Ott India News Logo
Recent Posts
Connect with:
Wednesday / May 18.
Homeडिफेंसविजय ज्योति गेटवे ऑफ इंडिया, मुंबई से पश्चिमी नौसेना कमान के पास पहुंची

विजय ज्योति गेटवे ऑफ इंडिया, मुंबई से पश्चिमी नौसेना कमान के पास पहुंची

Swarnim Viajay Varsh
Share Now

मुंबई: (VICTORY FLAME) साल 1971 के युद्ध की विजय की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में पूरे देश में स्वर्णिम विजय वर्ष मनाया जा रहा है। समारोह के दौरान देश भर में अपनी यात्रा के अंतर्गत विजय ज्योति 1 सितंबर, 2021 को गेटवे ऑफ इंडिया, मुंबई पहुंची। इसे 15 पंजाब रेजिमेंट के सैन्यकर्मियों द्वारा कार्यक्रम स्थल पर लाया गया और महाराष्ट्र के माननीय मुख्यमंत्री, श्री उद्धव ठाकरे, सेना के तीनों अंगों के वरिष्ठ अधिकारियों, 1971 के युद्ध के पूर्व सैनिकों और अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में मुख्यमंत्री महोदय ने प्राप्त किया।

विजय ज्योति ने नेवल डॉकयार्ड की यात्रा की

2 सितंबर, 2021 को विजय ज्योति ने नेवल डॉकयार्ड की यात्रा की और वहां एक भव्य समारोह में पश्चिमी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ वाइस एडमिरल आर हरि कुमार (Vice Admiral R Hari Kumar) ने गौरव स्तंभ स्मारक पर उनका स्वागत किया। कमांडर-इन-चीफ ने स्तम्भ पर माल्यार्पण कर युद्ध के दौरान अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीरों को श्रद्धांजलि दी। इस अवसर को मनाने के लिए एक औपचारिक परेड भी आयोजित की गई।

VICTORY FLAME

पश्चिमी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ वाइस एडमिरल आर हरि कुमार ने गौरव स्तंभ स्मारक पर उनका स्वागत किया।

इस समारोह के पूरा होने पर विजय ज्योति को 22वें मिसाइल वेसल स्क्वाड्रन, एक किलर स्क्वाड्रन ले जाया गया, जिसने 1971 के युद्ध में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली नौकाओं से साहस और बहादुरी विरासत में मिली थी। यह किलर स्क्वाड्रन की मिसाइल बोट थी जिसने दिसंबर 1971 में कराची में तबाही मचाई और योग्यतानुसार ‘किलर्स’ की उपाधि प्राप्त की ।

यहां पढ़ें: स्वर्णिम विजय मशाल पहुंची गांधीनगर स्थित दक्षिण-पश्चिम वायु कमान मुख्यालय  

Hit First, Hit Hard:-

हर साल नौसेना दिवस दिनांक 4 दिसंबर को भारतीय नौसेना के इन ‘फर्स्ट स्ट्राइक’ तत्वों के वीरतापूर्ण कृत्यों को मनाने के लिए मनाया जाता है जो ‘Hit First,  Hit Hard’ के विलक्षण उद्देश्य के लिए जाने जाते हैं। इस कार्यक्रम में किलर स्क्वाड्रन के कुछ सम्मानित पूर्व सैनिकों ने भाग लिया, जिन्होंने युद्ध के दौरान ऑपरेशन ट्राइडेंट (Operation Trident) और ऑपरेशन पायथन (Operation Python) में भाग लिया था। 

एक प्रभावशाली समारोह में वाइस एडमिरल आर हरि कुमार ने इन पूर्व सैनिकों को सम्मानित किया। कुछ पूर्व सैनिकों ने कार्यक्रम के दौरान बातचीत की और बहादुरी के अपने शानदार अनुभव साझा किए। कार्यक्रम का समापन महाराष्ट्र नौसेना क्षेत्र (एफओएमए) के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग रियर एडमिरल अतुल आनंद (Adm Atul Anand) के साथ हुआ, जिन्होंने धन्यवाद प्रस्ताव दिया और किलर स्क्वाड्रन की प्रतिबद्धता को दोहराया और कहा कि यह स्क्वाड्रन कठिन परीक्षा के मार्ग में जाने के लिए हमेशा तैयार रहे और जब ऐसा करने के लिए कहा जाए तो दुश्मन में, स्क्वाड्रन को अपने श्रद्धेय पूर्वजों से विरासत में मिली समृद्ध विरासत के अनुरूप, डर का संचार हो। 

देश दुनिया की खबरों को देखते रहें, पढ़ते रहें.. और OTT INDIA App डाउनलोड अवश्य करें.. स्वस्थ रहें..

अधिक रोचक जानकारी के लिए डाउनलोड करें:- OTT INDIA App

Android: http://bit.ly/3ajxBk4

iOS: http://apple.co/2ZeQjTt 

No comments

leave a comment