Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Sunday / July 3.
Homeकहानियांजब जानवरों को अधर्मियों से मुक्त करवाने के लिए लड़ी थी लड़ाई, जानिए क्या है पूरी कहानी!

जब जानवरों को अधर्मियों से मुक्त करवाने के लिए लड़ी थी लड़ाई, जानिए क्या है पूरी कहानी!

virpanath dada
Share Now

श्री विरपानाथ दादा (Virpanaath dada): विरपानाथ दादा का भव्य मंदिर बनासकांठा जिले के वडगांव तहसील के पसवादल गांव में स्थित है। सभी गांववासी कुलदेवता के समान विरपानाथ दादा की पूजा करते हैं। विरपानाथ दादा के मंदिर परिसर में प्रवेश करते ही भक्त मंत्रमुग्ध हो जाते हैं और शांति की अनुभूति होती है।  

विरपानाथ दादा की कहानी:

विरपानाथ दादा के मंदिर का इतिहास रोचक और रसप्रद है। लगभग 1000 वर्ष पहले इस स्थान पर पुष्पावती नगरी थी। अधर्मियों द्वारा नगरी को लूट लिया गया और सैंकड़ों गायें भी ले गए थे। विरपानाथ दादा ने गायों को अधर्मियों से मुक्त करवाने के लिए लड़ाई लड़ी और गायों को मुक्त करवाया। अधर्मियों से लड़ते हुए शहीद हो गए तभी से विरपानाथ दादा देव के स्वरूप में पूजे जाने लगे।   

virpanath

Virapanath dada

जिस स्थान पर विरपानाथ दादा शहीद हुए उसी स्थान पर गांववासियो ने भव्य और विशाल मंदिर का निर्माण करवाया था। इस पौराणिक मंदिर में विरपानाथ दादा की मनमोहक मुखाकृति वाली मूर्ति स्थापित है। आकर्षित मूर्ति के दर्शन मात्र से ही भक्तों के दुख दूर होते हैं।   

यहां पढ़ें: शनिदेव की वक्र दृष्टि से न देव बच सके हैं न दानव, भगवान भोले पर भी पड़ चुका है शनि का प्रभाव

virpanath dada

श्री विरपानाथ दादा मंदिर (Virapanath Dada) 

भक्तजन 500 से 600 ध्वजा चढ़ाते हैं: (Virpanaath dada)

शुक्लपक्ष की पंचमी के दिन विरपानाथ दादा के दर्शन के लिए भक्तों का तांता नजर आता है। इस दिन मंदिर में नवचंडी हवन किया जाता है और सभी भक्तजन आकर 500 से 600 ध्वजा चढ़ाते हैं। गांव के अलावा अन्य राज्यों के लोग विरपानाथ दादा के दर्शन करने आते हैं। गांव में विराजमान होकर श्री विरपानाथ दादा सभी की रक्षा करते हैं। दादा को श्री फल, सुखड़ी का प्रसाद चढ़ाकर पूजा अर्चना की जाती है। विरपानाथ दादा मंदिर के ट्रस्ट द्वारा अन्नक्षेत्र की व्यवस्था भी करवाई जाती है और ट्रस्ट द्वारा नि:शुल्क सेवा दी जाती है।   

आप भी श्री विरपानाथ दादा के दर्शन के लिए अवश्य आयें।    

देखें यह वीडियो: Neelkanth Mahadev Temple 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

No comments

leave a comment