिसकर्मी की पिटाई से गई जान 

जानकारी के मुताबिक कारोबारी मनीष गुप्ता (Manish Gupta) अपने दो दोस्तों के साथ 27 सितंबर को कानपुर से गोरखपुर गए थे. इसी दौरान करीब आधी रात को पुलिस होटल में रेड करने पहुंच गई जहां ये लोग रुके थे. तीन में से दो लोगों ने आईडी दिखाई, जबकि मनीष गुप्ता ने ये पूछ लिया कि क्या हम आतंकवादी हैं, ये कौन सा टाइम है चेकिंग का. कहा जा रहा है कि बस इसी बात पर पुलिस भड़क उठी और इतना मारा कि मनीष की मौत हो गई. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी सिर पर चोट के निशान मिले हैं, वहीं शरीर के अन्य हिस्से पर चोट की बात सामने आई है. 

ये भी पढ़ें: कैप्टन अमरिंदर की बजाय फुटबॉलर अमरिंदर सिंह को टैग करने वाले ये लोग कौन हैं, आखिर कंफ्यूजन क्या है

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल 

मौत के बाद परिजनों ने डेड बॉडी लेने से साफ इनकार कर दिया और मामले की जांच की मांग करने लगे. मनीष की पत्नी मीनाक्षी ने पुलिसवालों पर हत्या के आरोप लगाए हैं. मामला बढ़ा तो कानपुर के डीएम और एसएसपी मनीष के परिजनों से मिलने पहुंचे. उसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें परिजनों को ये समझाने की कोशिश की जा रही है कि मुकदमा सालों साल चलता है, केस करने से पुलिसकर्मियों की करियर खत्म हो जाएगा, इसके अलावा प्रलोभन देने की बात भी सामने आई है.

अखिलेश यादव ने की परिजनों से मुलाकात 

इस वीडियो के वायरल होने के बाद तो बवाल बढ़ गया. कई राजनेताओं ने ट्वीट कर सरकार और पुलिस दोनों पर निशाना साधा. आज उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने पीड़ित परिजनों से जाकर मुलाकात की. उसके बाद ट्वीट कर जानकारी दी कि परिजनों से मिलकर दुख साझा किया, इस हत्याकांड की न्यायिक जांच होनी चाहिए.

Priyanka Gandhi Tweet

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर साधा निशाना 

वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि इस सरकार में जंगलराज का आलम ये है कि पुलिस अपराधियों पर नरम और आम जनता से बर्बर व्यवहार करती है.

मायावती बोलीं- ऐसी घटनाओं से पूरा प्रदेश पीड़ित 

वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर लिखा है कि यह एक शर्मनाक घटना है, ये प्रदेश सरकार के कानून-व्यवस्था के दावों की पोल खोलता है. ऐसी घटनाओं से पूरा प्रदेश पीड़ित है. इस घटना की सीबीआई जांच होनी चाहिए. 

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App 

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt

No comments

leave a comment